देश भोपाल मध्‍यप्रदेश

Black Fungus के खिलाफ शिवराज सरकार की लड़ाई तेज, MP को मिले 2000 इंजेक्शन

भोपाल। कोरोना वायरस के बाद ब्लैक फंगस (Black Fungus) का कोहराम भी शुरू हो गया है, लेकिन अच्छी खबर यह है कि मध्‍य प्रदेश को आज ब्लैक फंगस के इलाज के लिए उपयोगी एंटीवायरल इंजेक्शन मिल गए हैं। शिवराज सरकार (Shivraj Government) की कोशिशों के बाद सन फार्मा से 2000 इंजेक्शन प्रदेश को मिले हैं।

इन इंजेक्शन को लेकर सरकार का स्टेट प्लेन गुजरात से ग्वालियर पहुंचा है। जबकि ग्वालियर में 300 इंजेक्शन की आपूर्ति की गई है। इसके अलावा दूसरे जिलों में सड़क मार्ग के जरिए इंजेक्शन की आपूर्ति हो रही है। वहीं स्वास्थ्य विभाग के अफसरों के मुताबिक, जिन जिलों में ब्लैक फंगस के मरीज सामने आए हैं, वहां पर इंजेक्शन की सप्लाई की जा रही है। कई जगह पर इंजेक्शन पहुंच चुके हैं और कई जिलों में शाम तक इस इंजेक्शन की सप्लाई हो जाएगी।

मध्‍य प्रदेश में म्यूकोरमाइकोसिस बीमारी से पीड़ित मरीजों की संख्या 280 से ज्यादा हो गई है। जबकि इंदौर में सबसे ज्यादा 128 मरीजों की पहचान हुई है। वहीं, अब तक इंदौर में 15 की मौत हो चुकी है। इसके अलावा भोपाल में यह आंकड़ा 75 तक जा पहुंचा है। जबकि 5 लोगों की मौत हो गई है। वहीं, ग्वालियर में 15 मामले सामने आए हैं, तो एक की मौत हुई है।

रीवा में 12 मामले सामने आए हैं और एक की मौत हुई है। मध्‍य प्रदेश के राजगढ़ में म्यूकोरमाइकोसिस के 6 मामले सामने आए हैं और इस बीमारी की वज‍ह से दो लोगों ने दम तोड़ा है। यही नहीं, सतना में 5 लोग इस बीमारी से पीड़ित हैं, जिसमें से एक की मौत हो गई है। इसी तरह से टीकमगढ़ और छतरपुर में भी दो-दो मरीज की पहचान हुई है। जबकि एक-एक मरीज की यहां भी मौत हो चुकी है।

मध्‍य प्रदेश में बढ़ते ब्लैक फंगस के मामलों को लेकर सरकार ने बीते दिनों संकेत दिए थे कि ब्लैक फंगस के मरीजों के इलाज के लिए सरकार जल्द ही गाइडलाइन जारी करेगी और प्रोटोकॉल के तहत मरीजों का इलाज किया जाएगा। हालांकि अब तक सरकार की तरफ से कोई एडवाइजरी जारी नहीं की गई है। जबकि ब्लैक फंगस के मामलों के बढ़ने के बाद उत्तर प्रदेश सरकार ने एडवाइजरी जारी की है। यही नहीं, राजस्थान में भी अलर्ट जारी किया गया है।

इसके अलावा छत्तीसगढ़ में एडवाइजरी जारी की गई है, लेकिन एमपी में अभी इसको लेकर कोई एडवाइजरी जारी नहीं हुई है। हालांकि सीएम शिवराज ने प्रदेश के 5 मेडिकल कॉलेजों में ब्लैक फंगस के लिए अलग से वार्ड बनाए जाने के निर्देश दिए हैं। इस बाबत प्रदेश के ड्रग कंट्रोलर पी नरहरि ने बताया है कि सरकार ने ब्लैक फंगस के इलाज के लिए जरूरी इंजेक्शन की आपूर्ति के लिए स्टेट प्लेन कल गुजरात भेजा था, जो कि 2000 इंजेक्शन लेकर वापस लौटा है और अब इंजेक्शन को जिलों से मिली मांग के मुताबिक दिया जा रहा है।

Share:

Next Post

सेहत के लिए बेहद लाभकारी है काला नमक, पाचन शक्ति को मजबूत करने के साथ देता है कई अनोखें फायदें

Mon May 17 , 2021
आमतौर पर लगभग घरो में काले नमक का इस्‍तेमाल किया जाता है । दोस्‍तों काला नमक सेहत के लिए बेहद गुणकारी है इसलिए आज हम आपके लिए लेकर आए हैं काले नमक के फायदे। काला नमक हमें कई गंभीर बीमारियों से निजात दिला सकता है। इसे हिमालयन सॉल्‍ट के नाम से भी जाना जाता है। […]