बड़ी खबर

जावड़ेकर का बड़ा आरोप, कहा- महाराष्ट्र सरकार ने 56% वैक्सीन का उपयोग नहीं किया

मुंबई। केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर (Prakash Javadekar) ने महाराष्ट्र सरकार (Maharashtra Government) पर कोविड-19 वैक्सीन (Covid-19 Vaccine) को लेकर आरोप लगाए हैं। जावड़ेकर ने सवाल किया है कि राज्य को 54 लाख वैक्सीन भेजी गईं थीं, जिनमें से केवल 23 लाख का ही इस्तेमाल किया गया है। महाराष्ट्र कोरोना वायरस महामारी से देश का सबसे प्रभावित राज्य है। हाल ही में केंद्रीय स्वास्थ्य सचिव राजेश भूषण ने भी राज्य के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे (Uddhav Thackeray) को पत्र लिखकर चेतावनी दी थी।

बुधवार को केंद्रीय मंत्री जावड़ेकर ने महाराष्ट्र सरकार पर वैक्सीन का इस्तेमाल नहीं करने के आरोप लगाए हैं। उन्होंने ट्वीट किया ‘महाराष्ट्र सरकार ने राज्य को भेजी 54 लाख वैक्सीन में से 12 मार्च तक केवल 23 लाख का ही इस्तेमाल किया था। 56 फीसदी टीकों का इस्तेमाल ही नहीं हुआ। अब शिवसेना सांसद राज्य के लिए और वैक्सीन मांग रहे हैं।’ इस दौरान उन्होंने राज्य सरकार पर कोरोना वायरस को काबू करने के इंतजामों पर सवाल उठाए हैं। उन्होंने कहा ‘पहले महामारी में अव्यवस्था और अब वैक्सीन लगाने के मामले में खराब प्रदर्शन।’

बीते कुछ हफ्तों से महाराष्ट्र समेत देश के कई राज्यों में कोरोना वायरस के मामलों में इजाफा हो रहा है। पीआईबी के ट्वीट के अनुसार, पांच राज्य- महाराष्ट्र, पंजाब, कर्नाटक, गुजरात और तमिलनाडु में एक्टिव मामले बढ़ रहे हैं। ट्वीट में जानकारी दी गई है कि दुनिया की सबसे बड़ी वैक्सीन ड्राइव में 3.5 करोड़ से ज्यादा डोज दिए जा चुके हैं।

हाल ही में मिले आंकड़ों के अनुसार, बीते 10 दिनों में देश के 19 जिलों में सबसे ज्यादा मामले दर्ज किए गए हैं। इनमें से 15 जिले अकेले महाराष्ट्र से हैं। सूची में पहले नंबर पर पुणे, दूसरे पर नागपुर और तीसरे नंबर पर मुंबई है। इसके अलावा ठाणे और नाशिक समेत कई जिलों का नाम शामिल है। महाराष्ट्र में कोरोना वायरस संक्रमितों का आंकड़ा 23 लाख 47 हजार 328 पर पहुंच गया है। राज्य में कुल 1 लाख 38 हजार 813 एक्टिव मामले हैं। ये आंकड़े covid19india.org से लिए गए हैं।

Next Post

Petrol-Diesel की Prices में 18वें दिन भी नहीं हुआ बदलाव

Wed Mar 17 , 2021
नई दिल्ली। पेट्रोल-डीजल (Petrol-Diesel) की कीमतों (Prices) में लगातार 18वें दिन कोई इजाफा नहीं देखने को मिला है. देश की राजधानी समेत सभी महानगरों में भाव स्थिर बने हुए हैं. वहीं, इंटरनेशनल मार्केट में एक तरफ कच्चे तेल की कीमतों में भी स्थिरता देखने को मिल रही है. विदेशों मे कच्चे तेल में नरमी आने […]