बड़ी खबर

Corona : मृतकों के अंतिम संस्कार के लिए जगह की हुई किल्लत, HC ने जारी किया नोटिस

नई दिल्ली। दिल्ली (Delhi) में कोरोना (Coronavirus) महामारी का प्रकोप बढ़ने की वजह से मरने वालों की संख्या में बेतहाशा बढ़ोतरी हो गई है। इसके चलते दिल्ली में कोरोना मृतकों के अंतिम संस्कार के लिए लोगों को जगह भी नहीं मिल पा रही है।

अंतिम संस्कार के लिए नहीं मिल रही जगह
जानकारी के मुताबिक कोरोना से मरने वाले अपने परिजनों के अंतिम संस्कार के लिए लोगों को श्मसान घाटों और कब्रिस्तानों में जगह नहीं मिल पा रही है। कई जगह तो मृतकों के अंतिम संस्कार के लिए 2-3 दिन लग रहे हैं। इस स्थिति को चिंताजनक बताते हुए दिल्ली हाई कोर्ट (Delhi High Court) में एक याचिका दायर की गई है।

हाई कोर्ट ने जारी किया नोटिस
याचिका में मांग की गई है कि दिल्ली (Delhi) सरकार और तीनों नगर निगमों को आदेश दिया जाए कि शहर में मृतकों के अंतिम संस्कार के लिए जगह बढाई जाएं। हाई कोर्ट (Delhi High Court) ने याचिका का संज्ञान लेते हुए सभी पक्षों को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है। बताते चलें कि दिल्ली में कोरोना महामारी अपने चरम पर चल रही है। हालत ये है कि शहर में सभी अस्पतालों में बेड फुल हैं और लोगों को सिफारिशों के बावजूद किसी अस्पताल में दाखिला नहीं मिल रहा।

दिल्ली में कोरोना से हालात खराब
ऑक्सीजन की किल्लत ने दिल्ली (Delhi) में हालात और खराब कर दिए हैं। दिल्ली के कई अस्पतालों में ऑक्सीजन की कमी से अब तक दर्जनों मरीज दम तोड़ चुके हैं। वहीं रेमडेसिविर इंजेक्शन की भी काफी कमी चल रही है। इसके चलते दिल्ली में कोरोना से मरने वालों की संख्या दिनोंदिन बढ़ती जा रही है।

इसी बीच दिल्ली (Delhi) में ऑक्सीजन की किल्लत पर दायर एक याचिका का हाई कोर्ट (Delhi High Court) पहले ही संज्ञान ले चुका है। उस पर अब अदालत की दूसरी पीठ सुनवाई कर रही है। कोर्ट के नोटिस पर दिल्ली सरकार ने कहा है कि उसने दिल्ली में ऑक्सीजन सप्लाई और इलाज में सहयोग के लिए सेना की मदद मांगी है। इस संबंध में रक्षा मंत्रालय को पत्र भी भेजा गया है।

Next Post

सुनी सुनाई : मंगलवार 04 मई 2021

Tue May 4 , 2021
सबसे महंगा चुनाव मप्र में दमोह विधानसभा का उपचुनाव कांग्रेस के लिए अभी तक का सबसे महंगा चुनाव साबित हुआ है। बेशक कांग्रेस ने यह सीट जीत ली, लेकिन इसकी बड़ी कीमत अपने दो बड़े नेता और कुछ कार्यकर्ताओं को गंवाकर देनी पड़ी है। राजधानी भोपाल के एक पत्रकार भी इस चुनाव की भेंट चढ़ […]