इंदौर

200 गिरफ्तार, 6 घंटे बिताना पड़े अस्थायी जेल में

बिना मास्क लगाने वालों की धरपकड़ तेज… निगम ने भी 2 लाख से अधिक का जुर्माना ठोका
इंदौर। दो दिन पहले कलेक्टर मनीष सिंह (Collector Manish Singh) ने कोविड गाइडलाइन (covid Guideline) का पालन ना करने वालों की गिरफ्तारी (Arrest) के आदेश भी दिए। खासकर मास्क  (Mask) ना लगाकर घुमने वालों को 6 घंटे की अस्थायी जेल में भेजने के निर्देश भी दिए, जिसके चलते सभी थाना क्षेत्रों में ऐसे लोगों की धरपकड़ की गई और लगभग 200 लोगों को गिरफ्तार कर गुजराती भवन स्थित अस्थायी जेल (Temporary Jail) में 6 घंटे के लिए रखा गया, फिर इस शर्त पर छोड़ा गया कि वे भविष्य में अब बिना मास्क घर से बाहर नहीं निकलेंगे। वहीं नगर निगम ने भी कल 1274 लोगों से 2 लाख से अधिक जुर्माना वसूल लिया।

कोरोना संक्रमण (Corona Transition) बढऩे के साथ ही पुलिस प्रशासन, निगम द्वारा फिर से सख्ती शुरू की गई है। रोको-टोको अभियान के साथ मास्क ना लगाने वालों से जुर्माना तो वसूल ही किया जा रहा है, वहीं उन्हें 6 घंटे की अस्थायी जेल में भी भेज रहे हैं। लगभग 200 लोगों को अभी तक अस्थायी जेल की हवा खिलाई गई है। कलेक्टर मनीष सिंह ने जो प्रतिबंधात्मक आदेश जारी किए उसमें मास्क ना लगाने वालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई के निर्देश भी पुलिस जवानों को दिए गए। कल रंग पंचमी पर भी बड़ी संख्या में बिना मास्क लगाए घूम रहे लोगों को पुलिस ने पकड़ा और इस अभियान में अपर कलेक्टर पवन जैन से लेकर अपने-अपने क्षेत्रों में एसडीएम-सीएसपी भी सक्रिय रहे। धारा 151 में इन लोगों को निरुद्ध किया गया और स्नेहलतागंज (Snehalatganj) स्थित गुजराती भवन (Gujarati Bhawan), जिसे अस्थायी जेल घोषित किया है, वहां 6 घंटे के लिए भेजा गया और फिर इस शर्त पर छोड़ा कि वे कोविड प्रोटोकॉल का कढाई से पालन करेंगे। इधर नगर निगम भी स्पॉट फाइन (Spot Fine) की कार्रवाई में लगातार जुटा है। हालांकि उसके कई कर्मचारियों द्वारा आमजनता-कारोबारियों के साथ दुव्र्यवहार करने के वीडियो-समाचार भी सामने आए हैं।

Next Post

कॉलेजी परीक्षा मई और जून में होगी

Sat Apr 3 , 2021
परीक्षार्थी ओपन बुक पद्धति से हल कर सकेंगे पेपर इंदौर। प्रदेश में स्नातक और स्नातकोत्तर परीक्षा मई-जून में होंगी और जुलाई में रिजल्ट घोषित किया जाएगा। उच्च शिक्षा विभाग ने बुधवार को यह आदेश जारी कर दिए। परीक्षा कार्यक्रम विश्वविद्यालय अलग से अपने स्तर पर जारी करेंगे। नई व्यवस्था में स्नातक प्रथम-द्वितीय वर्ष और स्नातकोत्तर […]