आचंलिक

पंचायत मंत्री सिसोदिया ने भेजी फूलों से सजी Ambulances

  • 3 साल से भटक रही विकलांग गरीब हरिजन महिला को मिला इलाज
  • 41 हजार मरीजों का इलाज करा चुके मंत्री।
  • एमपी में मोदी,शिवराज का सपना साकार कर रहे सिसोदिया

गुना। प्रदेश के पंचायत एवं ग्रामीण विकास विभाग मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया अपनी विधानसभा बमोरी 41 हजार मरीजों का इलाज करा चुके हैं फिर चाहे कोरोनाकाल हो चाहे दुर्घटना या गंभीर बीमारी पंचायत मंत्री हमेशा गरीबों के साथ खड़े रहते हैं। ऐसा ही एक मामला पिछले महीने आया जब बमोरी विधानसभा के गांव डूमेला का नंदू अहिरवार अपनी पत्नी सावित्री को लेकर पंचायत मंत्री महेंद्र सिंह सिसोदिया के बंगले पर पहुंचा और अपनी व्यथा सुनाई ने बताया कि मेरी पत्नी को हड्डी की अर्थराइटिस बीमारी है। जिसकी वजह से कूल्हे की हड्डी खराब हो गई है ।पत्नी चल नहीं पाती पत्नी।
दो छोटे-छोटे बच्चे हैं और मैं मजदूरी करता हूं।पत्नी की उम्र की 32 वर्ष है महिला की हालत देख पंचायत मंत्री ने तत्काल अपने स्वास्थ्य एवं शिक्षा विभाग के विधायक प्रतिनिधि पंकज श्रीवास्तव को आदेश दिया इस महिला का इलाज कराओ यह महिला बिल्कुल स्वस्थ चाहिए। पंचायत मंत्री के आदेश पर महिला को भोपाल लाया गया यहां के गंगा मल्टी स्पेशलिटी हॉस्पिटल में महिला का इलाज शुरू हुआ और बड़ा ऑपरेशन किया गया ऑपरेशन का खर्च 5 से 8 लाख खर्च आता है।इसमें आयुष्मान योजना से कुछ मुख्यमंत्री बीमारी सहायता निधि से उपलब्ध कराया गया । एक महीना रहने की व्यवस्था की गई जब महिला पूरी तरीके से स्वस्थ हो गई और अपने पैरों पर चलने लगी तो उसने अपने संजू भैया को फिर फोन किया और कहां भोपाल से गुना पहुंचने के लिए उनके पास पैसे ही नहीं है। महिला की बात सुन के पंचायत मंत्री ने गुना जिला प्रशासन को आदेश दिया।

महिला को लाने के लिए फूलों से सजी एंबुलेंस भेजी जाए जिला प्रशासन की मदद से फूलों फूलों से सजी एंबुलेंस भोपाल भेजी गई जो महिला और उसके पति को उनके गांव तक लेकर आई महिला और उसका परिवार संजू भैया की तारीफ करते नहीं थक रहा महिला का कहना है कि मेरे सगे भाई से ज्यादा तो मेरा संजू भैया है । जिसने मुझे नई जिंदगी दी है। जो हम गरीबों का इलाज कर आता है वाकई में एक राजनेता अगर सोच ले तो सरकार की चलने वाली योजनाओं का लाभ उन तक आसानी से पहुंचा जा सकता है । जिनकी इन्हें सख्त जरूरत है। पंचायत मंत्री यह इलाज कुछ प्रधानमंत्री आयुष्मान कार्ड कुछ मुख्यमंत्री सहायता निधि और फिर अपने निजी खर्चे पर कराते हैं अपने हर मरीज को निजी अस्पताल भोपाल में भेजते हैं। प्रधानमंत्री और मुख्यमंत्री की इन योजनाओं ने गरीब को नई जिंदगी दी है इस को क्रियान्वित करने का काम पंचायत महेंद्र सिंह सिसोदिया कर रहे हैं।

Share:

Next Post

19 जिलों में तबादले के लिए शिक्षक नहीं करें आवेदन

Tue Oct 4 , 2022
स्थानांतरण के लिए ऑनलाइन आवेदन 7 अक्टूबर तक भोपाल। सरकारी स्कूलों के शिक्षकों के स्थानांतरण के लिए आवेदन प्रक्रिया जारी है। स्थानांतरण प्रक्रिया के लिए 30 सितंबर से शिक्षा पोर्टल खोला गया है। शिक्षक सात अक्टूबर तक आवेदन कर सकेंगे, लेकिन दो दिन से पोर्टल बंद होने से आवेदन नहीं हो रहे हैं। इससे शिक्षक […]