देश

बंगाल के अस्पताल ने जारी किया मृत्यु प्रमाण पत्र, बेड पर जिंदा मिला कोरोना मरीज

कोलकाता। कोरोना के इस समय में अस्पतालों की लापरवाही के काफी मामले सामने आए है। ऐसा ही एक अजीब मामला पश्चिम बंगाल का है। यहां के नदिया जिले स्थित  नेताजी सुभाष सेनेटोरियम कोविड अस्पताल ने शनिवार को एक कोरोना मरीज को मृत्यु प्रमाण पत्र जारी कर दिय। लेकिन जैसे ही श्मशान के कर्मचारी अंतिम संस्कार करने लिए शव अस्पताल को लेने पहुंचे तो वह अपने बिस्तर पर बैठा था।

उनके परिवारजनों ने बताया कि व्यक्ति पहले बुखार और सीने में दर्द के साथ राणाघाट उपमंडल अस्पताल में भर्ती कराया गया था। उन्होंने बताया कि कोरोना पॉजिटिव पाए जाने के बाद उसके तबियत बिगड़ने लगी। फिर 12 मई को कल्याणी के अस्पताल में रेफर कर दिया गया था। तब से वहीं उनका इलाज चल रहा है।


आगे परिवार ने बताया कि शुक्रवार को अस्पताल के अधिकारियों ने जानकारी दी कि कोरोना मरीज की मृत्यु हो गई है। अस्पताल से इससे जुड़ा एक मैसेज भी किया था। शनिवार को उनके परिवार को मृत्यु प्रमाण पत्र भी दिया गया। परिवार ने बताया कि जब श्मशान के कर्मचारी उसका शव लेने अस्पताल के वार्ड में पहुंचे, तो उन्होंने उसे बिस्तर पर बैठा पाया। उनेक पिता का मृत्यु प्रमाण पत्र भी जारी कर दिया जबकि वो जीवित थे।

साथ ही बताया कि अस्पताल प्रशासन ने घटना के बाद मरीज को अस्पताल से बाहर भेज दिया है। इस बारे में जिले के एक वरिष्ठ अधिकारी से पूछा तो उन्होंने इस मामले पर टिप्पणी करने से इनकार कर दिया और कहा कि संबंधित चिकित्सा अधिकारी से जानकारी लेने के बाद सक्षम होंगे। साथ ही कहा कि मुझे इस मुद्दे के बारे में कोई लिखित शिकायत नहीं मिली है।

Share:

Next Post

MP में सात दिन में मिला 3938 कोरोना मरीजों को आयुष्मान भारत योजना का लाभ 

Sun May 16 , 2021
भोपाल। मध्‍य प्रदेश में पिछले सात दिन में 3 हजार 938 कोरोना मरीजों को आयुष्मान भारत योजना (Ayushman Bharat Scheme) का लाभ प्राप्त हुआ है जबकि विगत एक साल में इस योजना से 5,100 मरीज लाभान्वित हुए थे। मुख्यमंत्री कोविड उपचार योजना (Chief Minister Covid Treatment Scheme) त्वरित लागू किया गया है, जिसका लाभ मरीजों […]