क्राइम जबलपुर न्यूज़ (Jabalpur News) मध्‍यप्रदेश

मक्का नगर में लगी भीषण आग, मां-बेटी की मौत, चार घायल

जबलपुर (Jabalpur)। हनुमानताल थानान्तर्गत मक्का नगर (Mecca city under Hanumanatal police station) की गली न. 7 में स्थित एक मकान में मंगलवार को अचानक आग (sudden fire) लग गई। इस हादसे में 6 साल की बच्ची और उसकी 25 वर्षीय मां की दम घुटने से मौके पर मौत हो गई। आग लगने के बाद मौके पर मची अफरातफरी (pandemonium) के बाद कुछ साहसी युवकों और पुलिस ने चार लोगों को आग व धुआं के बीच से घायल अवस्था में बाहर निकाला।


हनुमानताल थाना प्रभारी उमेश गोल्हानी (Hanumantal police station in-charge Umesh Golhani) ने बताया कि आज मंगलवार को सुबह 11.00 बजे क्षेत्र की सघन बस्ती मक्का नगर गली नंबर-7 में अरशद मंसूरी का घर है, जिसमें गद्दा भरने का कार्य होता है। गोदाम में कार्य करने वाले वहीं निवासी भी करते हैं। जिसमें एकाएक गोदाम में रखे गद्दों में आग लग गई। आग भड़कने के समय गोदाम में एक छोटी बच्ची सहित करीब आधा दर्जन लोग उसी घर में थे। गद्दों में लगी आग से निकले धुआं के कारण 6 साल की बच्ची हिना और उसकी मां नगीना बी (25) पत्नी शहबाज की दम घुटने से मौके पर मौत हो गई। वहीं सांस लेने में हुई तकलीफ के बाद एक महिला सहित चार लोगों को मूर्छित अवस्था में अस्पताल में भर्ती कराया गया है। भयानक आग की सूचना मिलने के बाद नगर निगम का फायर बिग्रेड अमला, सीएसपी अखिलेश गौर सहित 3 थानों की पुलिस टीम मौके पर पहुंची। दमकल वाहनों को भी घटनास्थल तक पहुंचने में भारी मशक्कत का सामना करना पड़ा। आग संभवत: शार्ट सर्किट के कारण लगने की बात सामने आई है, जिसकी जांच की जा रही है।

 

वहीं हादसे की जानकारी मिलने के बाद महापौर जगत बहादुर सिंह अन्नू और पूर्व मंत्री क्षेत्रीय विधायक लखन घनघोरिया मौके पर पहुंचे और उन्होने पीड़ित परिवारों को ढांढस बधाते हुए आवश्यक मदद करने की बात कही है। घायलों को एम्बूलेंस से मेडिकल कालेज अस्पताल में भर्ती कराया गया है, जहां एक युवक की हालत नाजुक बताई जा रही है।

 

 

Share:

Next Post

अमेरिका की हिंसामुक्ति कैसे हो?

Wed Jan 25 , 2023
– डॉ. वेदप्रताप वैदिक अमेरिका दुनिया का सबसे संपन्न और शक्तिशाली देश है लेकिन यह भी सच है कि वह सबसे बड़ा हिंसक देश भी है। जितनी हिंसा अमेरिका में होती है, दुनिया के किसी देश में नहीं होती। वैसे तो अमेरिका में ईसाई धर्म को माननेवालों की संख्या सबसे ज्यादा है लेकिन क्या वजह […]