जीवनशैली स्‍वास्‍थ्‍य

कोरोना वायरस के समय में ये गलतियांं करना हो सकता है खतरनाक

कोरोना वायरस की तीसरी लहर के चलते रोजाना संक्रमितों की संख्या में बड़ी तेजी से इजाफा हो रहा है। विशेषज्ञों की मानें तो लॉकडाउन में ढील के बाद कुछ लोग लापरवाही बरतने लगे हैं। इससे कोरोना वायरस के मरीजों की संख्या में इजाफा हो रहा है। वहीं, कई राज्यों में लॉकडाउन की स्थिति पैदा हो गई है। जबकि, लॉकडाउन हटने के बाद लोग जीविकोपार्जन के लिए घर से बाहर निकल रहे हैं। इस दौरान लोग आवश्यक सावधानियां बरत रहे हैं। इसके बावजूद लोग कई गलतियां कर रहे हैं। अगर आप भी इन गलतियों को दोहराते हैं, तो आप कोरोना वायरस से संक्रमित हो सकते हैं। अगर आपको पता नहीं है, तो आइए गलतियां के बारे में जानते हैं-

क्वारंटाइन न होना

अगर आप गलती से भी किसी कोरोना वायरस संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आए हैं, तो 14 दिनों तक खुद को जरूर क्वारंटाइन करें। इसके लिए जरूरी नहीं है कि आप में कोरोना वायरस के लक्षण दिखाई देते हैं। यह आपके प्रियजनों के लिए बेहतर होगा। कई लोगों में कोरोना वायरस अलक्षणी देखे गए हैं। अतः आवश्यक सावधानियां जरूर बरतें।

मास्क वॉल्व को खोलकर रखना

कई लोग मास्क पहनते अक्सर यह गलती दोहराते हैं। वे मास्क वॉल्व को खोलकर रखते हैं। इससे संक्रमण का खतरा बढ़ जाता है। मास्क पहनकर सांस लेने में तकलीफ नहीं होती है। ऐसे में आप कभी भी वॉल्व खोलकर न रखें।

साथ में खाना

कोरोना काल में शारीरिक दूरी जरूरी है। इसके बावजूद लोग दो गज की दूरी का पालन नहीं करते हैं। अगर आप अपने दोस्तों अथवा रिश्तेदारों के साथ लंच अथवा डिनर के लिए जाते हैं, तो खाने के समय 6 फ़ीट की दूरी जरूर मेंटेन करें।

लक्षण दिखने पर डॉक्टर से सलाह न लेना

बुखार आने पर थर्मामीटर से जरूर जांच करें। जबकि चक्कर आना, सूंघने की क्षमता खो जाने, कमजोरी, सर्दी और खांसी होने पर डॉक्टर से जरूर सलाह लें। कुछ लोगों को संक्रमण के बावजूद बुखार नहीं आता है।

केवल मास्क पहनना

कोरोना वायरस को लेकर यह धारणा बन चुकी है कि मास्क पहनने से वायरस का खतरा कम हो जाता है। वहीं, कोरोना वायरस से बचने के लिए आवश्यक सावधानियां जरूरी है। जब कभी आप अनचाही वस्तुओं को छूते हैं, तो अपने हाथों को जरूर धोएं। आप चाहे तो सैनिटाइज़ भी कर सकते हैं। खांसने और छींकने के समय अपने मुंह को रुमाल से जरूर ढंकें।

नोट- उपरोक्‍त दी गई जानकारी व सुझाव सामान्‍य जानकारी के लिए हैं इन्‍हें किसी प्रोफेशनल डॉक्‍टर की सलाह के रूप में न लें । कोई भी बीमारी या संक्रमण की स्थिति हो तो डॉक्‍टर को अवश्‍य दिखायें ।

Next Post

देश की राजधानी की सेहत खराब, खतरनाक स्तर तक पहुंची दिल्‍ली की हवा

Mon Nov 23 , 2020
नई दिल्‍ली । देश की राजधानी दिल्‍ली (capital Delhi) में सर्दियां शुरु होते ही प्रदूषण स्तर काफी बढ़ने लगता है। शनिवार और रविवार को पहले के मुकाबले दिल्ली की हवा में सुधार देखा गया था। लेकिन सोमवार से दिल्ली का प्रदूषण स्तर फिर से बढ़ा है। भारतीय मौसम विभाग (IMD) के अनुसार राष्ट्रीय राजधानी में […]