उत्तर प्रदेश ज़रा हटके

UP: सरकारी हैंडपंप से अचानक निकलने लगा दूध! जानिए क्या है सच्चाई

मुरादाबाद। उत्तर प्रदेश के मुरादाबाद (Moradabad, Uttar Pradesh) से एक अजीब खबर सामने आई है। यहां एक सरकारी हैंडपंप (government hand pump) से दूध निकलने का दावा किया जाने लगा। इसके बाद काफी संख्या में लोग हैंडपंप के पास बर्तन और बोतलें (pots and bottles) लेकर पहुंच गए और उसे दूध समझकर भरने लगे। इसका वीडियो भी सामने आया है जो सोशल मीडिया पर वायरल (Video viral on social media) हो रहा है। बताया जा रहा है कि सरकारी हैंडपंप से सफेद पानी निकल रहा था, जिसे दूध समझकर भरने के लिए हड़कंप मच गया। लोग भगवान शिव का जयकारा लगाने लगे और सफेद पानी को भरकर ले जाने लगे। लोगों का कहना था कि यह भगवान शिव के चमत्कार की वजह से हुआ है।

वहीं कुछ लोगों ने इसे प्रकृति का चमत्कार बताया तो कुछ लोगों ने केमिकल रिएक्शन कहा। यह अफवाह फैलते ही चारों तरफ अफरा-तफरी का माहौल हो गया। जिसे भी नल से दूध निकलने की अफवाह का पता चला वो तुरंत बर्तन लेकर उस तरफ भागने लगा। हर तरफ इसकी चर्चा होने लगी। मामला मुरादाबाद के थाना बिलारी क्षेत्र का है। घटना मलारी बस स्टैंड पर घटी।


वहीं भीड़ जुटने की सूचना मिलते ही पुलिस भी मौके पर पहुंची और लोगों को समझाया। बावजूद इसके घंटों तक नल से सफेद पानी निकलता रहा और लोग उसे भरकर अपने-अपने घर ले जाते रहे। डॉक्टरों ने इस तरह का पानी पीने से मना किया है और कहा है कि इससे आदमी बीमार हो सकता है। खबर लिखे जाने तक इस बात का पता नहीं चल पाया है कि नल से सफेद पानी आने की क्या वजह थी। यह गंदा पानी हो सकता है। नल को सील कर दिया गया है।

बता दें कि अंधविश्वास आज के समय की एक बड़ी समस्या है। लोग बिना किसी प्रमाण के किसी भी बात को मान लेते हैं या खारिज कर देते हैं। बिना सच्चाई जाने अपनी धार्मिक मान्यताओं के हिसाब से चीजों को सही और गलत ठहराने लगते हैं। इस तरह के मामलों में जल्दीबाजी नहीं करनी चाहिए और वैज्ञानिक समझ के आधार पर इसे जानने का प्रयास करना चाहिए। किसी भी अफवाह पर विश्वास नहीं करना चाहिए। मानने से पहले ठीक से जांच परख कर लेनी चाहिए।

Share:

Next Post

चंद्रयान-3 की सफलता से ये इंजीनियर बन गया अरबपति! कई गुना बढ़ी दौलत

Mon Nov 27 , 2023
नई दिल्ली। चंद्रयान-3 की सफल लैंडिंग (Successful landing of Chandrayaan-3) के बाद भारत ने एक ऐसी उपलब्धि हासिल की है, जो दुनिया के किसी भी देश ने नहीं की थी। दरअसल, चंद्रयान-3 ने चांद पर वहां कदम रखा था, जहां दुनिया का कोई भी देश नहीं पहुंच सका। हालांकि, चंद्रयान-3 चंद्रमा के दक्षिणी हिस्से में […]