जीवनशैली स्‍वास्‍थ्‍य

इन चीजों का सेवन करना पड़ेगा भारी, दांत को करती है खराब


आप जो भी खाते-पीते हैं, उसका असर आपके दांतों और मसूड़ों पर पड़ता है। खाने की कुछ चीजें दांतों को मजबूत करती हैं वहीं, कुछ चीजें दातों को तेजी से खराब करती हैं। आइए जानते हैं इन चीजों के बारे में जो दांतों की खूबसूरती खराब करने का काम करती हैं।

सोडा, डाइट सोडा और स्वीट ड्रिंक्स
सोडा, कॉफी, स्वीट या कोई भी एनर्जी ड्रिंक दांतों की सेहत के लिए अच्छी नहीं मानी जाती है। ये चीजें कार्डियोवास्कुलर डिजीज, मोटापा, इंसुलिन रेजिस्टेंस जैसी चीजों को बढ़ावा देती हैं। इन ड्रिंक्स में पाया जाने वाले एसिड दांतों में कैविटी की समस्या पैदा करते हैं और इसकी वजह से बैक्टीरिया तेजी से पनपते हैं। ये टूथ एनामेल यानी दांत के बाहरी परत को भी नुकसान पहुंचाते हैं। इन ड्रिंक्स के एसिड शरीर के अंदर भी एसिड मात्रा को बढ़ाते हैं।

सोडा, डाइट सोडा और स्वीट ड्रिंक्स
रिसर्च से पता चलता है कि सॉफ्ट और शुगर ड्रिंक्स (sugary drinks) दांतों के लिए बेहद हानिकारक हैं। खासतौर से कोल्ड ड्रिंक्स में सिट्रिक एसिड होता है जो टूथ एनामेल को सीधे तौर पर नुकसान पहुंचाते हैं। ये दांतों से कैल्शियम भी खींच लेते हैं। शोधकर्ताओं का कहना है कि कोल्ड ड्रिंक्स (cold drinks) को मुंह में रोक कर रखने से दिक्कत और बढ़ सकती है। एक्सपर्ट्स एसिड वाले ड्रिंक्स पीने के तुरंत बाद ब्रश करने की सलाह देते हैं।

शुगर और कैंडीज
शुगर की वजह से मुंह में हानिकारक बैक्टीरिया (bacteria) पैदा होते हैं। किसी भी खाने में ऊपर से शुगर डालना सेहत के साथ-साथ दांतों को भी नुकसान पहुंचाता है। फूड और डेयरी प्रोडक्ट में नेचुरल तौर पर मौजूद मिठास में फाइबर और मिनरल्स होते हैं जो शरीर के लिए फायदेमंद होते हैं। वहीं हाई फ्रुक्टोज कॉर्न सिरप या टेबल शुगर कैविटी के साथ मुंह की गंदगी भी बढ़ाने का काम करते हैं। जो लोग बहुत ज्यादा मीठा खाते हैं, अक्सर उनमें मसूड़ों की बीमारी पाई जाती है। कैंडीज, लॉलीपॉप में भी बहुत ज्यादा शुगर होता जिससे बच्चों के दांत कमजोर हो जाते हैं।


मीठे अनाज और बेक्ड मिठाई
बहुत से लोग अपने दिन की शुरुआत एक कटोरी मीठे साबुत अनाज के साथ करते हैं। मीठे अनाज में प्रोटीन और जरूरी पोषक तत्वों की कमी होती है। इनमें शुगर की मात्रा बहुत ज्यादा होती है जो दांतों के लिए अच्छा नहीं होता है। बेक्ड मिठाईयां भी दांतों को कमजोर करती हैं और मसूड़ों की बीमारियां बढ़ाती हैं। सुबह-सुबह केक-पेस्ट्री जैसी चीजें खाने से बचें। अगर आप नाश्ते में ओट्स या कॉर्नफ्लेक्स(cornflakes) खाते हैं तो इसमें शुगर की मात्रा बहुत ही कम रखें।

सफेद ब्रेड और स्टार्च वाले फूड
रिफाइंड कार्ब्स और स्टार्च वाले फूड जैसे सफेद ब्रेड, सफेद चावल और आलू के चिप्स मुंह की सेहत को खराब कर सकते हैं। व्हाइट ब्रेड और चिप्स में पाए जाने वाले कार्ब मुंह के बैक्टीरिया और कैविटी को तेजी से बढ़ाते हैं। 2011 की एक स्टडी के मुताबिक, आलू के चिप्स बच्चों में कैविटी का खतरा तेजी से बढ़ाते हैं। स्टार्च वाले फूड अक्सर दांतों में चिपक जाते हैं जिससे ये दांतों को लंबे समय तक नुकसान पहुंचाते हैं। इनकी जगह ताजे फल खाने की कोशिश करें।

फ्रूट जूस
फ्रूट जूस 100% पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं लेकिन बहुत ज्यादा मात्रा में पीने से ये दांतों को नुकसान पहुंचा सकते हैं। फ्रूट जूस में भी कुछ मात्रा में एसिड होता है जो टूथ एनामेल के लिए हानिकारक हो सकते हैं। खासतौर से अंगूर, संतरे, सेब और लेमन जूस एसिड की मात्रा ज्यादा होती है। इसलिए इसे हर दिन पीने से बचना चाहिए।

अल्कोहल
शुगर वाले अल्कोहलिक ड्रिंक दांतों के लिए अच्छे नहीं हैं। इनकी वजह से ओरल कैंसर होने का खतरा भी होता है। अल्कोहल की वजह से मुंह सूखने लगता है और मुंह में बैक्टीरिया बनने लगते हैं। ज्यादा एल्कोहल की वजह से दांतों की देखभाल भी ज्यादा करनी पड़ती है। अगर आप एल्कोहल (alcohol) का सेवन करते हैं तो इसकी मात्रा सीमित कर दें।

Next Post

MP: BJP कार्यकर्ताओं को ट्रेनिंग देंगे ज्योतिरादित्य सिंधिया, इस मुद्दे पर होगा प्रशिक्षण

Thu Jul 22 , 2021
भोपाल। ज्योतिरादित्य सिंधिया (Jyotiraditya Scindia) बीजेपी (BJP) में शामिल होने के बाद पहले राज्यसभा के सांसद बने और फिर केंद्रीय मंत्री। मोदी मंत्रिमंडल में केंद्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री की जिम्मेदारी संभालने के बाद अब वो बीजेपी कार्यकर्ताओं को प्रशिक्षण भी देंगे। बीजेपी के प्रशिक्षण कार्यक्रमों की श्रृंखला में ई चिंतन शिविर में ज्योतिरादित्य सिंधिया कार्यकर्ताओं […]