बड़ी खबर

नवचयनित 7720 लेखपालों को नियुक्ति पत्र वितरित किए मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने


लखनऊ । मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ (Chief Minister Yogi Adityanath) ने नवचयनित 7720 लेखपालों को (To newly selected 7720 Accountants) नियुक्ति पत्र वितरित किए (Distributed Appointment Letters) । उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार को लोकभवन में उत्तर प्रदेश अधीनस्थ सेवा चयन आयोग के तहत चयनित 7,720 लेखपालों को नियुक्ति पत्र वितरित करने के साथ ही सभी नवचयनित लेखपालों को उनके कर्तव्यों के प्रति आगाह किया।


उन्होंने कहा कि आपका जनता के बीच नजदीकी जुड़ाव होता है। किसी को पट्टे की जमीन देनी है, किसी को विरासत का कार्य करना है, किसी के नामांतरण का कार्य करना है, कृषि को अकृषि घोषित करते हुए निवेश की संभावना को आगे बढ़ाना है, कहीं पर पैमाइश की कार्यवाही को बढ़ाना है। सीएम योगी ने कहा कि ग्रामीण और शहरी क्षेत्रों में एक फुट, दो फुट के लिए हिंसक घटनाएं होती हैं। अगर हम समय पर पैमाइश करके सीमांकन कर लें तो कोई विवाद नहीं होगा। कोई दबंग भूमाफिया जबरदस्ती सरकारी या गरीब की जमीन पर कब्जा कर रहा है, तो, वहां एंटी भूमाफिया टास्क के साथ जाकर हम बड़ी कार्रवाई करें। कहीं पर निवेश के लिए कोई प्रस्ताव आया है तो उसे समयबद्ध तरीके से आगे बढ़ा दें।

उन्होंने कहा कि बाढ़ जैसी आपदा में समय पर लोगों को राहत दें। कृषक दुर्घटना बीमा में कृषक, उसके परिवार के किसी सदस्य या फिर बटाईदार और उसके परिवार के सदस्य की किसी आपदा में मृत्यु होने पर समयबद्ध तरीके से राहत की धनराशि उसके परिवार को मिल जाए। ग्रामीण क्षेत्र में निवास करने वाला कोई भी व्यक्ति अगर परंपरागत रूप से ग्राम समाज की आबादी की जमीन पर मकान बनाकर रह रहा है तो उसकी जमीन का मालिकाना हक उसे घरौनी के माध्यम से मिल सके, इस पर ध्यान देना है। अब तक 63 लाख से ज्यादा लोगों को हमने यह व्यवस्था दी है और हमारा प्रयास है कि इस वर्ष तक सभी 1.25 करोड़ परिवारों को यह सुविधा उपलब्ध करा देंगे।

सीएम योगी ने कहा कि इस नियुक्ति प्रक्रिया को समयबद्ध तरीके से आगे बढ़ाने के लिए 2022 में राजस्व विभाग ने अपना अधियाचन अधीनस्थ सेवा चयन आयोग को दिया था। चयन की प्रक्रिया पूरी ईमानदारी और पारदर्शिता के साथ आयोग ने संपन्न की। कुछ लोगों की फितरत होती है कि हर अच्छे कार्य में रोड़ा अटकाया जाए। नवचयनित लेखपालों के नियुक्ति पत्र वितरण में भी रोड़े अटकाने के कार्य हुए, लेकिन राजस्व विभाग और अधीनस्थ सेवा चयन आयोग इसके लिए लड़ा और अंततः सुप्रीम कोर्ट से भी फैसला अपने पक्ष में करके आज 7,720 नवचयनित युवाओं को उनकी आकांक्षा के अनुरूप ये नियुक्ति पत्र प्रदान किए जा रहे हैं।

Share:

Next Post

मंत्री प्रहलाद पटेल की PRO पूजा थापक ने की आत्महत्या, जनसम्पर्क विभाग में थी असिस्टेंट

Wed Jul 10 , 2024
भोपाल: जनसम्पर्क विभाग की असिस्टेंट पूजा थापक (Public Relations Department Assistant Pooja Thapak) ने आत्महत्या कर ली. बता दें पूजा पंचायत ग्रामीण मंत्री प्रहलाद पटेल की पीआरओ (PRO of Panchayat Rural Minister Prahlad Patel) थीं. पुलिस की शुरुआती जांच में बताया जा रहा है कि पारिवारिक कारणों के चलते आत्महत्या की है. पूजा थापक ने घर […]