चुनाव 2024 बड़ी खबर

लोकसभा चुनाव के चौथे चरण में होंगे 476 करोड़पति उम्मीदवार, 13 मई को EVM में कैद होगी किस्मत

नई दिल्ली: 13 मई को लोकसभा चुनाव के चौथे चरण का मतदान (Voting for the fourth phase of Lok Sabha elections on May 13) होगा. 10 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के 1,710 उम्मीदवारों की किस्मत (Fate of 1,710 candidates) 13 मई को ईवीएम में कैद हो जाएगी. इनमें से 476 उम्मीदवार यानी 28 फीसदी करोड़पति हैं. जबकि 24 प्रत्याशी ऐसे हैं, जिनकी संपत्ति शून्य है. चौथे चरण में चुनाव लड़ने वाले प्रति उम्मीदवार की औसत संपत्ति 11.72 करोड़ रुपये है. ध्र प्रदेश के गुंटूर से चुनाव लड़ रहे तेलुगु देशम पार्टी के डॉ. चंद्रशेखर पेम्मासानी के पास 5,705 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति है, जबकि दूसरे नंबर पर भारतीय जनता पार्टी के कैंडिडेट कोंडा विश्वेश्वर रेड्डी हैं, उनके पास 4,568 करोड़ रुपये की संपत्ति है. रेड्डी तेलंगाना के चेवेल्ला से चुनावी मैदान में हैं.

एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स द्वारा प्रकाशित एक रिपोर्ट के अनुसार चौथे चरण में भाजपा के 70 उम्मीदवारों में से 65 या 93 प्रतिशत प्रत्याशी करोड़पति हैं. जबकि कांग्रेस के 56 कैंडिडेट करोड़पति हैं. उधर शिवसेना (यूबीटी), बीजू जनता दल (बीजेडी), राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी), टीडीपी, भारत राष्ट्र समिति और शिवसेना ने जितने कैंडिडेट उतारे हैं, वो सभी करोड़पति हैं.

पश्चिम बंगाल की सत्तारूढ़ अखिल भारतीय तृणमूल कांग्रेस के 7 उम्मीदवार करोड़पति हैं और समाजवादी पार्टी के 19 उम्मीदवारों में से 11 (58 प्रतिशत) ने 1 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति घोषित की है. चौथे चरण के भाजपा उम्मीदवारों की औसत संपत्ति 101.77 करोड़ रुपये है, जबकि कांग्रेस के उम्मीदवारों की औसत संपत्ति 23.66 करोड़ रुपये है. चुनावी मैदान में सबसे ज्यादा उम्मीदवार (92) उतारने वाली बहुजन समाज पार्टी के पास सबसे कम औसत घोषित संपत्ति 1.94 करोड़ रुपये है.

लोकसभा चुनाव के चौथे फेज में बीजेपी ने 70 उम्मीदवार उतारे हैं, इनमें से 10 प्रत्याशियों के पास 50 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति है. पार्टी के लगभग 44.3 प्रतिशत उम्मीदवारों ने 1 करोड़ रुपये से 10 करोड़ रुपये के बीच संपत्ति घोषित की. केवल 5 उम्मीदवारों के पास एक करोड़ रुपये से कम की संपत्ति है.


कांग्रेस के 61 उम्मीदवारों में से 7 की संपत्ति 50 करोड़ रुपये से अधिक है. करीब आठ फीसदी के पास एक करोड़ रुपये से कम की संपत्ति है. दूसरी ओर सपा के 19 प्रत्याशियों में से 8 उम्मीदवारों की संपत्ति एक करोड़ से 10 करोड़ रुपये के बीच है. युवजन श्रमिका रायथू कांग्रेस पार्टी के 25 उम्मीदवारों में से केवल 1 उम्मीदवार की संपत्ति 1 करोड़ रुपये से कम है, जबकि छह ऐसे उम्मीदवार हैं जिनकी संपत्ति 50 करोड़ रुपये से ज्यादा है.

1- डॉ. चंद्रशेखर पेम्मासानी: आंध्रप्रदेश की गुंटूर लोकसभा सीट से टीडीपी उम्मीदवार के पास सबसे अधिक घोषित संपत्ति 5,705.5 करोड़ रुपये और देनदारी 1,038 करोड़ रुपये से अधिक है. उनके खिलाफ केवल एक आपराधिक मामला दर्ज है.

2- कोंडा विश्वेश्वर रेड्डी: तेलंगाना के चेवेल्ला से भाजपा उम्मीदवार के पास 4,568 करोड़ रुपये की संपत्ति है. इसके साथ ही वह करोड़पति उम्मीदवारों की लिस्ट में दूसरे नंबर पर हैं. जबकि उनके ऊपर 13 करोड़ रुपये से अधिक की देनदारियां हैं. रेड्डी के खिलाफ चार आपराधिक मामले दर्ज हैं.

3- प्रभाकर रेड्डी वेमिरेड्डी: आंध्र प्रदेश के नेल्लोर से टीडीपी उम्मीदवार ने 716 करोड़ रुपये की संपत्ति और 2 करोड़ रुपये की देनदारी घोषित की. उनके खिलाफ 6 आपराधिक मामले दर्ज हैं.

4- अमृता रॉय: पश्चिम बंगाल के कृष्णानगर निर्वाचन क्षेत्र से भाजपा उम्मीदवार ने 554 करोड़ रुपये की संपत्ति घोषित की है, उनके पास कोई भी देनदारी नहीं है. उसके खिलाफ कोई आपराधिक मामला भी दर्ज नहीं है.

5- सीएम रमेश: आंध्र प्रदेश के अनाकापल्ले से भाजपा उम्मीदवार के पास 497 करोड़ रुपये से अधिक की संपत्ति और 101 करोड़ रुपये की देनदारियां हैं. उनके खिलाफ पांच आपराधिक मामले दर्ज हैं.

Share:

Next Post

गाजा पर बड़े हमले की तैयारी में इजरायल! UN ने दी भयावह और विनाशकारी परिणाम की चेतावनी

Sat May 11 , 2024
नई दिल्ली: गाजा में फिलिस्तीनियों (Palestinians in Gaza) के खिलाफ इजरायली सैन्य कार्रवाई की संयुक्त राष्ट्र (United Nations) ने एक बार फिर कड़ी आलोचना की है. यूएन महासचिव एंटोनियो गुटेरेस (UN Secretary General Antonio Guterres) का कहना है कि गाजा में मारे गए फिलिस्तीनियों की संख्या बहुत चिंताजनक है. केन्या की राजधानी नैरोबी (Nairobi the […]