इंदौर मध्‍यप्रदेश मनोरंजन

इंदौर में फिल्म प्रमोशन में बोले अक्षय कुमार: यह फिल्म मेरे दिल के सबसे करीब

  • रक्षाबंधन फिल्म के प्रमोशन के लिए अपनी रील बहनों के साथ इंदौर आए अभिनेता

इंदौर। अक्षय कुमार (Akshay Kumar) अपनी फिल्म रक्षाबंधन के प्रमोशन (promotion of rakshabandhan) के लिए शुक्रवार को इंदौर आए। अक्षय की फिल्म रक्षाबंधन 11 अगस्त को रिलीज होने वाली है। उन्होंने डेली कॉलेज (Daily College) में स्कूली बच्चों से बातचीत की। उनके साथ डांस किया। इस दौरान मीडिया से बातचीत में अक्षय कुमार ने कहा की, मैंने अब तक जितनी भी फिल्मों में काम किया है। यह फिल्म उन सभी में से मेरे दिल के सबसे ज्यादा करीब है, क्योंकि इसमें मैं एक ऐसे भाई का किरदार निभा रहा हूं, जो अपनी बहनों के प्रति रिस्पांसिबल है। समाज में दहेज जैसी प्रथा, जिसे कहीं कहीं तोहफा भी कहा जाता है, अगर इस फिल्म के बाद 5 फ़ीसदी भी कहीं बदलाव आया, तो मैं खुद को बेहद सफल मानूंगा।

अक्षय कुमार वेलोसिटी में मिराज सिनेमा में प्रेस कॉन्फ्रेंस को संबोधित कर रहे थे। उनके साथ फिल्म में उनकी बहनों का किरदार निभा रही चारों अभिनेत्रियां और निर्देशक आनंद एल राय भी मौजूद थे। दिए गए समय से काफी देर से पहुंचे अक्षय कुमार ने चंद मिनटों में चंद ही सवालों के जवाब दिए।

वहीं, कुछ सवालों के जवाब देने से वे बचे भी। अक्षय कुमार ने कहा कि उनकी फिल्म के सामने आ रही आमिर खान की लालसिंह चड्ढा को वे प्रतियोगी फिल्म के तौर पर नहीं मानते हैं, क्योंकि दर्शक कंटेंट देखकर और अपनी पसंद के मुताबिक फिल्म देखने जाता है। आनंद एल राय ने भी फिल्म को लेकर अपने अनुभव साझा किए। उन्होंने कहा कि कोविड के दौरान इस फिल्म का कांसेप्ट दिमाग में आया था और पहला ख्याल अक्षय का ही आया।

अक्षय ने भी कांसेप्ट सुनकर इस फिल्म के लिए हां कर दी। प्रमोशन के लिए पहुंची चारों अभिनेत्रियों ने भी अपने अनुभव साझा करते हुए अक्षय कुमार के सपोर्टिव नेचर और मजाकिया अंदाज की बातें साझा की। निर्देशक और सभी कलाकार 56 दुकान के साथ ही डेली कॉलेज भी प्रमोशन के लिए पहुंचे।

Share:

Next Post

लोगों ने सामूहिक खेती और व्यवसाय से बदल दी गांव की तस्वीर

Sat Aug 6 , 2022
– अनिल लगभग 15-20 वर्षों तक नक्सलवाद की जद में रहा तोरपा प्रखंड के गुम्पिला गांव के लोग काफी लंबे अरसे से गरीबी, बेरेजगारी, बिजली पानी, सड़क, चिकित्सा, सिंचाई जैसी बुनियाद समस्याओं से झेल रहे हैं लेकिन अब इन समस्याओं से उबरने की राह गांव वालों ने स्वयं ढूंढ ली है। ग्रामसभा के माध्यम से […]

Leave a Reply

Your email address will not be published.