भोपाल

आरोपी बोले मौत की संतुष्टि तक मारते रहे, नहीं तो हमें नहीं छोड़ता

  • जहरीले की हत्या करने वाला तीसरा आरोपी भी गिरफ्तार

भोपाल। शादाब (Shadab) उर्फ जहरीले की हत्या (The Killing) करने वाले तीनों आरोपियों को पुलिस (Police) ने गिरफ्तार (Arrest) कर लिया है। तीनों आरोपियों ने पुलिस को बताया कि शादाब (Shadab) के प्रति उनके मन में खौफ था। वह बच जाता तो किसी को नहीं छोड़ता। वहीं मुख्य आरोपी नदीम (Nadeem) उर्फ बच्चा ने पुलिस को बताया कि उसने तब तक शादाब (Shadab) पर चाकू से वार किए और गाला रेता जब तक पूरी तसल्ली नहीं कर को वह मर चुका है। नदीम ने पुलिस (Police) से कहा कि वह अगर बच जाता तो हर हाल में हमें मौत (Death) के घाट उतार देता। सीएसपी गोपाल चौहान (Gopal Chouhan) के अनुसार आरोपी नदीम, फैजान और सय्यद उर्फ शानू तीनों को हिरासत (Custody) में ले लिया गया है। जल्द आरोपियों को न्यायलय (Court) में पेश कर जेल भेज दिया जाएगा। हत्या में इस्तमाल हथियारों को भी जब्त कर लिया गया है। जानकारी के अनुसार शादाब उर्फ जहरीला ने मौत के कुछ घंटो पूर्व अपनी पत्नी को सुल्तानीया जनाना अस्पताल (Sultaniya Zanana Hospital) में भर्ती कराया था। सूत्रों का दावा है कि इस समय नदीम उर्फ बच्चा उसके साथ मौजूद था। दोनों महिला (Women) के साथ में अस्पताल (Hospital) के  अंदर जाने की जिद कर रहे थे। हालांकि गार्ड ने उन्हें अंदर जाने से रोक दिया था। जिसके बाद में दोनों ने गार्ड के साथ में झूमाझटकी कर दी थी। उसे चाकू दिखाकर धमकाया, गार्ड ने पुलिस से शिकायत की बात की तो आरोपी मौके से भाग निकले थे। कुछ समय बाद शादाब अकेला अस्पताल में पत्नी से मिलने पहुंचा और कुछ देर बाद लौटकर आने की बात की थी। जिसके बाद में उसकी मौत की खबर परिजनों को मिली। वहीं सूत्रों का दावा है कि लौटने के बाद में शादाब ने नदीम के साथ दोबारा शराब पी। इधर शादाब के निर्मम हत्या के बाद उसकी पत्नी पर दुखों का पहाड़ टूट चुका है। सूत्रों की माने तो शादाब के पिता गुड्डू भी अपने समय में कई अपराधों में शामिल रहे हैं। जहां से शादाब को अपराध करने की प्रेणना मिली और उसकी मौत के साथ अपराध की दुनिया से उसका दुखद अंत हुआ।

कानून व्यवस्था पर खड़े हुए सवाल
शादाब (Shadab) की सरेराह निर्मम हत्या के बाद शहर की कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े हो गए हैं। उसकी हत्या का पूरा वीडियो एक घर में लगे सीसीटीवी कैमरे में कैद हुआ है। वारदात के समय मौके से ऑटो,ठेला तथा राहगीर गुजरते दिख रहे हैं। किसी ने ाी युवक को बचाने का प्रयास नहीं किया। वहीं शहर में लगातार हो रहे हत्याकांड तथा लूट, चोरी, हत्या के प्रयास एवं अड़ीबाजी की वारदातों से कानून व्यवस्था पर सवाल खड़े होने लगे हैं।

शहर में हर दसवें दिन हो रही हत्या
बीते माह 15 जनवरी से बुधवार की रात तक शहर मतलब कुल चालिस दिन में चार हत्या की वादरातें दर्ज की जा चुकी हैं। इस हिसाब से राजधानी में हर दसवेें दिन एक हत्या की वारदात दर्ज की जा रही है। ाोपाल में हुई इन हत्याओं में दो महिलाओं को ाी मौत के घाट उतारा जा चुका है। हालांकि पुलिस चारों ही हत्याकांड का खुलासा कर चुकी है। सभी मामलों में आरोपियों की गिर तारी की जा चुकी है। शादाब हत्याकांड के दोनों फरार सह आरोपियों की तलाश की जा रही है।

जेल में सुपरी किलिंग करता था शादाब
सूत्रों के अनुसार शादाब कम उम्र से ही जेल काटने का आदी हो चुका था। वेह अपनी जिंदगी में 18 साल उम्र के बाद से जेल के बाहर कम ही रहा है। अधिकतर समय उसका जेल में ही कटा है। उसकी पत्नी हर बार किसी तरह से उसकी जमानत करा लिया करती थी। शादाब जेल में अन्य कैदियों को पैसा लेकर पीटने तथा ब्लैड मारने का काम करता था। जेल के भीतर रहकर भी उसने कई अपराध किए हैं।

Next Post

Rohit Sharma ने Ahmedabad की पिच को सही बताते हुए कह डाली ये बड़ी बात

Fri Feb 26 , 2021
मुंबई। इंडिया ने इंग्लैंड को अहमदाबाद टेस्ट में 10 विकेट से हराकर सीरीज में 2-1 से बढ़त बना ली है. इंग्लैंड हालांकि अपनी करारी हार के लिए पिच को जिम्मेदार ठहरा रहा है. टीम इंडिया के स्टार बल्लेबाज रोहित शर्मा ने पिच का बचाव किया है. रोहित शर्मा का कहना है कि इस पिच पर […]