विदेश

यूक्रेन में पीड़ितों को बचाने के दौरान दो ब्रिटिश नागरिकों की मौत, कार पर गिरा तोप का गोला

नई दिल्ली। युद्धग्रस्त यूक्रेन में दो ब्रिटिश नागरिकों के मारे जाने की खबर है। दोनों ब्रिटिश नागरिक वालंटियर के तौर पर यूक्रेन में थे और लोगों की मदद कर रहे थे। एक बुजुर्ग महिला की जान बचाते हुए दोनों की जान गई। यूक्रेन में मारे गए ब्रिटिश नागरिकों की पहचान 28 वर्षीय क्रिस पैरी और 47 वर्षीय एंड्रयू बागशॉ के रूप में हुई है।

दोनों यूक्रेन के सोलेदार शहर में मारे गए, जब एक बुजुर्ग महिला को सोलेदार से सुरक्षित स्थान पर ले जाते हुए उनकी कार विस्फोट का शिकार हो गई। एंड्रयू बागशॉ एक जेनेटिक रिसर्च साइंटिस्ट थे और स्वैच्छिक रूप से यूक्रेन में रहकर लोगों की मदद कर रहे थे। बागशॉ बीते साल अप्रैल से यूक्रेन में मौजूद थे। बागशॉ का परिवार फिलहाल न्यूजीलैंड में रहता है और उनके शव को न्यूजीलैंड भी भेजा जाएगा।

बागशॉ के परिवार ने एक बयान जारी कर सभी देशों से अपील की है कि यूक्रेन युद्ध को रोका जाए और यूक्रेन को अपनी जमीन पर एक अतिक्रमणकारी से छुटकारा मिल सके। वहीं क्रिस पैरी के परिवार का कहना है कि वह एक सॉफ्टवेयर इंजीनियर थे और दुनिया घूमना चाहते थे। बीते साल मार्च में पैरी यूक्रेन गए थे।

इसके बाद ही रूस ने यूक्रेन पर हमला कर दिया था, जिसके बाद पैरी ने यूक्रेन में ही रहकर स्थानीय लोगों की मदद की और इस दौरान उन्होंने 400 से ज्यादा लोगों और आवारा जानवरों की जान बचाई। बता दें कि रूस, इन दिनों यूक्रेन के सोलेदार शहर पर कब्जे की कोशिश कर रहा है। रूस का खूंखार वैगनर ग्रुप इस काम में रूस की सेना की मदद कर रहा है। वैगनर ग्रुप ने ही मारे गए दोनों ब्रिटिश नागरिकों की तस्वीरें जारी कर बताया था कि दोनों के शव बरामद हुए हैं।

Share:

Next Post

चीन में लाशों को दफनाने के लिए कम पड़ गए ताबूत, अंतिम संस्कार का खर्च दो से तीन गुना बढ़ा

Wed Jan 25 , 2023
बीजिंग। चीन में कोरोना का तांडव लगातार जारी है। यहां की करीब 80 प्रतिशत आबादी संक्रमण की चपेट में आ चुकी है और मृतकों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है। चीन ने भले ही दिसंबर से अब तक कोरोना से होने वाली मौतों की संख्या 60 हजार बताई हो, लेकिन हकीकत यह है कि […]