इंदौर न्यूज़ (Indore News) मध्‍यप्रदेश

‘ट्रैफिक मित्र’ अभियान से दो ही दिन में जुड़े दो सौ से ज्यादा संपन्न घरों के युवा, चौराहों पर नि:स्वार्थ सेवा

अगले माह लांच होगा महापौर का ‘ट्रैफिक मित्र’ अभियान

इंदौर। शहर (Indore) के यातायात (Traffic) को सुचारु रूप से चलाने के लिए यातायात पुलिस (Traffic police) के साथ ही महापौर (Mayor) के नेतृत्व में भी नए सिरे से ‘ट्रैफिक मित्र’ (‘Traffic Mitra’) अभियान शुरू किया जा रहा है। दो दिन पहले ही इसके लिए शुरू किए गए रजिस्ट्रेशन में अब तक दो सौ से ज्यादा युवा इससे जुड़ गए हैं। इसके तहत युवाओं को केवल शनिवार-रविवार को शाम 5.30 से 8.30 बजे तक वॉलेंटियरी सेवा देना है।


प्रवासी भारतीय सम्मेलन में अस्थायी रूप से किए गए ‘ट्रैफिक मित्र’ अभियान को अब व्यवस्थित रूप से बढ़ाया जा रहा है। इसके तहत स्कूल, कॉलेज से साथ ही विभिन्न संस्थाओं के युवाओं को इससे जोड़ा जा रहा है। इस बार जो रजिस्ट्रेशन किए जा रहे हैं, उसमें युवा अन्य माध्यम से भी इस अभियान में सहयोग दे पाएंगे। रजिस्ट्रेशन के लिए 12 नियम और शर्तों का पालन करना होगा। रजिस्ट्रेशन, ट्रेनिंग और किट विरतण के बाद अगले महीने इस अभियान को लांच किया जाएगा। इस बार वॉलेंटियर के तौर पर ऐसे युवाओं को भी जोड़ा जा रहा है, जो इस अभियान में ग्राफिक डिजाइन, स्लोगन लिखने और अन्य डिजिटल काम संभालने की सेवा देंगे। ऐसे भी करीब 150 युवा रजिस्ट्रेशन कर चुके हैं। पुराने वॉलेंटियर भी अब तक जुड़े हुए हैं, जिन्होंने प्रवासी भारतीय सम्मेलन और नो कार-डे पर सेवाएं दी थीं।

आम नागरिकों को जोडऩे की पहल
महापौर पुष्यमित्र भार्गव के इस ‘ट्रैफिक मित्र’ अभियान से आम नागरिकों को जोडऩे की पहल की जा रही है। इसके तहत चार चौराहों पर एक जोन लीडर बनाया जाएगा और हर एक चौराहे पर लीडर भी होगा, जो सभी में समन्वय का काम करेगा। रजिस्ट्रेशन के बाद संयुक्त रूप से यातायात पुलिस के माध्यम से सभी की ट्रेनिंग भी करवाई जाएगी, जिसके बाद ही इन्हें चौराहे पर यातायात संभालने का जिम्मा दिया जाएगा। ‘ट्रैफिक मित्र’ अभियान को देख रहे ऋषभ बागोरा ने बताया कि रजिस्ट्रेशन के बाद ‘ट्रैफिक मित्र’ को ट्रैफिक किट में जैकेट, लाइट, कैप, सीटी दी जाएगी। इनका कार्ड डिजिटल ही होगा, ताकि इसका मिस यूज होने पर सीधे एडमिन द्वारा इसे निरस्त किया जा सके। इस अभियान को अब व्यवस्थित तरीके से लगातार आगे बढ़ाया जाएगा।

Share:

Next Post

100 करोड़ के ई-चालानों की वसूली नहीं कर पाया यातायात विभाग का महकमा

Fri Jun 21 , 2024
इंदौर। शहर के बिगड़ैल यातायात को सुधारने के लिए तमाम प्रयास अब तक असफल साबित हुए हैं। सिर्फ चालानी कार्रवाई पर ही जोर दिया जाता रहा है। शहर के प्रमुख 50 चौराहों पर इंटेलिजेंट ट्रैफिक मैनेजमेंट सिस्टम के तहत सीसीटीवी कैमरे लगाए गए हैं, जिसके चलते नियमों के उल्लंघन करने वाले वाहन चालकों के घर […]