मध्‍यप्रदेश राजनीति

विक्रांत भूरिया ने क्यों दिया युवा कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा, क्या भाजपा में होंगे शामिल? साफ कर दी तस्वीर

भोपाल: मध्य प्रदेश युवा कांग्रेस के अध्यक्ष पद (President of Madhya Pradesh Youth Congress) से डॉ. विक्रांत भूरिया (Vikrant Bhuria) के इस्तीफा देने के बाद सियासी गलियारों में उनके फैसले को लेकर चर्चा का विषय बना हुआ है. इस बीच खुद कांग्रेस नेता विक्रांत भूरिया ने प्रतिक्रिया दी है. उन्होंने अपना रुख साफ करते हुए कहा है कि वो कहीं दूसरी जगह नहीं जा रहे हैं. विक्रांत भूरिया ने तीखा हमला बोलते हुए कहा कि हमलोग लोकतंत्र को बचाने के लिए बीजेपी के खिलाफ जंग लड़ते रहेंगे. कांग्रेस नेता विक्रांत भूरिया ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म X पर कहा, ”प्रदेश और झाबुआ रतलाम अलीराजपुर की जनता के बीच में हमेशा मेरी प्राथमिकता झाबुआ रतलाम अलीराजपुर का परिवार ही रहेगा और BJP के साथी यह न सोचें कि हम कहीं जा रहे हैं.”

कांग्रेस नेता विक्रांत भूरिया ने बीजेपी पर हमला बोलते हुए आगे कहा, ”हम टंट्या मामा के लोग हैं, पहले देश बचाने के लिए अंग्रेजों से लड़े थे अब लोकतंत्र को बचाने के लिए बीजेपी से लड़ते रहेंगे! जय सेवा जय जोहार.”. बता दें कि मध्य प्रदेश युवा कांग्रेस के अध्यक्ष विक्रांत भूरिया ने अपने पद से इस्तीफा दे दिया है. इस इस्तीफे की वजह उन्होंने पारिवारिक जिम्मेदारी और पिता के लोकसभा चुनाव लड़ने को बताया है.


कांग्रेस के युवा नेता विक्रांत भूरिया ने युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष श्रीनिवास बीवी को लिखे पत्र में कहा है कि उनके पिता कांतिलाल भूरिया रतलाम झाबुआ लोकसभा सीट से कांग्रेस के उम्मीदवार के तौर पर चुनाव मैदान में हैं. इस वजह से वो संगठन के लिए ज्यादा वक्त नहीं दे पा रहे हैं. लिहाजा वे अपना पद छोड़ना चाहते हैं. वहीं, डॉ विक्रांत भूरिया ने युवा कांग्रेस के कार्यकर्ताओं के लिए एक संदेश भी भेजा है. इसमें उन्होंने लिखा है, पिछले कई दिनों से मैं इस बात पर मंथन कर रहा हूं कि लोकसभा चुनाव के दौरान मेरे पिता का भी चुनाव होने के कारण मैं मध्य प्रदेश युवा कांग्रेस संगठन में समय नहीं दे पा रहा हूं. ऐसे में मेरा व्यक्तिगत मानना है कि यह संगठन और संगठन के साथियों के साथ न्याय नहीं होगा.

Share:

Next Post

रामदेव और बालकृष्ण ने पेशी से 1 द‍िन पहले सुप्रीम कोर्ट से कही बड़ी बात, जानिए क्या बोले

Tue Apr 9 , 2024
नई द‍िल्‍ली: एलोपैथी के खिलाफ भ्रामक विज्ञापन मामले (Misleading advertisement case against allopathy) की सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में सुनवाई से एक द‍िन पहले योगगुरु बाबा रामदेव और आचार्य बालकृष्ण (Baba Ramdev and Acharya Balkrishna) ने हलफनामा दाख‍िल क‍िया है. सुप्रीम कोर्ट में बुधवार को मामले की सुनवाई होनी है और उससे पहले रामदेव और […]