इंदौर न्यूज़ (Indore News)

टेंट हाउस संचालक की लाश मिली, मिर्जापुर फाटे पर वारदात… हिंदू संगठन आज देंगे धरना

इंदौर। देपालपुर क्षेत्र में एक टेंट हाउस संचालक युवक की लाश मिली। उसकी हत्या की शंका जताई जा रही है। आरोप है कि एक कसाई ने उसकी हत्या की है। पुलिस मामले की जांच में लगी है। देपालपुर पुलिस ने बताया कि मृत युवक का नाम गौतम पिता मधु सोलकी (18) निवासी ग्राम अहीरखेड़ी आगरा के पास है। बताया जा रहा है कि वह बाइक से मिर्जापुर फाटा गया था। इसके बाद घर वालों को उसके घायल मिलने की सूचना मिली।

गौतम को इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया, जहां उसकी मौत हो गई। गौतम के रिश्तेदारों का आरोप है कि मिर्जापुर फाटे पर हातोद के पास रहने वाले चिकन दुकान संचालक से उसका विवाद हुआ और उसने धारदार हथियार से उस पर वार कर दिया। गौतम की शादी नहीं हुई थी। वह माता-पिता का इकलौता बेटा था। पुलिस ने एक संदिग्ध को हिरासत में लिया है। उधर, घटना को लेकर हिंदू संगठनों ने आज आगरा में प्रदर्शन करने और धरना देने की बात कही है।


युवती की संदिग्ध मौत, जो अस्पताल लेकर आया, उसका पता नहीं चला
एक युवती की संदिग्ध मौत हो गई। हालांकि उसे जो अस्पताल लेकर आया था वह लापता हो गया। खजराना पुलिस ने बताया कि 35 साल की रेखा नामक युवती का एमवाय अस्पताल में पोस्टमार्टम हो रहा है। रेखा की मौत कैसे हुई यह पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही साफ होगा। रेखा को कोई भूरा नामक शख्स अस्पताल लेकर आया था। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

रिश्तेदारों से परेशान था अधेड़ फांसी लगाकर दी जान
इंदौर। एक शख्स ने फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। चंदन नगर पुलिस ने बताया कि 45 साल के मेहरबान पिता जगदीश को फांसी के फंदे से उतारकर एमवाय अस्पताल लाया गया। परिजन ने बताया कि उसकी रिश्तेदार युवती ने प्रेम विवाह कर लिया था, जिसे लेकर मेहरबान का उनसे विवाद हुआ और वो मेहरबान को धमकाने लगे। संभवत: इसी से आहत होकर उसने यह कदम उठा लिया। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

Share:

Next Post

अब उज्जैन सहित मध्यप्रदेश वन विभाग में निजी कम्पनियाँ भी काम करेंगी

Mon Apr 29 , 2024
अब वन विभाग में भी गुजरात मॉडल , वन विभाग से पौधों के प्लांटेशन का काम छीना उज्जैन। आखिरकार अब मध्यप्रदेश के वन विभाग में भी गुजरात मॉडल लागू करने की शुरुआत होने जा रही है । गुजरात मॉडल सिस्टम के अनुसार मध्यप्रदेश में पौधारोपण से लेकर विभागीय निर्माण कार्य अब निजी एजेंसी मतलब प्राइवेट […]