उज्‍जैन न्यूज़ (Ujjain News)

2023 में 17 रिश्वतखोरों को लोकायुक्त ने पकड़ा

  • उज्जैन के सरकारी विभागों में भ्रष्टाचार के मामलों में बढ़ोतरी, 5 सालों में 100 से अधिक मामले दर्ज

उज्जैन। लोकायुक्त की सजगता और तेजी के बाद भी रिश्वतखोरों में कार्रवाई या सजा का डर नहीं है और रिश्वतखोरी का खेल लगातार जारी है। उज्जैन जिले में इस साल अब तक 17 रिश्वतखोर लोकायुक्त पुलिस के हत्थे चढ़े है, वहीं पिछले पांच सालों में इनका आंकड़ा 100 के पार जा चुका हैं। लोकायुक्त पुलिस की सालाना रिपोर्ट के अनुसार वर्ष 2023 में कुल 28 आपराधिक प्रकरण पंजीबद्ध किए गए। इनमें 17 ट्रेप समेत 11 पद के दुरुपयोग के मामले है, वहीं वर्ष 2022 में 18 मामले ट्रेप हुए थे। रिपोर्ट के अनुसार वर्ष 2021 में कुल 24 प्रकरण पंजीबद्ध हुए थे। इसमें ट्रेप के 20, अनुपातहीन संपत्ति के 2 और पद के दुरुपयोग के 2 मामले शामिल हैं। वर्ष 2020 में कुल 20 प्रकरण दर्ज हुए, इसमें 15 ट्रेप के 3 अनुपातहीन संपत्ति, 2 पद के दुरुपयोग के प्रकरण शामिल हैं। इन मामलों में आरोपी के रूप में क्लर्क, पटवारी, इंजीनियर, तहसीलदार, लाइन मेन समेत अन्य अधिकारी और कर्मचारी शामिल हैं।



चालान पेश करने की कार्रवाई में उज्जैन आगे
उज्जैन संभाग में बीते पांच साल में रिश्वतखोरी के 100 से अधिक मामाले दर्ज हुए है। खास बात यह कि घूसखोरी के सबसे अधिक मामले राजस्व विभाग में सामने आए हैं, वहीं रिश्वत के मामले में न्यायालय में चालान पेश करने की बात करें तो उज्जैन संभाग के अन्य जिलों में उज्जैन सबसे आगे है। अधिकारियों की माने तो उज्जैन के लोगों में भ्रष्टाचार के खिलाफ कार्रवाई को लेकर जागरूकता बढ़ी है, वे शिकायत करने आने लगे हैं, इसी की बदौलत कार्रवाई में भी तेजी आई है। यहाँ यह उल्लेखनीय है कि अधिकांश पटवारी एवं छोटे स्तर के कर्मचारी पकड़ाए जाते हैं।

Share:

Next Post

नए साल के जश्न पर पुलिस ड्रोन से करेगी निगरानी

Fri Dec 29 , 2023
मुख्य मार्गों पर 31 दिसम्बर की रात लगेंगे 4 ड्रोन कैमरे उज्जैन। 31 दिसम्बर की रात्रि में लोग शराब पीकर हंगामा करते हैं और तेज गाड़ी चलाते हैं जिसे रोकने के लिए ड्रोन कैमरे लगाए जा रहे हैं। शहर में नए साल के जश्न की तैयारियां शुरू हो गई हैं। पुलिस ने भी तैयारियां शुरू […]