उज्‍जैन न्यूज़ (Ujjain News)

12 करोड़ श्रद्धालु आएँगे सिंहस्थ में… अभी से अधिकारियों को अलर्ट किया

  • कान्ह नदी सफाई के लिए बनाई 99 करोड़ की बोगस योजना पर भड़के मुख्यमंत्री, 9 स्टॉपडेम बनेंगे, जिससे शिप्रा में नालों का गंदा पानी नहीं जाएगा, संभागायुक्त और कलेक्टर को दिए कार्ययोजना बनाने के निर्देश

उज्जैन। मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने रविवार को आगामी सिंहस्थ 2028 की तैयारियों को लेकर इंदौर, उज्जैन और देवास के अधिकारियों की बैठक ली। इसमें उन्होंने अधिकारियों को सिंहस्थ 2028 की तैयारियों के निर्देश दिए और कहा कि आयोजन में लगभग 12 करोड़ श्रद्धालुओं के आने का अनुमान है। इसके हिसाब से कार्य किए जाए और योजना बनाई जाए। उन्होंने एयरपोर्ट से लेकर सड़कों, पीने के पानी श्रद्धालुओं के लिए स्नान की सुविधा सहित अन्य मुद्दों पर चर्चा की। इंदौर की कान्ह नदी का गंदा पानी क्षिप्रा में ना मिले इसको रोकने के लिए बनाई 99 करोड़ की बोगस योजना पर मुख्यमंत्री भड़के भी और दो टूक कहा कि एक बार में ऐसी योजनाएं बनाएं जिससे क्षिप्रा का पानी पीने और आचमन योग्य हो सके। गलत प्लान करने वाले अधिकारियों पर कार्रवाई की जाएगी।



मुख्यमंत्री ने इंदौर से आ रही कान्ह नदी के दूषित पानी को रोकने के लिए इंदौर में ही 9 स्टॉप डेम बनाने का कहा, ताकि क्षिप्रा नदी में नालों का गंदा पानी ना मिले। इंदौर-उज्जैन के संभागायुक्त और कलेक्टर को सिंहस्थ के मद्देनजर कार्य योजनाएं बनाने के निर्देश भी दिए। मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने इंदौर एवं उज्जैन संभाग के संभागायुक्तों एवं कलेक्टर्स को कार्ययोजनाएं बनाने के निर्देश दिये। मुख्यमंत्री ने कहा कि आवश्यकता पडऩे पर महाकाल लोक फेस-3 के कार्यों की भी शुरूआत की जायेगी। उन्होंने क्षिप्रा के उद्गम से लेकर समाप्ति स्थल तक घाटों पर सभी व्यवस्थाएं सुनिश्चित करने की विस्तृत कार्ययोजनाएं बनाने का निर्देश दिये। मुख्यमंत्री डॉ. मोहन यादव ने कहा कि देश का सबसे बड़ा कुंभ मेला सिहस्थ 12 वर्ष में एक बार उज्जैन में आयोजित होता है जब सिंह राशि में बृहस्पति प्रवेश करते हैं। मेले में साधु, संत,  महामंडलेश्वर, गणमान्य नागरिक एवं आम श्रद्धालु बड़ी संख्या में शामिल होते हैं।  सिंहस्थ का आयोजन न केवल उज्जैन बल्कि देश के लिए एक गौरवशाली क्षण होता है। मुख्यमंत्री डॉ. यादव ने कहा कि उज्जैन के अलावा  सिंहस्थ मेले का इंदौर,  देवास,  ओंकारेश्वर दादा धुनी  वाले, पशुपतिनाथ मंदिर,  बगलामुखी मंदिर में भी सिंहस्थ मेले का विस्तार रहता है। सभी जगह आम जनता की सहभागिता रहती है।

Share:

Next Post

इंदौर: सुपर कॉरिडोर इंफोसिस कैंपस में तेंदुआ के घुसने की खबर मिलते ही वन विभाग की टीम हुई सक्रिय

Tue Jan 16 , 2024
इंदौर। सुपर कॉरिडोर (super corridor) पर आई टी कम्पनी (IT Company) के परिसर में तेंदुए (leopard) होने की खबर के बाद वनविभाग (Forest department) की सर्चिंग (search) और रेस्क्यू टीम (rescue team) मौके पर 2 घण्टे से मौजूद है। खबर लिखे जाने तक वन विभाग का सर्चिंग ऑपरेशन जारी है। वन विभाग के अधिकारियों के […]