जीवनशैली स्‍वास्‍थ्‍य

इम्‍युनिटी को मजबूत बनाता है ये स्‍पेशल जूस, जानें फायदें व नुकसान


एलोवेरा को एक सुपरफूड (superfood) की श्रेणी में रखा जाता है, क्योंकि इसके सेवन के कई फायदे होते हैं। इसे घृतकुमारी के नाम से भी जाना जाता है। एलोवेरा का जूस सेहत और खूबसूरती, दोनों के लिए ही बहुत फायदेमंद है।

यह कई प्राकृतिक गुणों से भरपूर होता है, क्योंकि इसमें विटामिन (Vitamins), खनिज और एंटी-ऑक्सिडेंट्स की अच्छी मात्रा होती है। इसका आयुर्वेद (Ayurveda) में बहुत महत्व है। आप जानकर हैरानी होंगे कि इसके गुणों की वजह से मिस्र में एलोवेरा को ‘अमरता प्रदान करने वाला पौधा’ कहा जाता है। आइए आपको एलोवेरा के जूस का सेवन करने से होने वाले फायदों के बारे में बताते हैं।

इम्यूनिटी को बनाए मजबूत
एलोवेरा एक शक्तिशाली एंटी-ऑक्सीडेंट (Anti-oxidant) है, जो कि प्रतिरक्षा तंत्र को मजबूत बनाता है। यह शरीर को बीमारियों से लड़ने की ताकात देता है।

वजन घटाने में कारगर
एलोवेरा में विटामिन-बी (Vitamin B) पाया जाता है, जो कि फैट जलाने में मदद करता है। ये शरीर में जमा फैट को ऊर्जा में परिवर्तित करता है और वजन को कम करता है।


कब्ज में फायदेमंद
एलोवेरा के रस में उच्च मात्रा में फाइबर(fiber) होता है, जो कि पाचन क्रिया को सही रखती है। आप कब्ज के इलाज के लिए एलोवेरा के जूस का सेवन कर सकते हैं।

सूजन और दर्द में राहत
एलोवेरा का रस शरीर में होने वाली सूजन को कम करता है। इसके साथ ही गठिया के दर्द को भी कम करता है।

एलोवेरा के जूस से नुकसान
एलोवेरा का जूस सीमित मात्रा में पीना चाहिए।

इसका ज्यादा इस्तेमाल सेहत को नुकसान पहुंचाता है।

हृदय रोग से पीड़ित मरीजों के लिए हानिकारक हो सकता है।

आपको एलोवेरा के जूस का सेवन करने के लिए डॉक्टर से सलाह लेनी चाहिए।

गर्भवती और स्तनपान कराने वाली महिलाओं और 12 साल से कम उम्र के बच्चों को भी एलोवेरा जूस नहीं पीना चाहिए।

नोट- उपरोक्‍त दी गई जानकारी व सुझाव सामान्‍य सूचना उद्देश्‍य के लिए है इन्‍हें किसी चिकित्‍सक के रूप में न समझें। हम इसकी सत्‍यता की जांच का दावा नही करतें कोई भी सवाल या परेशानी हो तो विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें ।

Next Post

Private Electricity के भरोसे रोशन हो रहा MP

Thu Jun 10 , 2021
16 सरकारी थर्मल पावर प्लांटों में से महज आठ ही चालू भोपाल। मप्र (MP) में अनलॉक (Unlock) होते ही बिजली की मांग बढ़ गई है। लेकिन प्रदेश के सरकारी प्लांट (Government Plant) बंद पड़े हैं और सरकार निजी कंपनियों (Government Private Companies) से महंगी बिजली खरीदकर सप्लाई कर रही है। इससे सरकार को बड़ी चपत […]