इंदौर न्यूज़ (Indore News)

इंटेलिजेंस विंग की है नजर, 11 लोगों को जिलाबदर करने की थी तैयारी

चूड़ीवाला कांड के बाद इंदौर में चर्चा में आया था पीएफआई संगठन
इंदौर। शहर में पिछले दिनों बाणगंगा क्षेत्र (Banganga area) में एक चूड़ीवाले (churiwala) के साथ मारपीट (assault) और फिर कोतवाली थाने (kotwali police station) पर प्रदर्शन को लेकर पीएफआई (PFI) चर्चा में आया था। इसके बाद सिमी (SIMI) की तरह ही खुफिया पुलिस ( intelligence police) लगातार इस पर नजर रखे हुए है। आज एनआईए ने इंदौर और उज्जैन से संगठन से जुड़े कुछ लोगों को पकड़ा है, लेकिन अभी तक उनके नामों का खुलासा नहीं हुआ है।

आज एनआईए ने टेरर फंडिंग (terror funding) के चलते देशभर में दस राज्यों में छापामार कार्रवाई की है और सौ से अधिक लोगों को पकड़ा है। इंदौर, उज्जैन और भोपाल से कुछ लोगों को पकडऩे की बात पुलिस अधिकारियों ने मानी है, लेकिन अभी तक नामों का खुलासा नहीं हुआ है। बताते हैं कि पॉपुलर फ्रंट आफ इंडिया (पीएफआई) का प्रदेश अध्यक्ष अब्दुल करीम बेकरी है, जबकि जिला अध्यक्ष तौफिक रजा है। इनके घर पर भी एनआईए की टीम पहुंचने की बात सामने आई है, लेकिन अभी तक इनकी गिरफ्तारी की पुष्टि स्थानीय पुलिस नहीं कर रही है। यह अवश्य मान रही है कि इंदौर से भी कुछ लोगों को पकड़ा गया है। सबसे पहले यह संगठन दो साल पहले सामने आया था, जब इन लोगों ने रीगल पर प्रदर्शन किया था। इसके बाद चूड़ीवाले के साथ मारपीट के बाद कोतवाली थाने पर प्रदर्शन किया था। इस मामले में पुलिस ने कुछ लोगों को पकड़ा था तो कुछ अभी भी फरार हैं। संगठन की बढ़ती गतिविधियों के चलते इंदौर पुलिस ने संगठन से जुड़े 11 लोगों का जिलाबदर का प्रस्ताव बनाकर भेजा था, लेकिन इस संगठन पर अब तक प्रतिबंध नहीं होने और आरोपियों का आपराधिक रिकार्ड नहीं होने से पुलिस जिलाबदर की कार्रवाई नहीं कर सकी थी।

Share:

Next Post

गुमटी को लेकर संदिग्ध रूप से जले व्यक्ति की मौत

Thu Sep 22 , 2022
इंदौर।  सिमरोल क्षेत्र (Simrol area) में पुलिस (Police) की मौजूदगी में गुमटी के विवाद को लेकर दो पक्षों के बीच हुए संघर्ष के चलते जले एक युवक की अस्पताल (Hospital) में उपचार ( Treatment) के दौरान मौत (Death) हो गई। अब इस मामले में हत्या (Murder) का प्रकरण दर्ज किया जा रहा है। एसपी भगवतसिंह […]