ज़रा हटके देश

शादी से पहले गांव में आ गई बाढ़, नाव पर सवार होकर दुल्हन के पास पहुंचा दूल्हा

मधुबनी: मधुबनी जिले के मधेपुर के अंतर्गत भेजा थाना क्षेत्र के प्रबल पुर गांव निवासी मोहम्मद अहसान की बारात बड़े ही सज धज कर घर से निकली. बता दे कि बारात घर से तो लग्जरी कार से ही निकली, लेकिन 1 किलोमीटर की दूरी के आगे कोसी तटबंध पर दूल्हे के साथ-साथ बारात भी नाव पर सवार होकर दस किलोमीटर दूर सहरसा जिले के डरहरा ओपी थाना क्षेत्र के बड़हरा गांव में पहुंची.

इस अनोखी शादी को देखने के लिए स्थानीय लोग कोसी के घाट पर उमड़ पड़े. दूल्हे एहसान के पिता कलामुद्दीन ने बताया कि निकाह पहले ही तय कर लिया गया था लेकिन अचानक आई बाढ़ की वजह से इस पर पानी फिरने लगा, फिर घर के लोगों ने काजी साहब के द्वारा तय की गई तारीख को ही सर्वमान्य माना और शादी के लिए घर से निकल पड़े. इस दौरान दूल्हा समेत बारात के लिए 3 नावों का प्रबंध किया गया, इसका खर्च भी दूल्हे पक्ष ने ही उठाया. लड़के के पिता के मुताबिक बारात में तकरीबन 65 लोग शामिल थे. इसके अलावा एक नाव से समान लाया गया था.


इधर दुल्हन सबीना के पिता मोहम्मद बशीर ने बारात के लिए हर संभव व्यवस्था करने की कोशिश की थी, लेकिन इन उम्मीदों पर कोसी की विनाशकारी बाढ़ ने पानी फेर दिया. बारात तो घर पहुंची लेकिन खाना-पीना का उचित प्रबंध नहीं था. घर के चारों और पानी फैला था, इसलिए यहां की स्थिति भी बेहतर नहीं थी. ऐसे में नाव पर ही निकाह भी किया गया और नाव पर ही बारात में आए लोगों को खाने के कुछ पैकेट बांटे गए. खाने का कुछ प्रबंध दूल्हे पक्ष ने भी कर रखा था जिससे बारातियों की भूख मिटी. प्राप्त जानकारी के मुताबिक नवदंपति नाव से ही वापिस आएंगे. इस शादी की चर्चा चारों ओर हो रही है, सभी इस निकाह की कहानी एक दूसरे को बता रहे हैं. ये निकाह भी ऐसा रहा है कि इसके साक्षी बने बाराती और दूल्हे दुल्हन इसे वर्षों याद रखेंगे. वहीं इस विवाह से परिवार के लोग बेहद खुश दिखे.

Share:

Next Post

बच्चों की दक्षता और उनकी समझ के अनुसार शिक्षा की रीति-नीति तय करेगी केंद्र सरकार

Tue Jul 9 , 2024
कक्षा 3, 6 और 9 के विद्यार्थियों से नेशनल अचीवमेंट सर्वे इंदौर कमलेश्वरसिंह सिसौदिया। स्कूूली विद्यार्थियों (school students) में शिक्षा के नए आयामों को जोडऩे और उनकी समझ के अनुसार शिक्षा व्यवस्था (Education system) में बदलाव करने के लिए राष्ट्रीय स्तर पर नेशनल अचीवमेंट सर्वे किया जा रहा है। इसके लिए केंद्र सरकार (Central government) […]