उत्तर प्रदेश देश

वाराणसी: श्रृंगार गौरी मंदिर मामले में अब 26 अप्रैल पर टिकी सबकी नजर, जानिए पूरा मामला

वाराणसी। काशी विश्वनाथ मंदिर (Kashi Vishwanath Temple) और ज्ञानवापी मस्जिद परिसर (Gyanvapi Mosque Complex) में स्थित श्रृंगार गौरी मंदिर (Shringar Gauri Mandir) सहित अन्य विग्रहों और स्थानों की वीडियोग्राफी और कमीशन के मामले में सिविल जज सीनियर डिवीजन की अदालत में बुधवार को सुनवाई हुई. दोनों पक्षों की दलीलों को सुनने और प्रशासन की पूर्व में दी गई सुरक्षा के बाबत अर्जी का अवलोकन करने के बाद फिलहाल अदालत ने अगली तारीख 26 अप्रैल 2022 को नियत की है. अब 26 अप्रैल को तय होगा कि श्रृंगार गौरी प्रकरण में क्या अदालत वीडियोग्राफी समेत सर्वे की इजाजत देती है या फिर प्रशासन की अर्जी पर गौर फरमाते हुए सुरक्षा के लिहाज से फिलहाल सर्वेक्षण आगे के लिए टल जाएगा।

गौरतलब है कि वादी की अर्जी पर पहले अदालत ने अधिवक्ता कमिश्नर नियुक्त करते हुए 19 अप्रैल को ज्ञानवापी परिसर के सर्वेक्षण और वीडियोग्राफी के आदेश दिए थे लेकिन प्रशासन की ओर से अर्जी दी गई कि इससे वहां की सुरक्षा भंग होने की आशंका है, जिसके बाद सिविल जज सीनियर डिवीजन ने वीडियोग्राफी और कमीशन की कार्यवाही को स्थगित कर दिया और 20 अप्रैल को वादी को अपना पक्ष रखने के लिए बुलाया। अदालत ने बुधवार को दोनों पक्षों को सुनने के बाद सुनवाई की अगली तारीख 26 अप्रैल तय की।

अदालत में वकीलों के माध्यम से अपना पक्ष रखा और हमे पूरा विश्वास है कि अगली तारीख यानी 26 अप्रैल को हमारी अर्जी पर अदालत कुछ सकारात्मक फैसला करेगी. वहीं दूसरी तरफ अंजुमन इंतजामिया मसाजिद कमेटी की ओर से मस्जिद पक्ष के वकील ने कहा कि कोर्ट ने 26 अप्रैल की तारीख तय की है, सुनवाई के बाद ही उसमें सबकुछ तय होगा।

Share:

Next Post

कोविड के मामलों में वृद्धि होने से फेस मास्‍क हुआ अनिवार्य, जाने कौन मास्‍क है बेहतर

Thu Apr 21 , 2022
नई दिल्‍ली । कोरोना (corona) के केस दिन-ब-दिन बढ़ते ही जा रहे हैं. केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय (Union Ministry of Health and Family Welfare) द्वारा जारी किए गए आंकड़ों के मुताबिक, बुधवार को 2,067 नए मामले सामने आए और इसके साथ ही दैनिक कोविड -19 मामलों (covid-19 cases) में 66 प्रतिशत की उछाल […]