मनोरंजन

बाहर के खाने से Pahlaj Nihalani को हुई खून की उल्टी, रेस्टोरेंट के खिलाफ करेंगे कानूनी कार्रवाई

नई दिल्ली। बॉलीवुड के मशहूर निर्माता-निर्देशक (Famous Producer-Director of Bollywood) और सेंसर बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष(Former Censor Board Chairman ) पहलाज निहलानी(Pahlaj Nihalani) हाल ही में 28 दिन बाद अस्पताल से डिस्चार्ज (discharge from hospital) हुए हैं। वह करीब 28 दिन तक भर्ती थे। पिछले महीने की 7 तारीख को अचानक उनकी तबीयत बिगड़ गई थी, जिसके बाद उन्हें खून की उल्टी(vomiting blood) होने लगी थी। अब पहलाज निहलानी(Pahlaj Nihalani) ने खुलासा किया है उन्हें रेस्टोरेंट का खाना खाने के बाद ऐसा हुआ। इसलिए वह मुंबई के एक रेस्टोरेंट पर कानूनी कार्रवाई (Legal action on a restaurant in Mumbai)करेंगे।
पहलाज निहलानी(Pahlaj Nihalani) ने एक इंटरव्‍यू के दौरान अपने साथ हुई इस दर्दनाक घटना के बारे में विस्तार से बताया है। पहलाज निहलानी(Pahlaj Nihalani) ने कहा, ‘करीब एक महीने पहले मैं घर पर अकेला था। मेरी पत्नी भी दूर थी। अचानक 7 मई की शाम एक फिल्म की यूनिट के कुछ सदस्य मेरे यहां आए। उस समय देर हो चुकी थी। और मुझे उनके लिए बाहर से खाना ऑर्डर करना पड़ा था।’



पहलाज निहलानी(Pahlaj Nihalani) ने आगे कहा, ‘मेरा खाना घर पर बना था। मैं कभी बाहर का खाना नहीं खाता हूं। लेकिन घर में जो खाना रखा था वह सभी के लिए पर्याप्त नहीं था। तो हमने खाना ऑर्डर किया था। चिकन ही एकमात्र खाना है जिसे मैं खाता हूं। जिस पल मैंने चिकन को काटा, मुझे पता चला कि कुछ गड़बड़ है। लेकिन दूसरों ने मुझे आश्वासन दिया कि यह ठीक है। तो हमने खा लिया। वह सभी चले छोड़ गए थे। थोड़ी देर बाद मुझे बेचैनी हुई और उल्टी हुई। उसके बाद मुझे थोड़ा लगा तो मैंने सोने की कोशिश की। लगभग 3 बजे मैंने खून की उल्टी करनी शुरू कर दी। तभी मैं घबरा गया और अपने बेटे को फोन किया। सौभाग्य से वह उसी बिल्डिंग में रहता है जिसमें मैं रहता हूं।’
पहलाज निहलानी(Pahlaj Nihalani) ने कहा, ‘उसने डॉक्टर को बुलाया, और उन्होंने सलाह दी कि मुझे तुरंत अस्पताल ले जाया जाए। मैं अगले 28 दिनों तक नानावती अस्पताल में था। महामारी के कारण किसी को भी मुझसे मिलने की अनुमति नहीं थी। मैंने अपनी पत्नी से वीडियो कॉल पर बात की।’ पहलाज निहलानी ने खाना देने करने वाले रेस्टोरेंट पर कानूनी कार्रवाई करने का एलान किया है, जिसने उस रात उन्हें खराब खाना दिया था।
दिग्गज निर्माता-निर्देशक ने कहा, ‘यह मेरी जिंदगी का अंतिम भोजन हो सकता था। उस रात खाने वाले सभी लोग बीमार थे। लेकिन मुझे सबसे ज्यादा चोट लगी। मैं सभी से आग्रह करता हूं कि इस मुश्किल समय में केवल घर का बना खाना ही खाएं।’ आपको बता दें कि पहलाज निहलानी की गिनती बॉलीवुड के दिग्गज निर्माता-निर्देशकों में होती है। वह ‘हथकड़ी’, ‘शोला और शबनम’, ‘आंखें’, ‘अंदाज’ और ‘तलाश’ सहित कई फिल्मों के निर्माता-निर्देशक रहे हैं। इतना ही नहीं पहलाज निहलानी 2015 से 2017 तक सीबीएफसी के अध्यक्ष रहे हैं।

Share:

Next Post

आज है सोम प्रदोष व्रत, भगवान शिव की ऐसे करें पूजा, घर में होगी सुख समृद्वि

Mon Jun 7 , 2021
आज यानि 7 जून सोमवार को सोम प्रदोष व्रत (som pradosh fast) है। सोमवार के दिन पड़ने के कारण इसे सोम प्रदोष व्रत कहा जा रहा है। आज भक्तों ने भगवान शिव को प्रसन्न करने के लिए सोम प्रदोष व्रत रखा है और शिव जी की पूजा अर्चना (Worship lord Shiva) की। शाम को फलाहार […]