इंदौर न्यूज़ (Indore News)

नए कैमरे लगाने के लिए फिर खोद दिए कई चौराहे

  • वाहन चालकों की हुई फजीहत… जगह-जगह सडक़ बंद

इन्दौर। शहर के विभिन्न चौराहों पर आईटीएमएस कैमरों की केबल बिछाने के लिए फिर खुदाई के कार्य कर दिए गए हैं। इनमें कई ऐसे क्षेत्र हैं, जहां पहले से ड्रेनेज लाइनों के कारण चौराहों का कबाड़ा हो चुका है। मध्य क्षेत्र के कई इलाकों में स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत ड्रेनेज लाइनें बिछाने का काम अभी भी अंतिम दौर में चल रहा है, जिसके चलते यशवंत रोड गुरुद्वारा, आड़ा बाजार, बंबई बाजार, जवाहर मार्ग से लेकर राजमोहल्ला, मालगंज, मल्हारगंज आदि कई क्षेत्रों में सडक़ंो की हालत बदतर कर दी गई है। जिन स्थानों पर काम पूरे हो चुके हैं, वहां सडक़ सुधार कार्य के नाम पर कांक्रीट पटक दी गई है। अब यातायात पुलिस शहर के कई चौराहों पर आईटीएमएस कैमरे लगाने का काम शुरू कर चुकी है। इसके लिए शहर के कई चौराहों के आसपास केबलें बिछाने के लिए सडक़ें खोदी जा रही हैं। बारिश करीब है और ऐसे में सडक़ंो की हालत खस्ताहाल पड़ी है और लोग परेशान हैं। पहले से ही ड्रेनेज लाइनों के कारणों खोदे गए चौराहे सुधारे नहीं गए हैं और अब फिर से सडक़ों की खुदाई कर दी गई।

खोदी गई सडक़ों से घरों में बदबूदार पानी
मध्य क्षेत्र के कई इलाकों में ड्रेनेज लाइनों के लिए सडक़ें खोदी गईं तो अब परेशानियां भी रहवासियों को भोगनी पड़ रही हैं। जूनी इन्दौर, जबरन कालोनी, रावजी बाजार, चंद्रभागा, आड़ा बाजार से लेकर कबूतर खाना और कई अन्य क्षेत्रों में नलों में गंदा पानी आने के कारण रहवासी परेशान हो रहे हैं। कई रहवासियों का कहना है कि नलों में ड्रेनेज का पानी आ रहा है और पानी से भारी बदबू आती है।

Share:

Next Post

इंदौर में ऐसे पर्यावरण प्रेमी भी, अब तक बांट और लगा चुके हजारों पौधे

Sat Jun 15 , 2024
आज अपने जन्मदिन पर सुबह बांटे 400 पौधे… इंदौर। शहर (Indore) में ऐसे पर्यावरण प्रेमी (environment lovers) भी हैं, जो कई साल से हर खास मौके पर बच्चों (Children) से पौधे लगवाते हैं और उनसे उसकी देखभाल (Care) का वादा भी लेते हैं। 1988 से अब तक 17 हजार से ज्यादा पौधे लगा और बांट […]