बड़ी खबर

फीफा वर्ल्ड कप: अर्जेंटीना ने फ्रांस को हराकर जीता फाइनल मुकाबला

नई दिल्ली: लियोनल मेसी (Lionel Messi) की कप्तानी में अर्जेंटीना ने 1986 से चले आ रहे फीफा विश्व कप (fifa world cup) जीत के सूखे को खत्म कर दिया. अर्जेंटीना ने रविवार को कतर के लुसैल स्टेडियम (Lusail Stadium) में खेले गए फीफा विश्व कप-2022 के फाइनल मैच में फ्रांस को पेनल्टी शूट आउट में हरा दिया. इसी के साथ मेसी ने अपने इंटरनेशनल फुटबॉल करियर का अंत विश्व कप जीत के साथ किया है. मेसी ने पहले ही कह दिया था कि फाइनल मैच उनके इंटरनेशनल करियर का आखिरी मैच होगा. मेसी की कैबीनेट में विश्व कप की ट्रॉफी ही नहीं थी जिसकी कमी उन्होंने पूरी कर दी है.

वहीं रूस में खेले गए पिछले विश्व कप में खिताब जीतने वाली फ्रांस की टीम अपना खिताब नहीं बचा पाई. अगर ये टीम ऐसा कर पाती तो इटली, ब्राजील के बाद लगातार दो खिताब जीतने वाली टीम बन जाती.इटली ने 1934 और 1938 में खिताब जीता था. वहीं ब्राजील ने 1958 और 1962 में लगातार दो बार विश्व कप जीता था. अर्जेंटीना ने पहले हाफ में दो गोल कर दिए थे. इसके बाद किलियन एम्बाप्पे ने दूसरे हाफ में महज 97 सेकेंड्स में दो गोल कर फ्रांस को वापस ला दिया, लेकिन मेसी ने एक्स्ट्रा टाइम में गोल कर अर्जेंटीना को मैच में वापस ला दिया. फिर एम्बाप्पे ने पेनल्टी को गोल में बदल फ्रांस की बराबरी करा दी.

पहली पेनल्टी फ्रांस के किलियन एम्बाप्पे ने ली जो सफल रहे. फिर अर्जेंटीना के मेसी ने ली और भी सफल रहे. इसके बाद अर्जेंटीना के गोलकीपर मार्टिनेज ने कोमैन की किक को सेव कर लिया. अर्जेंटीना के लिए डिबाला ने गोल कर दिया. मार्टिनेज ने फिर फ्रांस के चुआमेनी की किक बचा ली. इसके बाद अर्जेेंटीना के पेरेडेस ने गोल किया. फ्रांस के लिए कोलो मुआनी ने गोल किया. यहां फ्रांस को अपनी उम्मीदों को जिंदा रखने के लिए जरूरी था कि अर्जेंटीना के खिलाड़ी चूके लेकिन मॉन्टियल ने अर्जेंटीना के लिए गोल कर उसे जीत दिलाई.


मेसी को अपने पहले विश्व कप की तलाश थी. उनकी टीम शुरू से हावी दिख रही थी. फ्रांस ने हालांकि इस मैच का पहला अटैक किया था जो असफल रहा था. ये अटैक 12वें मिनट में आया था. इसके चार मिनट बाद मेसी के पास एक मौका आया था लेकिन मेसी गेंद तक पहुंच नहीं पाए थे. दो मिनट बाद फ्रांस के जीरू ने एक कोशिश की. यहां फ्रांस को फ्री किक मिली जो एंटोनियो ग्रीजमैन ने ली. ग्रीजमैन की किक सीधी गोलपोस्ट के सामने थी लेकिन अर्जेंटीना के डिफेंस ने शानदार काम किया और फ्रांस से ये मौका छीन लिया.

23वें मिनट में अर्जेंटीना को पेनल्टी मिली. मेसी के पास अपनी टीम के लिए गोल करने का इससे अच्छा मौका नहीं हो सकता था. उन्होंने इस मौके को भुनाया और गेंद को नेट में डाल गोल कर दिया. अर्जेंटीना को पेनल्टी इसलिए मिली थी क्योंकि डेम्बेली ने डिमारिया को बॉक्स के अंदर गिरा दिया था. यहां अर्जेंटीना 1-0 से आगे हो गई थी.

