इंदौर न्यूज़ (Indore News) मध्‍यप्रदेश

कमरा भरकर सट्टा पर्ची 40 मोबाइल, 16 धराए, डीआईजी रेंज ने सागौर थाने में करवाई रेड


– कई राज्यों के सटोरिए पकड़ाए, पूछताछ जारी

इंदौर। पीथमपुर (Pithampur) और सागौर कुटी (Sagour Kutee) बॉर्डर पर पुलिस (police) ने एक मकान पर छापा मारकर सट्टे (betting) का कंट्रोल रूम पकड़ा। यहां से कमरा भरकर सट्टा (betting) पर्ची, 40 मोबाइल (mobile) और 16 सटोरिए पकड़े गए। प्रमुख सटोरिया महू का है तो कई राज्यों के सटोरिए भी पकड़े गए।


ग्रमीण डीआईजी निमिष अग्रवाल को सूचना मिली थी कि सागौर थाना क्षेत्र में एक बड़ा सट्टे का सेंटर चल रहा है। इस पर उन्होंने यहां रेड करवाई। यहां पीथमपुर और सगौर कुटी की बॉर्डर पर एक मकान में यह अड्डा चल रहा था। प्रमुख सटोरिया दिनेश अग्रवाल महू का रहने वाला है। इसके अलावा यहां से 15 और सटोरिए पकड़े गए। इनमें वाशिम, नागपुर (महाराष्ट्र), खरगोन, खंडवा सहित कई राज्यों के सटोरिए हैं। डीआईजी ने बताया कि ये लोग इंदौर और आसपास से सट्टे का कलेक्शन कर मुंबई में उतारा करते हैं। मुंबई के प्रमुख सटोरिए की भी जानकारी निकाली जा रही है। पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि ये लोग दो माह से यहां सट्टा संचालित कर रहे थे। इसके लिए किराए का मकान लिया था। ये तीन-तीन माह में जगह बदल लेते हैं। बताते हैं कि पुलिस ने जब यहां रेड की तो एक कमरा सट्टा पर्ची से भरा हुआ था। यह देखकर पुलिस दंग रह गई। पुलिस ने इनके पास से 40 मोबाइल और लैपटॉप जब्त किए। डीआईजी का कहना है कि लाखों का कलेक्शन बैंक खातों से होता था। बैंक खातों की जानकारी निकाली जा रही है।

Share:

Next Post

भगोड़े निगम इंजीनियर के ठिकानों पर पुलिस ने मारे छापे, खाते भी कर डाले सील, दो और फर्जी फर्मों के जरिए 8 करोड़ की नई लूट उजागर

Thu May 2 , 2024
ऑडिट विभाग से ही हुआ महाघोटाले का खेला, पहले छोटी फाइलों से असल कामों की करवाई मंजूरी, फिर बड़ी बोगस फाइलों के जरिए पहनाई करोड़ों की टोपी इंदौर। नगर निगम (corporation) ने 188 फाइलों की विभागीय जांच भी लगभग पूरी कर ली है, जो आज-कल में सामने आ जाएगी। मुख्य रूप से ऑडिट विभाग (Audit […]