बड़ी खबर

अमेरिकी रक्षा मंत्री ने PM Modi और अजीत डोभाल से की मुलाकात, कई मुद्दों पर हुई बात

नई दिल्ली। भारत दौरे पर पहुंचे अमेरिका के रक्षामंत्री लॉयड जे ऑस्टिन (Lloyd J Austin) ने हिंद-प्रशांत (Indo-Pacific) क्षेत्र में भारत की नेतृत्वकारी भूमिका की सराहना की और साझा लक्ष्यों को बढ़ावा देने के लिए रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण क्षेत्र में एक जैसी विचारधारा वाले देशों के साथ आने पर जोर दिया। ऑस्टिन तीन दिवसीय दौरे पर शुक्रवार को भारत पहुंचे हैं। उनकी इस यात्रा का उद्देश्य हिंद-प्रशांत सहित क्षेत्र में चीन की बढ़ती आक्रमकता के मद्देनजर द्विपक्षीय रक्षा एवं सुरक्षा संबंधों को और मजबूत करना है।

Overseas Tour का तीसरा पड़ाव : अमेरिका के रक्षा मंत्री ने शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) और राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार अजीत डोभाल (Ajit Doval) से मुलाकात की। इस दौरान उन्होंने, हिंद-प्रशांत क्षेत्र में भारत के लीडरशिप रोल की सराहना की। उन्होंने कहा कि इस क्षेत्र में शक्ति का संतुलन बनाने के लिए एक जैसी सोच रखने वाले देशों को साथ आना होगा। बता दें कि अमेरिकी रक्षा मंत्री की पहली विदेश यात्रा का यह तीसरा पड़ाव है। नई दिल्ली पहुंचने से पहले वह जापान और दक्षिण कोरिया होकर आए हैं।

Ajit Doval से कई मुद्दों पर बात : रक्षामंत्री लॉयड जे ऑस्टिन की इस यात्रा को जो बाइडेन प्रशासन के अपने करीबी सहयोगियों और क्षेत्र में साझेदारों के साथ मजबूत प्रतिबद्धता के तौर पर देखा जा रहा है। अमेरिकी रक्षा विभाग द्वारा ऑस्टिन और अजीत डोभाल की मुलाकात के बारे में जानकारी देते हुए बताया गया कि दोनों पक्षों ने एक स्वतंत्र और खुली क्षेत्रीय व्यवस्था को बढ़ावा देने पर अपनी प्रतिबद्धता दर्शाई है। बैठक के दौरान, दोनों नेताओं ने हिंद-प्रशांत क्षेत्र की रणनीतिक चुनौतियों पर बातचीत की और व्यापक एवं मजबूत रक्षा सहयोग बढ़ाने पर जोर दिया।

Tweet करके जताई खुशी : अमेरिकी रक्षा मंत्री लॉयड जे ऑस्टिन ने कहा कि दोनों देशों के बीच सहयोग की गहराई व्यापक रक्षा साझेदारी के महत्व को दर्शाती है और वे हिंद-प्रशांत क्षेत्र में सामने आने वाली चुनौतियों पर मिलकर काम कर सकते हैं। उन्होंने इस संबंध में एक ट्वीट करते हुए कहा, ‘यहां भारत में आकर रोमांचित हूं। दोनों देशों के बीच सहयोग की गहराई हमारी व्यापक रक्षा साझेदारी के महत्व को दर्शाती है और हम हिंद-प्रशांत क्षेत्र के सामने आने वाली चुनौतियों पर मिलकर काम कर सकते हैं’।

PMO ने जारी किया बयान : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ मुलाकात में अमेरिकी रक्षा मंत्री ऑस्टिन ने हिंद-प्रशांत क्षेत्र और उससे इतर शांति, स्थिरता और समृद्धि के लिए भारत के साथ रणनीतिक साझेदारी को और बढ़ाने की इच्छा व्यक्त की। प्रधानमंत्री कार्यालय (PMO) ने एक बयान में कहा कि बैठक के दौरान पीएम मोदी ने दोनों देशों के बीच रणनीतिक साझेदारी के लिए अपने दृष्टिकोण को रेखांकित किया और भारत-अमेरिका संबंधों में द्विपक्षीय रक्षा सहयोग की महत्वपूर्ण भूमिका पर जोर दिया। बयान में कहा गया है कि प्रधानमंत्री ने दोनों देशों के बीच मजबूत और घनिष्ठ संबंधों का स्वागत किया जो लोकतंत्र और नियमों पर आधारित साझा मूल्यों पर आधारित है।

Next Post

Chinese Military ने अमेरिकी कंपनी Tesla की कारों पर लगाया Ban, बताई ये बड़ी वजह

Sat Mar 20 , 2021
बीजिंग। चीन और अमेरिका (China and America) के बीच तनाव बढ़ता जा रहा है। दोनों देश प्रतिबंधों के जरिए एक-दूसरे के खिलाफ अपना गुस्सा प्रकट कर रहे हैं। अब चीन की सेना (Chinese Army) ने अमेरिकी कंपनी टेस्ला इंक (Tesla Inc) की कारों को बैन कर दिया है। चीन की पीपुल्स लिबरेशन आर्मी (PLA) का […]