बड़ी खबर राजनीति

राहुल गांधी ने किसानों की आमदनी का चार्ट शेयर कर मोदी सरकार पर साधा निशाना

नई दिल्ली। कृषि कानूनों को हटाने की मांग को लेकर किसान संगठनों द्वारा किए जा रहे प्रदर्शन के बीच कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने किसानों की आय का मुद्दा उठाया है। उनका कहना है कि सरकार किसान की आर्थिक स्थिति को बेहतर करने के बजाय उसे बिगाड़ने में लगी है। वर्तमान में पंजाब और हरियाणा के किसान अच्छी कमाई कर रहे हैं, जबकि बिहार में स्थिति इसके विपरित है।

वायनाड से सांसद राहुल गांधी ने शुक्रवार को ट्वीट कर कहा कि ‘किसान चाहता है कि उसकी आय पंजाब के किसान जितनी हो जाए। जबकि मोदी सरकार चाहती है कि देश के सभी किसानों की आय बिहार के किसान जितनी हो जाए।’ राहुल ने अपने ट्वीट के साथ एक चार्ट भी शेयर किया है, जिसमें दावा किया गया है कि पंजाब के किसान सबसे ज्यादा कमाई करते हैं, जबकि बिहार के किसान की सालाना आमदनी सबसे कम है।

किसानों की आय से संबंधित चार्ट के आधार पर ही राहुल गांधी ने केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधा है। चार्ट के मुताबिक एक कृषक परिवार की कमाई का सालाना औसत 77,124 रुपये है। इस आय को महीने के हिसाब से देखें तो यह 6,427 रुपये होता है। ऐसे में रिपोर्ट में दावा किया गया है कि इतनी कम आमदनी होने से किसानों की बचत कम ही होती है।

राहुल गांधी द्वारा साझा किए गए चार्ट से स्पष्ट है कि पंजाब के किसानों की सालाना औसत कमाई 2,16,708 रुपये हैं। इसके बाद हरियाणा के किसानों की सालाना औसत कमाई 1,73,208 रुपये है। चार्ट के अनुसार जम्मू-कश्मीर के किसानों की औसत कमाई 1,52,196 रुपये, केरल 1,42,668 और कर्नाटक के किसान की औसत आय 1,05,984 रुपये सालाना है। बिहार इस मामले में सबसे फिसड्डी है। बिहार के किसानों की सालाना औसत कमाई 42,684 रुपये है, जबकि उत्तर प्रदेश के किसान बिहार से थोड़े बेहतर हालत में हैं। उप्र के किसानों की कमाई 58,944 रुपये है। (एजेंसी, हि.स.)

Share:

Next Post

देश में संक्रमितों का आंकड़ा 97.96 लाख के पार, 24 घंटे में आए 29 हजार से ज्यादा मामले

Fri Dec 11 , 2020
नई दिल्ली। देश में पिछले कई दिनों से कोरोना संक्रमण के नए मामले घटने-बढ़ने के क्रम के बीच स्वस्थ होने वालों की संख्या में लगातार सुधार से सक्रिय मामलों की संख्या घट रही है तथा इनकी दर पौने चार प्रतिशत से कम हो गई है। केंद्रीय स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय की ओर से शुक्रवार […]