मध्‍यप्रदेश

बागेश्वर धाम के समर्थन में पंडित प्रदीप मिश्रा ने कही बड़ी बात

भोपाल। बागेश्वर धाम के पंडित धीरेंद्र कृष्ण शास्त्री (Pandit Dhirendra Krishna Shastri) के समर्थन में सीहोर के प्रसिद्ध कथाकार पंडित प्रदीप मिश्रा (Pandit Pradeep Mishra) भी आ गए हैं। मंगलवार को प्रदीप मिश्रा ने गुजरात (Gujarat) में चल रही कथा के दौरान पंडित शास्त्री का समर्थन (Pandit Shastri’s support) करते हुए कहा कि सनातनी कभी अकेला नहीं होता, सनातन धर्म का एक-एक बच्चा आपके साथ कदम से कदम मिलाकर खड़ा है।

पंडित मिश्रा ने कहा कि आज मुझे किसी ने कहा कि गुरूजी तुम भी तैयारी कर लो, अगला नंबर तुम्हारा ही है। तो मैंने उन्हें कहा- मैं नंबर नहीं देखता, क्योंकि एक बार जो भगवा को देख लेता है, वह भगवान का होकर ही चलता है। पंडित शास्त्री जी ये कभी मत सोचना कि आप अकेले चल रहे हैं। जिस समय आवाज लगेगी उस समय एक-एक सनातनी आपके साथ खड़ा हो जाएगा। आप चिंता मत करिए। भोलेनाथ का डमरू जरूर बजेगा। अपनी कथा के दौरान पंडित मिश्रा ने व्यास गादी से कहा कि संत, साधु, गुरू, ब्राह्मण, तपस्वी, साधक हो या उपासक, इनकी परीक्षा बहुत होती है। परीक्षा से घबराना नहीं चाहिए। जो सनातन धर्म की ओर आगे बढ़ेगा, जो सनातन धर्म की ध्वजा लेकर आगे बढ़ेगा, उन्हें अनेक परीक्षाएं देनी होंगी।

पंडित मिश्रा ने आगे कहा- धीरेंद्र शास्त्री को यह पता होना चाहिए कि वे अकेले नहीं है। भोलेनाथ, कुबेर भंडारी, राम, कृष्ण भी आपके साथ हैं। इसके अलावा सनातन धर्म का एक-एक बच्चा भी आपके साथ कदम से कदम मिलाकर खड़ा है। आप सनातन धर्म की ध्वजा लेकर आगे चलिए। उन्होंने लोगों को संबोधित करते हुए आगे कहा कि जो भी सनातन को आगे बढ़ाए उसके साथ आपके कदम चलने चाहिए। विघ्न तो मीराबाई के जीवन में भी आया, संत तुकाराम जी के जीवन में भी आया, नामदेव जी के जीवन में भी आया, कर्माबाई के जीवन में भी आया, चैत्नय महाप्रभु के जीवन में भी आया और वल्लभाचार्य जी के जीवन भी आया। ऐसा कौन से संत, साधु, तपस्वी हैं, जिसके जीवन में विघ्न नहीं आता। कष्ट आएगा ही। गुजरात के हलोल में चल रही शिवमहापुराण कथा सुनने के लिए लोगों की भारी भीड़ उमड़ रही है। नागपुर की अंधश्रद्धा निर्मूलन समिति के अध्यक्ष श्याम मानव ने पंडित शास्त्री को चुनौती दी थी। जिसके बाद से धीरेंद्र शास्त्री चर्चाओं में हैं।

बागेश्वर धाम सरकार पंडित धीरेन्द्र शास्त्री पर लगाए जा रहे आरोपों का विरोध करते हुए हिन्दू समाज बुधवार शाम चार बजे से सामूहिक रूप से हनुमान चालीसा का पाठ भी किया जाएगा। इसके साथ ही कोतवाली चौराहा से लीसा टॉकीज तक जनाक्रोश रैली निकालेगा। हिन्दू संगठनों का कहना है कि सनासन धर्म का बच्चा-बच्चा धीरेन्द्र शास्त्री के साथ है।

Share:

Next Post

मनरेगा की योजनाओं में 100 करोड़ की संदिग्ध निकासी की जांच शुरू कराई झारखंड सरकार ने

Wed Jan 25 , 2023
रांची । झारखंड सरकार (Jharkhand Government) ने मनरेगा की योजनाओं में (In MNREGA Schemes) 100 करोड़ की संदिग्ध निकासी (Suspicious Withdrawal of 100 Crores) की जांच शुरू कराई (Started Investigation) । सरकार के ग्रामीण विकास विभाग ने सभी जिलों के उपायुक्तों से अवैध और संदिग्ध निकासी की रिपोर्ट मांगी है। प्रारंभिक जांच में यह बात […]