मनोरंजन

मुश्किल परिस्थिति और मनोरंजन का अद्भुत सम्मिश्रण!

इस सप्ताह, एण्डटीवी के शोज ‘बाल शिव‘, (Bal Shiva) ‘हप्पू की उलटन पलटन‘ और ‘भाबीजी घर पर हैं‘ के किरदार दर्शकों का मनोरंजन करने के लिये अपना भेष बदलेंगे। एण्डटीवी के ‘बाल शिव‘ की कहानी के बारे में बताते हुये देवी पार्वती ने कहा, ‘‘बाल शिव और त्रिदेवी एकाम्ब्रेश्वर मंदिर के रास्ते पर हैं, जब ताड़कासुर (Kapil nirmal) पृथ्वी मणि पाने के लिये उन पर हमला कर देता है, हालांकि, बाल शिव अपने त्रिशूल की मदद से इस हमले को रोक देते हैं, लेकिन अजामुखी (सृष्टि माहेश्वरी) अपने साथ मणि को लेकर भाग जाती है, जिससे बाल शिव और त्रिदेवी परेशान हो जाते हैं। नारद (Praneeth Bhatt) बाल शिव को अरूणाचलेश्वर मंदिर की कहानी सुनाते हैं और इस बार ताड़कासुर अग्नि से हमला करता है, जिससे कुछ श्रद्धालु आग में फंस जाते हैं। इस बीच, दूसरी शक्ति मणि प्रकट होती है और अजामुखी उसे लेने पहुंचती है।

शक्ति मणि लेने से उसे रोकने के लिये, देवी पार्वती उसी तरफ बढ़ती हैं, लेकिन भक्तों को आग में फंसा हुआ देखकर उनकी मदद करने के लिये रूक जाती हैं। अजामुखी एक बार फिर से कामयाब हो जाती है और शक्ति मणि को अपने साथ ले जाती है। ताड़कासुर तीसरी शक्ति मणि को जम्बुकेश्वर मंदिर में मायावी दर्पण से प्रकट होते हुये देखता है और अजामुखी को वह मणि लाने के लिये भेजता है। अजामुखी भेष बदलकर मंदिर में घुस जाती है और नारद उसे ऐसा करते हुये देख लेते हैं। अजामुखी एक बार फिर वह मणि हासिल करने में सफल हो जाती है और चौथी शक्ति मणि उसे सौंपती है। ताड़कासुर उसे आखिरी मणि यानी कि आकाश तत्व मणि लाने के लिये कहता है, ताकि भस्मासुर और कई अन्य शक्तियों के साथ महासुर का जन्म हो सके। क्या वह कामयाब हो पायेगी?


एण्डटीवी के ‘हप्पू की उलटन पलटन‘ के बारे में बताते हुये दरोगा हप्पू सिंह ने कहा, ‘‘चमची (जारा वारसी) को ‘पापा‘ के ऊपर लेख लिखने के लिये एक स्कूल असाइनमेंट मिलता है। हालांकि, उसे अपने पापा दरोगा हप्पू सिंह (योगेश त्रिपाठी) के बारे में लिखने के लिये कोई दिलचस्प एंगल नहीं मिलता है। चमची के भाई ऋतिक (आर्यन प्रजापति) और रणबीर (सौम्या आजाद) हप्पू-मैन के एक दिलचस्प एंगल के साथ उसकी मदद करने का फैसला करते हैं और हप्पू के सुपरहीरो बनने की एक नकली कहानी बुनते हैं। वे हप्पू को किसी ऊंची जगह से कूदने के लिये राजी कर लेते हैं, ताकि चमची को ऐसा लगे कि वह एक सुपरहीरो है। इस स्टंट को करते समय ऋतिक के हाथ से रस्सी छूट जाती है और हप्पू गिर जाता है, लेकिन इससे पहले कि चमची की नजर उस पर पड़े, हप्पू एक सुपरहीरो की तरह खड़ा हो जाता है। केट (आशना किशोर) और मलाइका (सोनल पवार) भी इस झूठ में शामिल हो जाती हैं और चमची को बताती हैं कि उनके पापा असल में एक सुपरहीरो हैं और यह बात उससे छिपाकर रखी गई थी। इसके बाद चमची पूरे क्लास के सामने अपना लेख सुनाती है और हर कोई इस बात का सबूत मांगकर उसे परेशान करना शुरू कर देता है। हप्पू एक बार फिर से सुपरहीरो की तरह तैयार होता है और एक नकली फाइटिंग वीडियो बनाता है, जो वायरल हो जाता है और हर कोई हप्पू को सुरपहीरो मानने लगता है।

हालात उस समय बेकाबू हो जाते हैं, जब कुछ गुंडे अपने फायदे के लिये हप्पू को अगवा कर लेते हैं। यह देखना दिलचस्प होगा कि हप्पू इस स्थिति से खुद को कैसे बाहर निकालेगा और गुंडों को समझायेगा कि वह कोई सुपरहीरो नहीं है।‘‘ एण्डटीवी के ‘भाबीजी घर पर हैं‘ के विभूति नारायण मिश्रा ने कहा, ‘‘सभी लोगों को पता चलता है कि सुरेश कबाड़ी वाला ने मॉडर्न कॉलोनी को खरीद लिया है। अपने घरों को वापस पाने के लिये विभूति (आसिफ शेख) और तिवारी (रोहिताश्व गौड़) सुरेश कबाड़ी वाला को अपने घर लौटाने के लिये मनाने की कोशिश करते हैं, लेकिन वह इसके लिये एक शर्त रखता है। वह उनसे क्विट गेम में भाग लेने और जीतने के लिये कहता है। इस गेम में जीतना हर किसी के लिये वैसे भी बेहद मुश्किल है, लेकिन इसमें एक समय ऐसा भी आता है, जब अनीता भाबी (विदिशा श्रीवास्तव) और अंगूरी भाबी (शुभांगी अत्रे) को एक-दूसरे से लड़ना होगा। हालांकि, वे सुरेश कबाड़ी वाला को हरा देते हैं और उसे जेल भिजवा देते हैं। यह उस समय और भी मुश्किल हो जाता है जब विभूति को अंगूरी से राखी बंधवाने के लिये कहा जाता है और तिवारी को अनीता से राखी बंधवानी होगी। विभूति और तिवारी इस मुश्किल से कैसे बाहर आयेंगे?‘‘

 

Share:

Next Post

इंदौर: भुट्टे वाले के मुंह से निकल गया फूड डिलीवरी ब्वॉय की हत्या का राज

Tue Aug 9 , 2022
इंदौर। करीब 2 हफ्ते पहले बाणगंगा क्षेत्र (banganga area) के करोल बाग में फूड डिलीवरी ब्वॉय सुनील वर्मा (food delivery boy sunil verma) निवासी बर्फानी धाम की लूट की नीयत से कुछ बदमाशों ने हत्या कर दी थी, जिसमें पुलिस ने पांच हत्यारों को पकड़ा, जिनमें तीन नाबालिग (three minors) हैं। दरअसल सुनील फूड डिलीवरी […]