‘तांडव’ को लेकर हो रहे विवाद पर इस अभिनेता ने कहा- हमारे भगवान को तो…

मुंबई। तांडव वेब सीरीज को लेकर विवाद थमने का नाम नहीं ले रहा है। भले ही सीरीज के मेकर्स में माफी मांग ली है लेकिन सीरीज को लेकर विरोध जारी है। अब इस सीरीज को लेकर एक्टर और सांसद रवि किशन ने अपनी प्रतिक्रिया दी है। उन्होंने कहा कि भगवान के लिए हमारे भगवान को छोड़ दो। इससे हमें बहुत दुख होता है। मैं हाथ जोड़कर निवेदन करता हूं कि अपने धंधे में करोड़ों रुपये कमाने के लिए कृपया हमारे भगवान को ओछा ना दिखाएं।

सांसद रवि किशन मुंबई में आयोजित उत्तर प्रदेश स्थापना दिवस समारोह में शामिल हुए थे। इस दौरान उन्होंने सीरीज को लेकर अपनी इन बातों को रखी। रवि किशन ने कहा कि जो मेकर्स धर्म को लेकर मजाक बना रहे हैं वह गलत है। मुझे पता है कि सभी मेकर्स ऐसे नहीं है लेकिन कुछ लोग हिंदू धर्म को लेकर अपनी कुंठा बाहर निकालते रहते हैं। जो निर्माता धर्म और हिंदू का मजाक उड़ा रहे हैं वो अपने धंधे के लिए ऐसा कर रहे हैं।

‘तांडव’ को लेकर विवाद इतना बढ़ गया है कि उत्तर प्रदेश पुलिस सीरीज की पूरी टीम से पूछताछ करने के लिए 20 जनवरी से मुंबई पहुंची हुई है। पुलिस ने इस मामले में डायरेक्टर अली अब्बास जफर, लेखक गौरव सोलंकी और प्रोड्यूसर हिमांशु मेहरा का बयान दर्ज कर लिया है।

तांडव वेब सीरीज के पहले ही एपिसोड में एक्टर जीशान अयूब भगवान शिव के कैरेक्टर में दिखते हैं। यह यूनिवर्सिटी के थिएटर का एक सीन है, जिसमें मंच संचालक उनसे पूछता है कि भोलेनाथ कुछ करिए। रामजी के फॉलोअर्स तो लगातार सोशल मीडिया पर बढ़ते ही जा रहे हैं। इस पर जीशान अयूब कहते हैं, क्या करूं अपनी प्रोफाइल पिक चेंज कर दूं। इस पर मंच संचालक कहता है कि इससे कुछ नहीं होगा। आप कुछ अलग करिए। इस सीन को लेकर पूरा विवाद हो रहा है। बीजेपी के कई नेता इस सीरीज को बैन करने तक की मांग भी कर चुके हैं।

Next Post

PNB के ग्राहक 31 मार्च तक ले लें नया IFSC कोड और चकेबुक वर्ना 1 अप्रैल से...

Sun Jan 24 , 2021
नई दिल्ली। अगर आपका खाता पंजाब नेशनल बैंक यानी पीएनबी में है तो यह खबर आपके लिए बेहद जरूरी है। पीएनबी ने अपने ग्राहकों ने से ट्वीटर के जरिए कहा है कि पुराने आईएफएससी और एमआईसीआर कोड को 1 अप्रैल से बदल दिया जाएगा। 31 मार्च 2021 के बाद से […]

Know and join us

www.agniban.com

month wise news

March 2021
S M T W T F S
 123456
78910111213
14151617181920
21222324252627
28293031