बड़ी खबर

विपक्षी दलों की अगली बैठक कब होगी, CM ममता ने दिया यह जवाब; नूह हिंसा पर भाजपा को घेरा

कोलकाता। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने विपक्षी एकता की अगली बैठक अगस्त के अंत में होने की संभावनाएं व्यक्त की है। इसके अलावा तृणमूल कांग्रेस प्रमुख ममता ने एक बार फिर भाजपा पर निशाना साधा है। उन्होंने कहा कि बंगाल में अगर छोटा सा मामला भी होता है तो वह सिर्फ भाजपा के उकसावे और अत्याचार के कारण होता है। भाजपा वाले बाहर से गुंडों को काम पर रखते हैं। वे गेम प्लान तैयार करते हैं।

टीएमसी अध्यक्ष ममता बनर्जी ने बुधवार को एक साक्षात्कार में विपक्षी एकता की तीसरी बैठक की तारीखों को लेकर कहा कि विपक्षी गठबंधन ‘इंडिया’ की अगली बैठक 31 अगस्त और 1 सितंबर को होने की संभावना है। इसके अलावा, कई मुद्दों पर पीएम मोदी की चुप्पी की आलोचना करते हुए सीएम ममता ने कहा कि आप जब बाहर जाते हैं तो वहां कहते हैं कि आप हम सभी के लिए हैं। लेकिन आप यहां कुछ नहीं बोलते।

केंद्रीय एजेंसियों द्वारा की जा रही कार्रवाई पर उन्होंने कहा कि मुझे लोकतंत्र पर कुछ नहीं कहना है। ईडी-सीबीआई का लगातार इस्तेमाल किया जा रहा है। ऐसा कोई कानून नहीं है कि वे किसी को सीधे जेल में डाल सकते हैं। आखिर कबतक यह सब चलने वाला है? यह तानाशाही है। झूठ लंबे समय तक नहीं चलता, हम लड़ेंगे।

ममता बनर्जी ने नूह हिंसा पर कहा कि सीएम खट्टर बोल रहे हैं कि राज्य प्रत्येक व्यक्ति को सुरक्षा प्रदान कर सके, यह सच है क्योंकि राज्य सरकार हर व्यक्ति को सुरक्षा नहीं दे सकती। लेकिन सरकार को जाति-पंथ के नाम पर लोगों को भड़काना नहीं चाहिए। भाजपा देश और राज्य को विभाजित कर रही है। सरकार को राज्य में शांति स्थापित करने की कोशिश करने चाहिए।

छह अगस्त को टीएमसी का प्रदर्शन
ममता बनर्जी का कहना है कि टीएमसी नेता छह अगस्त को सड़क पर उतरेंगे। नेता राज्य के प्रति केंद्र द्वारा किए जा रहे भेदभाव के खिलाफ धरना प्रदर्शन करेंगे। केंद्र के भेदभाव और दलितों, आम लोगों, अल्पसंख्यकों और आदिवासियों पर हो रहे अत्याचार के खिलाफ छह अगस्त को शाम चार बजे तक प्रदेश के हर ब्लॉक और हर वार्ड में प्रदर्शन करेंगे।

Share:

Next Post

खुलासा: 180 करोड़ के कर्ज में डूबे थे आर्ट डायरेक्टर नितिन देसाई

Thu Aug 3 , 2023
मुंबई (Mumbai)। बॉलीवुड के मशहूर जाने-माने फिल्म कला निर्देशक नितिन चंद्रकांत देसाई (Nitin Chandrakant Desai) की 58 साल की उम्र में मौत हो गई। नितिन देसाई ने अपने वित्तीय ऋणदाता (financial creditor) को 252 करोड़ रुपये के कर्ज भुगतान में चूक की थी और पिछले सप्ताह ही एक दिवाला अदालत ने उनके खिलाफ दिवालिया (bankrupt) […]