चुनाव 2024 भोपाल न्यूज़ (Bhopal News) मध्‍यप्रदेश

अमरवाड़ा उपचुनाव : कांग्रेस के हाथ फिलहाल खाली, क्या गोंडवाना देगी बीजेपी को टक्कर

भोपाल (Bhopal)। लोकसभा चुनाव (Lok Sabha Elections) के बाद मध्य प्रदेश में अमरवाड़ा उपचुनाव (Amarwada by-election) की तैयारियां हो रही हैं. प्रदेश की इस विधानसभा सीट पर हमेशा मुकाबला त्रिकोणीय होता है. इस सीट पर बीजेपी पहले ही कमलेश शाह को अपना प्रत्याशी घोषित कर चुकी है. उसके बाद अब इस सीट पर दमखम रखने वाली गोंडवाना गणतंत्र पार्टी ने भी प्रत्याशी की घोषणा कर दी है. गोंडवाना गणतंत्र पार्टी ने देवरावेन भलावी को प्रत्याशी घोषित किया है. देवरावेन ने इस साल लोकसभा का चुनाव भी लड़ा था. उन्हें इस चुनाव में 50 हजार वोट मिले थे.

दूसरी ओर कांग्रेस पार्टी के पास प्रत्याशी का अभाव है. कांग्रेस पार्टी और कमलनाथ ने अमरवाड़ा की पूरी कमान विधायक कमलेश शाह के हाथ में दे रखी थी. लेकिन, कमलेश शाह कांग्रेस का साथ छोड़कर बीजेपी में जा चुके हैं. अब ऐसे में कांग्रेस के हाथ फिलहाल खाली हैं. हालांकि, पार्टी में 3 से 4 स्थानीय नामों पर चर्चा जारी है. कांग्रेस में युवक कांग्रेस अध्यक्ष एकलव्य आहाके, जिला पंचायत सदस्त चंपालाल खुर्चे और विनय भारती के नामों पर विचार हो रहा है.



बता दें कि अमरवाड़ा सीट पर हमेशा त्रिकोणी मुकाबला होता है. कांग्रेस, बीजेपी के अलावा यहां मनमोहन शाह बट्टी की गोंडवाना पार्टी का भी अच्छा खासा वजूद है. स्व. मनमोहन शाह बट्टी अमरवाड़ा से विधायक भी थे. साल 2023 के विधानसभा चुनाव में जहां स्व मनमोहन शाह की बेटी मोनिका बट्टी ने बीजेपी के टिकट पर चुनाव लड़ा था, तो वहीं गोंडवाना से देव रावेंद्र भलावी ने चुनाव लड़ा और 20 हजार के लगभग मत प्राप्त किए. 2024 लोकसभा चुनाव में भी गोंडवाना पार्टी को पूरे जिले से 50 हजार से ज्यादा वोट मिले थे.

बीजेपी संगठन अब उपचुनाव की तैयारी में जुट चुका है. बीजेपी ने लोकसभा चुनाव के दौरान कांग्रेस छोड़ पार्टी में शामिल हुए अमरवाड़ा विधायक राजा कमलेश शाह को अपना प्रत्याशी घोषित किया है. कमलेश शाह हर्रई जागीर के राज घराने से आते हैं. वे साल 2013 से अमरवाड़ा के विधायक हैं. अमरवाड़ा विधानसभा छिंदवाड़ा जिले का आदिवासी बाहुल्य इलाका है.

यह विधानसभा सीट आदिवासी वर्ग के लिए आरक्षित भी है. राजवंश का होने की वजह से कमलेश शाह को यहां समर्थन मिलता है. इसी वजह से वे साल 2013 से लगातार विधानसभा चुनाव जीतते आ रहे हैं. साल 2023 के विधानसभा चुनाव मे कमलेश शाह 25000 से ज्यादा मतों से जीते थे. अगर वे ये उपचुनाव जीत जाते हैं तो प्रदेश की मोहन सरकार उन्हें मंत्रिमंडल में शामिल कर सकती है.

Share:

Next Post

ओडिशा : बकरीद पर भड़की हिंसा, गाय की कुर्बानी के आरोपों से बिगड़ा माहौल; कर्फ्यू लगा

Tue Jun 18 , 2024
भुवभुनेश्वर। ओडिशा (Odisha) के बालासोर (Balasore) कस्बे में बकरीद (Bakrid) के मौके पर तनाव पैदा पै हो गया है। इसके चलते इंटरनेट (Internet)  बंद करना पड़ा है और भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती करनी पड़ी है। पुलिस का कहना है कि बकरीद पर गाय (cow) की कुर्बानी (sacrifice)  देने के आरोप इलाके के […]