इंदौर

कल से पेरेंट्स की फिर परेशानी, बसें चुनाव की ड्यूटी में तो पालक स्कूलों की

इंदौर। कल से शहर के ज्यादातर पालकों को एक बार फिर अगले कुछ दिन परेशानी का सामना करना पड़ेगा। चुनाव में बसों के अधिग्रहण के चलते कल से ज्यादातर स्कूलों की बसों का संचालन बंद रहेगा। इसके चलते स्कूलों ने पेरेंट्स को सूचना जारी कर दी है कि वे 4 से 7 जुलाई के बीच बच्चों के आने-जाने की व्यवस्था खुद संभालें। बसें चुनाव ड्यूटी में लगते ही पेरेंट्स को स्कूल की ड्यूटी पर लगाया गया है। दूसरी ओर आज से ही लोक परिवहन से चार पहिया और रूट्स की बसें भी ली जाने के कारण आम यात्रियों को भी परेशानी का सामना करना पड़ेगा।

चुनाव कार्य के लिए जिला प्रशासन के आदेश पर परिवहन विभाग द्वारा आज से 180 चार पहिया वाहनों का अधिग्रहण किया जाएगा। इनमें ज्यादातर टाटा मैजिक जैसे वाहन हैं, जो शहरी लोक परिवहन में चलते हैं, यानी आज से ही शहर में सफर करने वालों को परेशानी का सामना करना पड़ेगा, वहीं कल सुबह से स्कूलों और प्रमुख मार्गों से 450 बसों को अधिग्रहित किया जाएगा। ये सभी वाहन 6 जुलाई की रात को लौटाए जाएंगे। ज्यादातर बसें स्कूलों से ली जा रही हैं।

इसे देखते हुए ज्यादातर स्कूलों ने कल ही बच्चों और पालकों को सूचना दी है कि 4 से 7 जुलाई के बीच बच्चों के स्कूल आने और जाने की व्यवस्था पालकों को खुद संभालनी होगी। इसमें 6 जुलाई को मतदान के कारण स्कूलों में छुट्टी रहेगी। इसके अतिरिक्त 4, 5 और 7 जुलाई को पालकों को ही बच्चों को छोडऩे और लेने स्कूल जाना पड़ेगा। इससे पहले पंचायत चुनाव के समय भी 23 से 25 जून तक ऐसा ही हुआ था।

कई स्कूलों में ऑनलाइन क्लासेस
कोरोनाकाल में दो साल तक ऑनलाइन क्लासेस पढ़ाई करवाने वाले कई स्कूलों ने चुनाव में बसों के अधिग्रहण को देखते हुए एक बार फिर अगले कुछ दिनों के लिए ऑनलाइन क्लासेस शुरू करने का भी निर्णय लिया है। ऐसे स्कूलों में पालकों को परेशानी नहीं होगी, लेकिन पढ़ाई तो फिर भी प्रभावित होगी।

Share:

Next Post

अमरनाथ यात्रा पर हमले की साजिश नाकाम, लश्कर के 2 आतंकी गिरफ्तार

Sun Jul 3 , 2022
श्रीनगर: जम्मू-कश्मीर के रियासी जिले के तुकसान के ग्रामीणों ने लश्कर के 2 आतंकियों को हथियारों के साथ पकड़ पुलिस के हवाले कर दिया है. इनके पास से 2 AK-47 राइफल, 7 ग्रेनेड और एक पिस्टल बरामद हुई है. डीजीपी ने ग्रामीणों के लिए 2 लाख रुपये के इनाम की घोषणा की. वहीं जम्मू-कश्मीर के […]

Leave a Reply

Your email address will not be published.