बड़ी खबर व्‍यापार

एफडीआई चालू वित्त वर्ष के अप्रैल-अक्टूबर के दौरान 35.33 अरब डॉलर रहा

मुम्बई। उद्योग एवं आंतरिक व्यापार संवर्द्धन विभाग (डीपीआईआईटी) द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक प्रत्यक्ष विदेशी निवेश (एफडीआई) इक्विटी प्रवाह चालू वित्त वर्ष में अप्रैल-अक्टूबर के दौरान 21 प्रतिशत बढ़कर 35.33 अरब डॉलर रहा। डीपीआईआईटी के आंकड़ों के अनुसार एक साल पहले 2019-20 की इसी अवधि में एफडीआई इक्विटी प्रवाह 29.31 अरब डॉलर था।

डीपीआईआईटी ने 2020 की उपलब्धियों को रेखांकित करते हुए एक बयान में कहा कि एफडीआई इक्विटी प्रवाह अप्रैल 2020 से अक्टूबर 2020 के दौरान 21 प्रतिशत बढ़कर 35.33 अरब डॉलर रहा। अधिकतम विदेशी पूंजी प्रवाह कंप्यूटर सॉफ्टवेयर और हार्डवेयर सेवाएं, व्यापार, रसायन और वाहन में रहा। देश में सर्वाधिक निवेश सिंगापुर, अमेरिका, मॉरीशस, नीदरलैंड, ब्रिटेन, फ्रांस और जापान से आया। डीपीआईआईटी ने 2020 में आये 26 एफडीआई आवेदनों का निपटान किया है।

डीपीआईआईटी ने कहा कि 554.73 एकड़ क्षेत्र के 84 भूखंड कंपनियों को आबंटित किये गये और इसमें कुल 16,100 करोड़ रुपये का निवेश आया। इन निवेशकों में हायोसुंग (दक्षिण कोरिया), एनएलएमके (रूस), हायर (चीन), टाटा केमिकल्स और अमूल शामिल हैं। (एजेंसी, हि.स.)

 

Next Post

अपने घर का सपना साकार करने में अहमदाबाद, पुणे और चेन्नई सबसे आगे, मायानगरी पहुंच से दूर

Fri Jan 1 , 2021
नई दिल्ली। ड्रीम होम का सपना साकार करने में गुजरात का अहमदाबाद देश में सबसे किफायती हाउसिंग बाजार है, जिसका एफोर्डेबिलिटी रेशियो 2020 में 24 फीसदी रहा। इसके बाद 26 फीसदी के साथ पुणे और चेन्नई दूसरे और तीसरे नम्बर पर हैं। प्रॉपर्टी के बारे में परामर्श देने वाली कंपनी नाइट फ्रैंक इंडिया ने अपनी […]