इंदौर न्यूज़ (Indore News) मध्‍यप्रदेश

रेसीडेंसी क्लब एरिया में नया पंचकर्म प्राकृतिक चिकित्सा केंद्र खुलेगा

  • संभाग आयुक्त की पहल पर अब शहर के 128 साल पुराने
  • स्टाफ और संसाधन जुटाने में लगा अष्टांग आयुर्वेद कॉलेज

इंदौर। शहर के 128 साल पुराने रेसीडेंसी क्लब एरिया (Residency Club Area) में सरकारी अष्टांग आयुर्वेद कॉलेज (Ashtanga Ayurveda College) पंचकर्म प्राकृतिक चिकित्सा केंद्र (Panchkarma Naturopathy Center) खोलने की तैयारियां कर रहा है। अभी तक सरकारी पंचकर्म चिकित्सा केंद्र शहर में सिर्फ अष्टांग आयुर्वेद कॉलेज के अस्पताल में ही संचालित किया जाता है, मगर संभाग आयुक्त की पहल पर अब रेसीडेंसी क्लब में भी पंचकर्म चिकित्सा का आयुर्वेदिक अस्पताल शुरू करने की कवायद चल रही है।


एलोपैथी इलाज के साइड इफेक्ट के चलते अब अधिकांश लोगों का झुकाव आयुर्वेदिक इलाज की तरफ बड़ी तेजी से हो रहा है। समाज का बड़ा तबका प्राकृतिक चिकित्सा से जुड़ता जा रहा है। स्थाई चिकित्सा के लिए लोग प्राकृतिक आयुर्वेदिक चिकित्सा को सबसे बेहतर मानने लगे हैं। इसी के चलते शहर और प्रदेश में अब आयुर्वेद कालेज और अस्पताल की संख्या भी धीरे-धीरे बढ़ती जा रही है। कई सालों से शहर सहित आसपास के अलावा देश के दूसरे राज्यों के मरीजों का इलाज लोकमान्य नगर में सरकारी अष्टांग 100 मेडिकल बेड वाले आयुर्वेद कॉलेज के अस्पताल में किया जाता है। जरूरतमंद मरीजों की पंचकर्म प्राकृतिक चिकित्सा यहीं की जाती है।

नए पंचकर्म चिकित्सा केंद्र से इन्हें लाभ मिलेगा
लगभग 20 एकड़ में फैले रेसीडेंसी क्लब एरिया में संभाग सहित जिला प्रशासन से संबंधित विभागों के वरिष्ठ अधिकारी और उनके परिजन निवास करते हैं । यहां नए पंचकर्म केंद्र खुलने से अधिकारी-कर्मचारियों के परिवारों के अलावा शहर के इस इलाके के निवासियों को भी इसका लाभ मिल सकेगा।

क्या है प्राकृतिक पंचकर्म चिकित्सा
पंचकर्म प्राकृतिक चिकित्सा के जरिए मरीज के शरीर के विभिन्न अंग जैसे फेफड़े, मू्त्राशय, पसीने की ग्रंथि, पेट और आंत से अपशिष्ट पदार्थों को बाहर निकाला जाता है। पंचकर्म प्रत्येक व्यक्ति के लिए अलग-अलग होता है। यह व्यक्ति के शरीर, उम्र, ताकत और रोग प्रतिरोधक क्षमता पर निर्भर करता है।

30 बेड का प्राकृतिक चिकित्सा पंचकर्म केंद्र
कालेज के अधिष्ठाता एपीएस चौहान ने बताया कि पिछले दिनों संभाग आयुक्त डीके सिंह ने आयुर्वेद कॉलेज और अस्पताल के प्रिंसिपल, डीन, डाक्टर्स सहित प्रबंध अधिकारियों के साथ मीटिंग की थी। उसी दौरान संभाग आयुक्त सिंह ने आयुर्वेद कॉलेज के वरिष्ठ जिम्मेदारों को रेसीडेंसी क्लब एरिया में पंचकर्म प्राकृतिक चिकित्सा केंद्र शुरू करने के निर्देश दिए थे। इसके बाद से ही रेसीडेंसी क्लब एरिया में 30 मेडिकल बेड वाला आयुर्वेदिक पंचकर्म चिकित्सा केंद्र शुरू करने के लिए आयुर्वेद कॉलेज प्रबंधन अतिरिक्त स्टाफ और संसाधन जुटाने में जुटा है। व्यवस्था होते ही एक और सरकारी प्राकृतिक चिकित्सा पंचकर्म केंद्र शुरू कर दिया जाएगा।

Share:

Next Post

इन्दौर : यूनिवर्सिटी, पीजी काउंसलिंग, बाहर से आए अभिभावक को बच्चे परेशान

Fri Jun 21 , 2024
इन्दौर। देवी अहिल्या यूनिवर्सिटी (Devi Ahilya University0 में पीजी काउंसलिंग (PG counseling) का दौर चल रहा है, विद्यार्थी (student) और अभिभावक (parents ) खंडवा रोड केंपस में बड़ी संख्या में पहुंच रहे हैं यहां पर दस्तावेज सत्यापन के बाद फोटोकॉपी को लेकर कैंपस से बाहर आना पड़ रहा है , बाहर से आए लोगों को […]