जीवनशैली स्‍वास्‍थ्‍य

हाई यूरिक एसिड की समस्‍या से हैं परेंशान तो ऐसे करें कंट्रोल, डाइट में शामिल करें ये चीजें

नई दिल्‍ली। यूरिक एसिड एक ऐसा पदार्थ होता है जब शरीर में प्यूरीन (purines) के टूटने से बनता है। ब्लड यूरिक एसिड को किडनी तक पहुंचाता है और अतिरिक्त मात्रा बाहर निकाल दी जाती है। जब किडनी अतिरिक्त यूरिक एसिड को बाहर नहीं निकाल पाती है, तो यह शरीर में गाउट का कारण बनता है, जिसे हाइपरयुरिसीमिया (hyperuricemia) भी कहा जाता है। यह ज्यादातर 40 साल बाद पुरुषों को प्रभावित करता है, हालांकि, यह महिलाओं के रजोनिवृत्ति के बाद ट्रिगर करता है। ऐसे में गाउट से बचने के लिए सबसे पहले आपको यूरिक एसिड को कंट्रोल करने के लिए उपाय करने की जरूरत है। यहां कुछ ऐसे फूड्स के बारे में बताया गया है जो गाउट और यूरिक एसिड को कंट्रोल करने के लिए घरेलू उपाय हो सकते हैं।

शरीर में यूरिक एसिड (uric acid) का बढ़ना भी कई खतरनाक बीमारियों को न्योता देता है, जिसमें गठिया, गाउट, आर्थराइटिस जैसी समस्याएं शामिल हैं। जब किडनी (kidney) के फिल्टर करने की क्षमता कम हो जाती है, तो शरीर में मौजूद यूरिया, यूरिक एसिड में बदलने लगता है।

चेरी
एंथोसायनिन के विशाल भंडार वाली चेरी में शक्तिशाली एंटीऑक्सिडेंट और एंटी इंफ्लेमेटरी गुण (Antioxidant and anti-inflammatory properties) होते हैं जो गाउट हमले के जोखिम को कम कर सकते हैं। गाउट हमले के जोखिम को कम करने के लिए चेरी या चेरी के अर्क के तीन सर्विंग्स का उपभोग करने की सिफारिश की जाती है।

पपीता
पपीते (Papayas) में एंजाइम पपैन और काइमोपैपेन की अच्छाई में मजबूत एंटी इंफ्लेमेटरी प्रभाव होते हैं जो सूजन को कम करने में मदद करते हैं और जोड़ों में सूजन को कम कर सकते हैं। यह क्षारीयता को बढ़ाकर शरीर से अतिरिक्त यूरिक एसिड से छुटकारा पाने में भी मदद करता है। इनके अलावा, यह एंटीऑक्सिडेंट बीटा-कैरोटीन और विटामिन सी (vitamin C) से भरा होता है जो सूजन को कम करने और जोड़ों में दर्द और लालिमा को कम करने में मदद कर सकता है।

अजवाइन
अजवाइन (Celery) के बीज जैसे आयरन, मैंगनीज, कैल्शियम और अन्य बायोएक्टिव यौगिकों में मौजूद पोषक तत्वों का ढेर गठिया को ठीक करने में सहायता करता है। अजवाइन में बीटा-सेलेनिन उल्लेखनीय संयंत्र यौगिक रक्त में यूरिक एसिड के स्तर को कम कर सकते हैं।रस, अर्क या बीज के रूप में आहार में अजवाइन के बीज शामिल करें।

अदरक
अदरक एक बहुमुखी जड़ी बूटी है जो अपने शक्तिशाली औषधीय और पाक उद्देश्यों के लिए प्रसिद्ध है। अदरक के शक्तिशाली इंफ्लेमेटरी प्रभाव सूजन को कम करते हैं, सूजन और रक्त यूरिक एसिड के स्तर को कम करते हैं और गाउट के हमलों को राहत देते हैं। एक इंच अदरक लें, 5-10 मिनट के लिए एक कप पानी में अच्छी तरह से डुबोएं और जोड़ों के दर्द से राहत पाने के लिए नियमित रूप से सेवन करें।

नींबू
नींबू और नींबू (Lemon) के रस को गाउट को ठीक करने का अद्भुत प्राकृतिक उपचार माना जाता है। नींबू में पर्याप्त मात्रा में विटामिन सी और एंटीऑक्सिडेंट सूजन को कम करते हैं, मूत्र के पीएच को बढ़ाकर रक्त में यूरिक एसिड के जमाव को तोड़ते हैं और यूरिक एसिड को बाहर निकालने में मदद करते हैं। आपको बस इतना करना है कि गाउट के दर्द को कम करने के लिए दिन में 2-3 बार नींबू के रस का सेवन करना चाहिए।

नोट– उपरोक्‍त दी गई जानकारी व सुझाव सामान्‍य जानकारी के लिए हैं इन्‍हें किसी प्रोफेशनल डॉक्‍टर की सलाह के रूप में न समझें। कोई भी सवाल या परेंशानी हो तो विशेषज्ञ की सलाह जरूर लें।

Share:

Next Post

जेवर में पीएम मोदी ने यूपी की जनता को गिनाए डबल इंजन सरकार के फायदे

Thu Nov 25 , 2021
गौतमबुद्धनगर/ नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Modi) ने जेवर में (In Jewer) यूपी की जनता (People of UP) को डबल इंजन सरकार (Double engine government) के फायदे (Benefits) गिनाए (Counted) और कहा कि पिछली सरकारों के कार्यकाल में दिल्ली और लखनऊ के बीच विकास परियोजनाओं को लेकर खींचतान बने रहने का आरोप लगाते हुए […]