इंदौर

बांग्लादेश से लाकर इन्दौर में गई दो दर्जन लड़कियों का पुलिस ने लगाया पता

इंदौर।  पुलिस ने बांग्लादेश (Bangladesh) से अवैध रूप से बॉर्डर (Border) पार कर लड़कियों (Girls) को लाकर देह व्यापार (Prostitution) के लिए बेचने वाले गिरोह (Gangs) की शिनाख्त पर अब तक दो दर्जन युवतियों का पता लगा लिया है। वहीं शेल्टर होम (Shelter Home) से भागी तीन युवतियां भी सूरत में हैं। सभी को वापस भेजने के लिए योजना बनाई जा रही है।
कुछ दिन पहले विजयनगर पुलिस (Vijayanagar Police) ने एक बड़े गिरोह के सात सदस्यों को गिरफ्तार (Arrested) किया था। गिरोह का सरगना बांग्लादेश (Bangladesh) का ही विजय दत्त उर्फ मामून है। इसके अलावा अकीला, दीप शेख, उज्ज्वल, रजनी, दिलीप और द्वारका नामक एजेंटों को गिरफ्तार किया गया था। गिरोह पिछले दस सालों में एक हजार से अधिक युवतियों को अवैध रूप से भारत लाया और देह व्यापार के लिए कई शहरों में बेच दिया था। ये आरोपी रिमांड पर चल रहे हैं। एएसपी राजेश रघुवंशी ने बताया कि अब तक पुलिस (Police) ने ऐसी 24 लड़कियों का पता लगा लिया है, जो इंदौर और आसपास बेची गई थीं। इसके अलावा शेल्टर होम इंदौर से भागी 9 लड़कियों में से तीन का पता चल गया है। ये सूरत में हैं। उन्होंने कहा कि नियम अनुसार अन्य विभागों की मदद से इन लड़कियों को वापस बांग्लादेश (Bangladesh) भेजा जाएगा। इसके लिए योजना बनाई जा रही है।

कई एजेंट अभी भी फरार
इस गिरोह (Gangs)  का नेटवर्क प्रदेश में भोपाल, जबलपुर, उज्जैन, खंडवा, खरगोन, राजगढ़ और पीथमपुर में है। एक लडक़ी को आरोपियों की निशानदेही पर खंडवा से बरामद किया गया। सूरत के अलावा अहमदाबाद, मुंबई, पुणे, ठाणे, बैंगलुरु, हैदराबाद और चेन्नई में भी इनके एजेंट हैं, जो फरार हैं। कुछ और एजेंट पकड़े जाने पर कुछ और युवतियों को ट्रेस किया जाएगा।

Share:

Next Post

जमीनों का सर्वे करने गया ड्रोन शिप्रा के गांव में क्रैश

Tue Dec 7 , 2021
इंदौर। स्वामित्व योजना का लाभ लोगों को दिलाने के लिए प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा ड्रोन के जरिए किया जा रहा 6 गांवों का सर्वे कल तब रुक गया, जब सर्वे के काम में लगाया गया ड्रोन शिप्रा क्षेत्र के एक गांव में क्रैश हो गया। जिला प्रशासन एवं पंचायत अधिकारियों द्वारा शिप्रा क्षेत्र के पूर्वाडाहप्पा, मच्छूखेड़ी, बरलाई […]