टेक्‍नोलॉजी देश

वायरस को मारने IIT दिल्‍ली ने बनाया ‘नैनोशॉट’ स्‍प्रे

नई दि‍ल्‍ली। आईआईटी दिल्ली (IIT Delhi) के स्‍टार्टअप (Startup) के तौर पर एक ऐसा स्‍प्रे (Spray) विकसित किया गया है जो सतह पर 96 घंटे यानी चार दिनों तक प्रभावी रहता है. ये स्‍प्रे न केवल वायरस (Virus) और बैक्टीरिया (Bacteria) को मारने के लिए प्रभावी है, बल्कि जैविक और एल्‍कोहल फ्री (Organic and alcohol free) भी है. यह फर्श या कपड़े या बर्तन को छोड़कर सभी प्रकार की सतहों को साफ कर सकता है.


यह एक ऐसा उत्पाद है जिसे आईआईटी-दिल्ली के स्टार्ट-अप रामजा जेनोसेंसर(IIT-Delhi start-up Ramja Genosensor) ने बनाने का दावा किया है. NANOSHOT स्‍प्रे को तैयार करने वाली टीम का दावा है कि ये बहुउद्देशीय कार्बनिक हाइब्र‍िड सरफेस कीटाणुनाशक स्प्रे का एक शॉट चार दिनों के लिए प्रभावी होगा.
रमजा जेनोसेंसर की संस्थापक डॉ. पूजा गोस्वामी कहती हैं कि यह टेस्‍टेड और प्रमाणित हो गया है कि NANOSHOT सतह पर इसे एप्‍लाई करने के 30 सेकंड के भीतर बैक्‍टीरिया व वायरस को मारना शुरू होते हैं. इसका श‍िकार वायरस, बैक्टीरिया, कवक सभी होते हैं और 10 मिनट में 99.9% रोगाणुओं को यह खत्‍म कर सकता है.
उन्होंने कहा कि ये किसी भी तरह से टॉक्‍स‍िक नहीं है, यह पूरी तरह से नॉन टॉक्‍स‍िक है. मान्यता प्राप्त प्रयोगशाला NABL में परीक्षण में पाया गया कि इससे किसी तरह की कोई एलर्जी या चकत्ते या जलन नहीं देखी गई. यह एक विभिन्न सतहों के लिए तीन अलग-अलग स्प्रे पैक में आता है. ये स्प्रे किट कार के डैशबोर्ड, कार की सीटें, टैबलेट, पर्स, किताबें, सामान, लिफ्ट कंट्रोल पैनल, टीवी रिमूव, माइक्रोवेव और अन्य उत्पादों पर यूज हो सकती है.
ये शॉटगन स्प्रे रिसेप्शन, सबवे, एस्केलेटर, लिफ्ट, सोफा, डाइनिंग एरिया, मीटिंग हॉल, मेट्रो, बस, स्कूल, वॉशरूम, रेस्तरां, ट्रेन, रेलवे स्टेशन, एयरपोर्ट, और सुरक्षा जांच जैसे बड़े क्षेत्रों के लिए उपयुक्त है. एक नियमित स्प्रे भी है जो कि रसोई के स्लैब, डाइनिंग टेबल, बैग, बोतल, फ्रिज की सतहों, कुर्सियों, चाबियों, शो केस, कांच की वस्तुओं, आदि और अन्य समान सतहों पर उपयोग करने के लिए उपयोगी और सरल है.
डॉ. गोस्वामी ने बताया कि जर्म-मुक्त सतहों और उचित स्वच्छता हमारी प्राथमिकता है. हम इनडोर परिवेश में पर्याप्त स्वच्छता सुनिश्चित करने के लिए अधिक लागत प्रभावी और एक स्वस्थ समाधान विकसित करने पर काम कर रहे हैं. ये बैक्‍टीरिया पर 99.9% की क्‍लैरिटी के साथ काम करता है और चार दिनों तक प्रभावी रहता है.

Next Post

मप्र के मंत्री ने खोला कोरोना अस्‍पताल, डॉक्‍टरों को देंगे 2 लाख रूपए वेतन, निकाली वैकेंसी

Sat Apr 24 , 2021
भोपाल। मध्य प्रदेश(Madhya Pradesh) के सागर (Sagar) जिले में लगातार कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) मरीज मिलने से स्वास्थ्य व्यवस्था चरमरा गई है. परेशान लोगों को इस संकटकाल में बेहतर इलाज मिले इसके लिए पीडब्ल्यूडी मंत्री गोपाल भार्गव (PWD Minister Gopal Bhargava)ने अपने गृह नगर गढ़ाकोटा (Garhkota) में 70 बेड का कोविड केयर सेंटर शुरू (70 […]