खेल

अगले साल अपने पुराने रूप में लौटेगा IPL, सौरव गांगुली ने किया ऐलान

नई दिल्ली। इंडियन प्रीमियर लीग (IPL) 2023 के सीजन से कोविड-19 से पहले के अपने मूल प्रारूप में वापसी करेगा, जिसमें टीमें अपने घरेलू मैदान और विरोधी टीम के मैदान पर मैच खेलती थीं। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (BCCI) के अध्यक्ष सौरव गांगुली ने इस बारे में बोर्ड से मान्यता प्राप्त इकाइयों को सूचित करा दिया है। साल 2020 में कोविड-19 महामारी फैलने के कारण आईपीएल कुछ स्थानों पर ही आयोजित किया गया। वर्ष 2020 में इसका आयोजन संयुक्त अरब अमीरात के तीन स्थानों दुबई, शारजाह और अबुधाबी में खाली स्टेडियमों में किया गया था।

साल 2021 में इस टी-20 टूर्नामेंट का आयोजन चार स्थानों दिल्ली, अहमदाबाद, मुंबई और चेन्नई में किया गया। लेकिन अब महामारी कंट्रोल में है और इसलिए यह लीग घरेलू मैदान और विरोधी टीम के मैदान के पुराने फॉर्मेट में खेली जाएगी। गांगुली ने राज्य इकाइयों को भेजे गए संदेश में कहा, ‘आईपीएल को अगले साल से घरेलू मैदान और विरोधी टीम के मैदान पर मैच खेलने के फॉर्मेट में आयोजित किया जाएगा। सभी 10 टीमें अपने घरेलू मैच अपने तय स्थल पर खेलेंगी।’

बीसीसीआई 2020 के बाद पहली बार अपना पूर्ण घरेलू सीजन का आयोजन कर रहा है जिसमें टीमें घरेलू और विरोधी टीम के मैदान के पुराने फॉर्मेट में खेल रही हैं। बीसीसीआई इसके अलावा अगले साल के शुरू में बहु प्रतीक्षित महिला आईपीएल का आयोजन करने की भी योजना बना रहा है। पीटीआई ने पिछले महीने रिपोर्ट दी थी कि महिला आईपीएल का आयोजन दक्षिण अफ्रीका में होने वाले महिला टी20 वर्ल्ड कप के बाद मार्च में किया जा सकता है। गांगुली ने 20 सितंबर को भेजे गए संदेश में कहा, ‘बीसीसीआई अभी बहुप्रतीक्षित महिला आईपीएल के आयोजन पर काम कर रहा है। इसका पहला सीजन अगले साल के शुरू में आयोजित किया जा सकता है।’

Share:

Next Post

शुगर लेवल को कंट्रोल करने के साथ खजूर खाने से मिलते हैं इतने फायदे

Thu Sep 22 , 2022
नई दिल्ली। खजूर सिर्फ मिठाइयों या स्वीट डिशेज में ही इस्तेमाल नहीं होता बल्कि इसे डाइट में भी शामिल किया जाता है क्योंकि इससे कई हेल्थ बेनिफिट्स हैं। एक खजूर में (8 ग्राम) 23 कैलोरी, 0.2 ग्राम प्रोटीन, 6 ग्राम कार्बोहाइड्रेट और 0 ग्राम फैट होता है। खजूर पोटेशियम, मैग्नीशियम और आयरन का अच्छा स्रोत […]