बड़ी खबर मध्‍यप्रदेश व्‍यापार

दाल-तेल और जीरा के दाम हुए दोगुने, महंगाई ने बिगाड़ा घर का बजट

शाजापुर। दाल और सब्जी को जायकेदार बनाने वाले मसालों के दामों में प्रतिवर्ष हो रही बढ़ोतरी ने गृहणियों के बजट को उथल-पुथल कर रखा है और उन्हे प्रतिवर्ष अपने बजट में बदलाव करने को मजबूर होना पड़ रहा है। सब्जियों के साथ-साथ उन्हे स्वादिष्टता प्रदान करने वाले गरम मसालों पर महंगाई का रंग चढ़ा हुआ है। वहीं इस बार सोयाबीन तेल के दामों में हुई भारी बढ़ोत्तरी ने लोगों के हाल बेहाल कर दिए हैं।

गौरतलब है कि दलहन के दाम पहले ही लोगों की जेब का दिवाला निकाल रहे थे, वहीं इस वर्ष सोयाबीन तेल के दामों ने लोगों पर आर्थिक बोझ और बढ़ा दिया है। यही कारण है कि दो माह पूर्व 90 रुपये प्रति लीटर बिकने वाले सोयाबीन तेल के दाम अब 140 रुपये प्रति लीटर पर जा पहुंचे हैं। इसीके साथ सब्जियों का स्वाद बढ़ाने वाले लगभग सभी प्रकार के मसाले पिछले साल की तुलना में दोगुने दाम पर बिक रहे हैं।

दोगुने हुए मसालों के दाम
पिछले वर्ष की अपेक्षा इस वर्ष मसालों की कीमत दोगुनी हो गई है, जिसके चलते जीरा 200 रुपये किलो के दाम पर टिका हुआ है, वहीं हल्दी खुले और पेक में अलग-अलग दामो पर मिल रही है जिसकी कीमत 150 रुपये से लेकर 220 रुपये किलो तक है। इसीके साथ सब्जी को चटपटा बनाने वाली लाल मिर्च के भाव गत वर्ष 100 रुपये किलो रहे थे जबकि इस वर्ष यह बढक़र 170 रुपये तक पहुंच गए हैं और सोयाबीन तेल 140 रुपये लीटर बिक रहे हैं। (एजेंसी, हि.स.)

Share:

Next Post

कोरोना वायरस के नए वैरिएंट के खिलाफ भी प्रभावी हैं कोरोना वैक्‍सीन-शोध

Fri Jan 29 , 2021
न्‍यूयॉर्क । कोरोना वायरस (कोविड-19) से मुकाबले के लिए कई वैक्सीन तैयार की गई है। कई देशों में इस खतरनाक वायरस के खिलाफ टीकाकरण भी शुरू हो चुका है। इस बीच कोरोना के नए वैरिएंट सामने आने से वैक्सीन के प्रभाव को लेकर बढ़ी चिंता के मोर्चे पर एक अच्छी खबर आई है। अमेरिका की […]