टेक्‍नोलॉजी

WhatsApp की नई privacy policy में क्‍या होंगे बदलाव, कंपनी ने यूजर्स को बताई ये बातें…


वॉट्सऐप (WhatsApp) एक बार फिर से अपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी (WhatsApp privacy policy) को लेकर चर्चा में हैं। फेसबुक की कंपनी वॉट्सऐप (WhatsApp), अपनी विवादास्पद प्राइवसी पॉलिसी (New privacy policy) को समझा रही है। कंपनी यूज़र्स को ये बताने का एक और प्रयास कर रही है कि यूज़र्स के लिए वास्तव में बहुत कुछ नहीं बदल रहा है। पॉलिसी लागू होने के बाद वॉट्सऐप (WhatsApp) पर यूज़र्स के लिए क्या बदल रहा है और क्या नहीं बदल रहा है, आइए यहां जानते हैं इसके बारे में सबकुछ।

क्या नहीं बदल रहा है:
कंपनी ने स्पष्ट किया है कि उपयोगकर्ताओं के बीच शेयर की गई सभी मीडिया और मीडिया फाइलें एंड-टू-एंड एन्क्रिप्टेड (End-to-end encrypted message) रहेंगी। इसका मतलब है कि न तो WhatsApp और न ही इसकी पेरेंट कंपनी फेसबुक आपके मैसेज को पढ़ पाएगी।

बिज़नेस की बात करे, तो ये ऑप्शनल होगा। मतलब ये आपकी चॉइस है कि आप अपना नंबर किसी ब्रैंड / कंपनी के साथ शेयर करना चाहते हैं या नहीं।

WhatsApp ने जोर दिया है कि कंपनी बिज़नस के साथ यूजर्स के कांटैक्ट को शेयर नहीं करेगी। कंपनी यह भी क्लेम करती है कि पॉलिसी बिज़नस को, यूजर्स के अप्रूवल के बिना, उनसे कांटैक्ट करने से रोकती है।

WhatsApp न्यू पॉलिसी (New privacy policy) को एक्सप्लेन करते हुए कहता है,’ये यूज़र के ऊपर है कि आप अपना नंबर किसी बिज़नेस के साथ शेयर करते हैं या नहीं और आप किसी भी समय किसी बिज़नेस को ब्लॉक कर सकते हैं।’


WhatsApp अपने प्लेटफॉर्म पर थर्ड-पार्टी के बैनर ऐड की अनुमति नहीं देता है। लेकिन अगर कंपनी कभी ऐसा करती हैं, तो इस प्राइवसी पॉलिसी (New privacy policy) को अपडेट किया जाएगा।

कंपनी का कहना है, ‘आपकी एक्सैप्टेन्स न्यू टर्म्स एंड सर्विस (Exemption new terms and service) के लिए, WhatsApp की अपनी पेरेंट कंपनी फेसबुक (Facebook) के साथ यूज़र्स डेटा शेयर करने की एबिलिटी का विस्तार नहीं करती है।’

क्या बदल रहा है:
–आप फोन या ईमेल की तुलना में तेजी से काम करने के लिए WhatsApp पर अधिक बिज़नेस से कॉन्टैक्ट कर पाएंगे।

ये पूरी तरह से ऑप्शनल है, कंपनी का कहना है कि WhatsApp अपनी ओर से किसी भी कंपनी/ब्रैंड के साथ यूज़र्स का नंबर शेयर नहीं करेगा।

अक्सर लोग फेसबुक (Facebook) या इंस्टाग्राम पर बटन को तलाशते हैं, जिसे आप WhatsApp का उपयोग करके उन्हें मैसेज देने के लिए क्लिक कर सकते हैं।

फेसबुक (Facebook) पर अगर आप इन विज्ञापनों पर क्लिक करना चुनते हैं, तो इसका उपयोग आपके द्वारा देखे जाने वाले विज्ञापनों को पर्सनलाइज्ड करने के लिए किया जा सकता है। फेसबुक (Facebook) और WhatsApp एंड-टु-एंड एन्क्रिप्टेड मैसेज (End-to-end encrypted message) को नहीं देख सकते हैं।

यूज़र्स को अपने WhatsApp अकाउंट का उपयोग जारी रखने के लिए नई पॉलिसी (New privacy policy) को एक्सैप्ट करने की आवश्यकता है। अगर यूज़र्स नई डैडलाइन, यानी 15 मई तक न्यू प्राइवसी पॉलिसी (New privacy policy) को एक्सैप्ट नहीं करते हैं, तो वे आगे अपने वॉट्सऐप अकाउंट का उपयोग नहीं कर पाएंगे ।

Share:

Next Post

लेबर कोर्ट होगी खत्म, बनेगा इंडस्ट्रियल ट्रिब्यूनल

Mon Feb 22 , 2021
इंदौर। केन्द्र सरकार द्वारा बीते कुछ समय में श्रम कानूनों में कई बदलाव किए गए हैं। इनमें से कई अव्यावहारिक हैं, जिसके चलते श्रमिकों को ही न्याय नहीं मिल सकेगा। नए कानून में लेबर कोर्ट को खत्म कर इंडस्ट्रियल ट्रिब्यूनल बनाए जाने का प्रस्ताव है। इसके चलते जितने भी प्रकरण लेबर कोर्ट में विचाराधीन हैं, […]