कोरोना के अंत की हुई शुरुआत : भोपाल में पहला टीका सुरक्षा गार्ड को व इंदौर में महिला स्वास्थ्यकर्मी को लगेगा

भोपाल। मध्यप्रदेश में शनिवार से शुरू हो रहे कोरोना टीकाकरण अभियान के तहत पहला टीका भोपाल के जेपी अस्पताल में तैनात एक सुरक्षा गार्ड को लगाया जाएगा। वहीं इंदौर जिले में पहला टीका एक महिला स्वास्थ्य कर्मी को लगेगा। राज्य के अपर संचालक टीकाकरण संतोष शुक्ला ने शुक्रवार को बताया कि 16 जनवरी को मध्यप्रदेश में कोविड-19 का पहला टीका भोपाल स्थित जेपी अस्पताल में चतुर्थ श्रेणी के एक कर्मी को लगेगा। हालांकि उन्होंने उस कर्मचारी का नाम बताने से इनकार कर दिया।

भोपाल स्थित जेपी अस्पताल के सुरक्षा गार्ड हरिदेव यादव ने यहां मीडिया से कहा, ‘मुझे शनिवार को सबसे पहले कोराना वायरस का टीका जेपी अस्पताल में लगेगा। मुझे बहुत अच्छा लग रहा है कि मैं मध्यप्रदेश में यह टीका लगवाने वाला पहला व्यक्ति होने जा रहा हूं। मैंने खुद ही कहा कि सबसे पहले मुझे यह टीका लगाओ। जब मैंने अपनी पत्नी को यह बताया तो उसे थोड़ा सा संकोच हुआ, लेकिन बाद में वह मान गई।

यादव ने कहा, ‘मैं जेपी अस्पताल में सुरक्षा गार्ड हूं और जब से कोरोना वायरस महामारी फैली है, तब से मैंने एक दिन की भी छुट्टी नहीं ली है। मध्यप्रदेश में कोविड-19 से सबसे ज्यादा प्रभावित इंदौर जिले में इस महामारी से बचाव का पहला टीका लगवाने जा रहीं स्वास्थ्य कर्मी आशा पवार ने कहा कि वह और उनका परिवार इस टीकाकरण को लेकर एकदम निश्चिंत हैं।

ग्वालियर के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी मनीष शर्मा ने बताया कि शनिवार को सबसे पहले 10 सफाई कर्मियों को बुलाया गया है और उनमें से जो सबसे पहले आएगा, उसे ही पहला टीका लगेगा। इसी बीच, उज्जैन के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी महावीर खंडेलवाल ने बताया, हमारे केन्द्र पर पहला टीका किसी सफाई कर्मी को लगेगा। पहला टीका लगाने के लिए हमने कोई नाम तय नहीं किया है। 

प्रदेश के स्वास्थ्य मंत्री प्रभुराम चौधरी एवं प्रदेश के चिकित्सा शिक्षा मंत्री विश्वास सारंग ने शुक्रवार को भोपाल में संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में बताया कि शनिवार सुबह प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के संबोधन के बाद मध्यप्रदेश में 150 केन्द्रों पर टीकाकरण अभियान की शुरूआत होगी।  चौधरी ने कहा कि टीका लगाने के संबंध में सभी चिह्नित लोगों के पास शाम तक इस बारे में संदेश पहुंच जाएगा।

उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में प्रथम चरण में लगभग 4.17 लाख स्वास्थ्य कर्मियों का चरणबद्ध तरीके से टीकाकरण किया जाएगा। चौधरी ने कहा कि प्रदेश को प्रथम चरण में  5,06,500 कोविशील्ड टीके की खुराक प्राप्त हो चुकी है। ये सभी जिलों को आवश्यकतानुसार आवंटित की गई है। यह टीका राज्य सरकार एवं केन्द्र सरकार के स्वास्थ्य कर्मियों, निजी क्षेत्र के स्वास्थ्य कर्मियों एवं सशस्त्र बलों के स्वास्थ्य कर्मियों के लिए उपलब्ध कराई जा रही है। मध्यप्रदेश में अब तक कोरोना वायरस संक्रमण के कुल 2,50,429 मामले सामने आए हैं और इनमें से 3,740 मरीजों की मौत हो चुकी है।

Next Post

कोरोना वैक्सीन लगाने से अगर हुए गंभीर प्रभाव तो मिलेगा मुआवजा

Sat Jan 16 , 2021
नई दिल्ली। इतिहास के पन्नों पर आज 16 जनवरी 2020 की तारीख सुनहरे अक्षरों से दर्ज हो जाएगी, क्योंकि आज देश में दुनिया के सबसे बड़े टीकाकरण के अभियान की शुरुआत हो रही है। ऐसे में हर किसी की नजर इस अभियान पर है। इस पहले चरण में हेल्थवर्कर्स को […]

Know and join us

www.agniban.com

month wise news

March 2021
S M T W T F S
 123456
78910111213
14151617181920
21222324252627
28293031