अर्जेंटीना यहीं नहीं रुकी. 36वें मिनट में डिमारिया ने उसके लिए दूसरा गोल कर दिया था. मेसी के पास गेंद आई जिन्होंने उसे मैक एलिस्टर को पास कर दिया. इस खिलाड़ी ने गेंद को बाएं छोर से डिमारिया को दिया और गेंद को गोलपोस्ट के अंदर डाल अपनी टीम को 2-0 से आगे कर दिया. फ्रांस लाख कोशिश के बाद भी पहले हाफ में एक भी गोल नहीं कर पाई. उसके स्टार किलियन एम्बाप्पे और जीरू इस हाफ में कुछ खास कमाल नहीं दिखा सके और अर्जेंटीना की टीम ने पहले हाफ का अंत 2-0 के स्कोर के साथ किया.


फ्रांस की टीम अभी तक उस तरह का खेल नहीं दिखा पाई थी जिसकी उससे उम्मीद थी. दूसरे हाफ में लग रहा था कि फ्रांस सुधार करेगी. लेकिन उसकी तरफ से अटैक काफी कम हुआ. यहां तक भी इस टीम ने मौके भी कम बनाए. इसके लिए अर्जेंटीना की डिफेंस लाइन को भी श्रेय देना होगा. फ्रांस दूसरे हाफ में काफी कोशिश करने के बाद भी मौके नहीं बना पा रही थी. इस बीच फ्रांस की टीम ने बदलाव किए. 73वें मिनट में ग्रीजमैन के स्थान पर कोमैन अंदर आए.

इस बीच एम्बाप्पे ने 71वें मिनट में पहली बार गोलपोस्ट पर निशाना साधा. वह हालांकि अपना शॉट टारगेट पर नहीं रख सके. 79वें मिनट में अर्जेंटीना के ऑटोमेंटी ने एक गलती कर दी और फ्रांस के खिलाड़ी को बॉक्स के अंदर गिरा दिया. एम्बाप्पे ने पेनल्टी ली और उसे गोल में बदल फ्रांस की उम्मीदों को जिंदा कर दिया. यहां से फ्रांस की टीम में आत्मविश्वास आ गया था और इसका असर अगले कुछ मिनटों में ही दिख गया. 81वें मिनट में एम्बाप्पे ने बेहतरीन गोल कर अपनी टीम को बराबरी पर ला दिया.

कोमैन ने हाफ लाइन से गेंद ली जो एम्बाप्पे के पास आई. इस खिलाड़ी ने गेंद को थुर्म को पास दिया जिन्होंने एम्बाप्पे को लौटा दिया और इस खिलाड़ी ने एक टच में शानदार किक मार गेंद को नेट में डाल फ्रांस के लिए बराबरी का गोल कर दिया. इसके बाद तय समय में मैच बराबरी पर खत्म हुआ.

तय समय में गोल नहीं होने के बाद मैच एक्स्ट्रा टाइम में गया और और मेसी ने 108वें मिनट में गोल कर अर्जेंटीना को आगे कर दिया, मार्टिनेज ने गेंद मारी जो गोलकीपर से टकरा गई. वहीं खड़े मेसी ने गेंद को तुरंत नेट में डाल अपनी टीम को आगे कर दिया और उनका ये गोल मैच विजयी गोल साबित हुआ.

Share:

Next Post

समग्र स्वास्थ्य की देखभाल जरूरी

Mon Dec 19 , 2022
– गिरीश्वर मिश्र स्वस्थ रहते हुए ही मनुष्य निजी और सार्वजनिक हर तरह के कार्य कर पाता है यह सबको मालूम है। परंतु इसका महत्व तभी समझ में आता है जब जीवन में व्यवधान का सामना करना पड़ता है। तब हम स्वास्थ्य को लेकर सचेत हो जाते हैं। कोविड महामारी के दौर में यह बात […]