इंदौर

मध्यप्रदेश के जिलों को जारी हुआ 104 करोड़ का कोविड फंड

 


चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग से अग्निबाण की चर्चा… ऑक्सीजन-इंजेक्शन की आपूर्ति एक-दो दिन में सामान्य
इंदौर। कोरोना संक्रमण ( Corona Infection) इंदौर-भोपाल सहित अन्य जिलों में तेजी से फैल रहा है, जिसके चलते मुख्यमंत्री द्वारा रोजाना समीक्षा की जा रही है। प्रदेश के चिकित्सा-शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग (Vishwas Sarang) से अग्निबाण प्रतिनिधि ने चर्चा की, जिसमें कोरोना संक्रमण से निपटने में राज्य शासन की क्या तैयारी है उसकी जानकारी ली गई। श्री सारंग ने बताया कि अभी तात्कालिक रूप से 104 करोड़ रुपए का कोरोना फंड जिलों को जारी किया गया है। इंदौर को भी 2 करोड़ रुपए की राशि इस फंड से दी गई है। इंजेक्शन-ऑक्सीजन की सप्लाय एक-दो दिन में सामान्य हो जाएगी।

इंदौर में रोजाना एक हजार तक घोषित मरीजों की संख्या पहुंच गई है और अस्पतालों में अतिरिक्त बेड (Beds) की व्यवस्था भी लगातार की जा रही है। सभी जिलों में कोविड केयर सेंटर (Covid Care Center) भी शुरू किए जा रहे हैं। इंदौर में जगत्गुरु दत्तात्रय चिकित्सालय को कोविड केयर सेंटर बनाया गया है। धार रोड, ग्राम सिंहासा में स्थित इस सेंटर पर कम लक्षण वाले उन कोरोना मरीजों का इलाज होगा, जिनके घर पर अलग से कमरे या अन्य दैनिक कार्यों के लिए सुविधाएं उपलब्ध नहीं हैं। कलेक्टर ने कोविड केयर सेंटर (Covid Care Center) को निर्धारित गाइडलाइन के मुताबिक चिकित्सकों आदि की ड्यूटी भी लगा दी है। दूसरी तरफ लाबरिया भेरू स्थित बापना हास्पिटल और राऊ के कैंसर हास्पिटल को भी जरूरत पडऩे पर कोरोना मरीजों के लिए अलग से वार्ड स्थापित कर इस्तेमाल किया जा सकता है। एमवाय अस्पताल (MY Hospital) में भी कोरोना मरीजों के इलाज का निर्णय लिया गया है, जहां पर 200 से 300 बेड आरक्षित किए जा रहे हैं। आज से चाचा नेहरू बाल चिकित्सालय में भी उन कोरोना मरीजों का इलाज शुरू किया जा रहा है, जिन्हें ऑक्सीजन बेड की आवश्यकता नहीं है। इंडेक्स हास्पिटल में भी 800 बेड और कल तक अरविन्दो अस्पताल में भी 150 नए बेड उपलब्ध हो जाएंगे। एमजीएम मेडिकल कालेज के अधीन सभी अस्पतालों में ट्रायल रूम भी बनाए गए हैं। वहीं प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग (Vishwas Sarang) का कहना है कि कोरोना महामारी की चुनौतियों का सामना करने के लिए उनकी सरकार पूरी तरह से कटिबद्ध होकर काम कर रही है और हर जिलों में कोविड केयर सेंटर शुरू हो रहे हैं। कोरोना संकट से निपटने के लिये जिलों को 104 करोड़ रुपये आवंटित किये गये हैं। इस राशि से जिला कलेक्टर तात्कालिक रूप से कोरोना संकट से निपटने के लिये जरूरी व्यवस्थाएँ सुनिश्चित करेंगे। इंदौर जिले को भी दो करोड़ रुपए की राशि मिली है। वहीं श्री सारंग के मुताबिक प्रदेश में कोरोना की स्थिति और उपचार सहित अन्य व्यवस्थाओं के संबंध में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान (Chief Minister Shivraj Singh Chauhan)  प्रतिदिन समीक्षा कर रहे हैं।

Share:

Next Post

Virender Sehwag ने SRH की हार का जिम्मेदार Manish Pandey को बताया, कही ये बड़ी बात

Mon Apr 12 , 2021
नई दिल्ली। पूर्व भारतीय ओपनर वीरेंद्र सहवाग (Virender Sehwag) ने कोलकाता नाइट राइडर्स (KKR) के खिलाफ मैच में धीमी बल्लेबाजी करने को लेकर मनीष पांडे (Manish Pandey) पर सवाल खड़े किए हैं। सहवाग ने कहा कि अगर वो आखिरी के कुछ ओवरों में आक्रामक बल्लेबाजी करते तो सनराइजर्स हैदराबाद की हार नहीं होती। सहवाग ने […]