इंदौर

कर्बला के हनुमान मंदिर को ढंका, इधर मेला शुरू होगा तो दूसरी ओर आरती, प्रशासन चिंता में

सरकारी ताजिया भी ईमामबाड़ा से निकलकर पहुंचेगा, दो हजार जवानों की तैनाती

मुस्लिम समुदाय दो गुटों में बंटा, एक गुट ने मेला आगे बढ़ाने की घोषणा की थी, बाद में विरोध के चलते निर्णय वापस लिया

इंदौर। आज यौमे आशुरा पर शाम को सरकारी ताजिए के साथ शहरभर के ताजिए कर्बला पहुंचेंगे। हालांकि कर्बला इंतेजामिया कमेटी ने मेला एक दिन बाद शुरू करने की घोषणा की थी, लेकिन मुस्लिम समुदाय के दो धड़ों में बंटने के बाद कल दिनभर कमेटी की आलोचना होती रही और शाम होते-होते शहर काजी की ओर से कहा गया कि मेला आज से ही शुरू होगा। इसके बाद प्रशासन की चिंता और बढ़ गई है, क्योंकि हिंदू संगठनों ने आज शाम हनुमान मंदिर में खुले में आरती करने की घोषणा की है।  हिंदू संगठन की आरती की घोषणा पर अब प्रशासन निर्धारित संख्या मेें संगठन के लोगों को ले जाकर आरती करवाएगा। इधर आरती होगी और दूसरी ओर मेला शुरू होगा। हालांकि प्रशासन की कोशिश है कि सभी ताजिए सात बजे तक कर्बला पहुंच जाएं और उसके बाद आरती शुरू हो।

हिंदू जागरण मंच के साथ-साथ सभी हिंदू संगठन आज मंगलवार की आरती के लिए लामबंद हो गए थे। सभी ने एक साथ घोषणा की थी कि हनुमान मंदिर को इस बार परकोटे में ढंकने नहीं देंगे और खुले में ही आरती करेंगे। संगठनों के इस रवैये के बाद परसों अचानक कर्बला इंतेजामिया कमेटी की ओर से फारुक राईन ने कहा कि मेले को अब बुधवार से शुरू किया जाएगा, लेकिन कल शहर काजी डॉ. इशरत अली की तीखी प्रतिक्रिया सामने आई। उन्होंने कहा कि सब इंतजाम ठीक हैं और जब प्रशासन को मालूम था कि कर्बला मेला 9 अगस्त से शुरू हो रहा है तो वहां इंतजाम करना उनकी जिम्मेदारी है। इसके बाद कमेटी ने अपना निर्णय बदला और आज मंगलवार से ही मेला शुरू करने की घोषणा कर दी। हालांकि सगंठन के आरती के ऐलान पर पुलिस प्रशासन सतर्क है और कर्बला स्थल पर 2 हजार पुलिस जवानों की तैनाती की गई है। इसके साथ ड्रोन भी तैनात रहेंगे और हर गतिविधि पर नजर रखेंगे। हालांकि इससे पहले भी मंगलवार की आरती और मेले की व्यवस्था प्रशासन द्वारा की जा चुकी है और इस बार भी तमाम व्यवस्थाओं के चलते आरती के साथ ही मेला भी शांतिपूर्वक संपन्न हो इसकी कोशिश प्रशासन द्वारा की जा रही है। हालांकि हिंदू संगठनों द्वारा इस बार खुले में आरती का ऐलान किया गया है।

 

Share:

Next Post

सरकारी योजनाओं से गांवों की महिलाओं का सशक्तीकरण, 16 फीसदी ने लिया होम लोन

Tue Aug 9 , 2022
नई दिल्ली। सरकार की स्वामित्व योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना से गांवों की महिलाओं का सशक्तीकरण तेजी से हो रहा है। छोटे जिलों से होम लोन लेने में महिलाएं आगे आ रही हैं। एसबीआई की एक रिपोर्ट में कहा गया है कि छोटे शहरों में पहली बार 16 फीसदी महिलाओं ने होम लोन लिया है। कुछ […]