देश

बेटी ने किया ऐसा काम, आहत पिता ने जीते जी मुंडन कराकर दी तिलांजलि

 

कोरबा।  कोरबा (Korba) में एक पिता द्वारा अपनी बेटी को जीते जी मुंडन कराकर तिलांजलि देने का मामला सामने आया है. दरअसल बारात आने से कुछ घंटे पहले ही दुल्हन बनी उसकी बेटी अपने प्रेमी (Lover) के साथ भाग गयी थी. इस बात से आहत पिता ने खुद का मुंडन कराने के साथ अपनी बेटी को त्यागने का फैसला सुना दिया. 

जानकारी के अनुसार कोतवाली के समीप अग्रसेन भवन में शुक्रवार को वैवाहिक कार्यक्रम चल रहा था. हल्दी और मेहंदी की रस्म पूरी हो चुकी थी. शनिवार को बारात पहुंचनी थी. इससे पहले ही दुल्हन अग्रसेन भवन से लापता हो गई. परिजन को जब वह नहीं दिखी तो उन्होंने खोजबीन की, तब दुल्हन का मोहल्ले के ही एक युवक के साथ प्रेम संबंध होने का पता चला. दुल्हन के पिता ने पुलिस के पास पहुंच गुमशुदगी की सूचना दी, साथ ही युवक पर संदेह जताया. पुलिस महिला कर्मचारियों के साथ युवक के घर पहुंची तो वहां युवती मौजूद थी. 

वन स्टॉप सेंटर पर रखा
महिला पुलिस (Police) द्वारा युवती को रातभर सखी वन स्टॉप सेंटर में रखा गया. शनिवार को उसे कोरबा एसडीएम सुनील नायक के सामने पेश किया गया. जहां बयान में युवती ने आगे भी प्रेमी के साथ ही रहने की बात कहीं बालिग दुल्हन (Bride) की इच्छानुसार उसे प्रेमी (Lover) के रिश्तेदारों को बुलाकर सौंप दिया गया. 

मुंडन करवा लिया
वहीं बेटी की धूमधाम शादी रचाने का सपना संजोए पिता ने जब बेटी द्वारा प्रेमी के साथ रहने का फैसला सुना, तब आहत होकर उसने अपना मुंडन कराकर बेटी की तिलांजलि दे दी और आगे उससे कोई संबंध नहीं रखने की घोषणा कर डाली. युवती के पिता के मुताबिक उसने बेटी की शादी के लिए सब तैयारी कर ली थी. यहां तक की खर्च के लिए उसने जमीन जायदाद बेचकर पैसा लगाया था. बेटी ने शादी का रिश्ता आने पर मंजूर भी किया था, लेकिन एन वक्त पर उसने नासमझी में गलत कदम उठा लिया. इससे पूरे परिवार का सपना टूट गया और उन्हें समाज में बदनामी भी उठानी पड़ी है.

Share:

Next Post

Ujjain- महाकालेश्वर मंदिर के पास खुदाई में निकला परमारकालीन शिव मंदिर

Mon Jun 28 , 2021
उज्जैन। महाकालेश्वर मंदिर (Mahakaleshwar Temple) के विकास कार्यों के तहत चल रही खुदाई के बीच मंदिर के समीप से एक शिव मंदिर निकला है। इस मंदिर में गर्भगृह अलग से है और प्रवेश द्वार तीन तरफ से है। मंदिर के पिलर पर अप्सराओं की प्रतिमाएं हैं, वहीं नंदी की खण्डित प्रतिमा भी बाहर निकलकर आई […]