बड़ी खबर

22 सितंबर की 10 बड़ी खबरें

1. गुजरात पुलिस ने एक साल में जब्त किया 6,500 करोड़ रुपये का ड्रग्स, तस्करी में 750 लोगों को भेजा जेल

बीते एक साल में गुजरात की पुलिस ने 6,500 करोड़ रुपये का ड्रग्स जब्त किया है। इसके साथ ही ड्रग तस्करी में शामिल लगभग 750 लोगों को जेल भेजा गया। राज्य सरकार (State government) ने बुधवार को विधानसभा में यह जानकारी दी। विधानसभा (Assembly) में बुधवार को ड्रग्स के मुद्दे पर गरमागरम बहस हुई। इसी दौरान गुजरात के गृह राज्य मंत्री हर्ष सांघवी ने विपक्षी कांग्रेस(Congress) से इस मामले पर राजनीति बंद करने को कहा। सांघवी ने कहा कि इससे पुलिस का मनोबल टूटता है। उन्होंने सदन को कहा कि हमारी पुलिस ने हाल ही में मुंबई निवासी सलीम नाम के शख्स को पकड़ा जिसने करोड़ों रुपये की ड्रग्स बेची थी। वह पाकिस्तान (Pakistan) के कनेक्शन से ड्रग्स हासिल करता था। उन्होंने पूछा कि महाराष्ट्र में 2020 में किसकी सरकार थी? सांघवी ने आगे कहा कि महाराष्ट्र (Maharashtra) की पुलिस उसे पकड़ने में विफल रही, आखिरकार गुजरात पुलिस ने उसे पकड़ा।

 

2. NIA और ED ने 10 राज्यों में PFI पदाधिकारियों के आवास और दफ्तरों पर मारा छापा, 100 से ज्यादा हुईं गिरफ्तारियां

आतंकवाद (terrorism) के खिलाफ अभियान में नेशनल इन्वेस्टिगेशन एजेंसी (NIA) और प्रवर्तन निदेशालय (ED) ने गुरुवार सुबह बड़ी कार्रवाई की। खबर है कि जांच एजेंसियों (investigative agencies) ने करीब 10 राज्यों में पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया यानी PFI पदाधिकारियों के आवास और दफ्तरों पर रेड (raid) की है। इस दौरान 100 से ज्यादा कैडर को गिरफ्तार किया है। इस कार्रवाई के बाद कर्नाटक, केरल में पार्टी कार्यकर्ताओं ने जमकर विरोध किया है। खबर है कि NIA ने आतंकवाद में फंडिंग, ट्रैनिंग कैंप करने में शामिल लोगों के आवास और आधिकारिक ठिकानों पर तलाशी की है। NIA की रेड उत्तर प्रदेश, केरल, आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, कर्नाटक और तमिलनाडु में जारी है। समाचार एजेंसी एएनआई ने सूत्रों के हवाले से बताया कि जांच एजेंसियों ने करीब 10 राज्यों में प्रदेश पुलिस के साथ मिलकर 100 से ज्यादा कैडर्स को गिरफ्तार किया है।

 

3. EWS आरक्षणः SC ने केन्द्र से पूछा- क्या यह सामान्य वर्ग के हिस्से में घुसपैठ नहीं?

सामान्य वर्ग (general class) के ईडब्ल्यूएस (EWS) श्रेणी को 10 फीसदी आरक्षण (10 percent Reservation) देने के संविधान संशोधन के खिलाफ याचिकाओं पर सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) में बुधवार को भी सुनवाई जारी रही। मुख्य न्यायाधीश जस्टिस यूयू ललित की पीठ ने केंद्र सरकार (Central government) की ओर से पेश हुए अटॉर्नी जरनल केके वेणुगोपाल से पूछा कि सामान्य वर्ग के गरीबों को 10 फीसदी आरक्षण देना क्या सामान्य वर्ग के लिए मौजूद 50 फीसदी सीटों में घुसपैठ नहीं है? आप ऐसा कैसे कर सकते हैं? पीठ ने कहा कि इस आरक्षण के खिलाफ आए याचिकाकर्ताओं ने सवाल उठाए हैं कि ओबीसी वर्ग वाले जो क्रीमीलेयर के दायरे में आने कारण सामान्य वर्ग में आ गए हैं, उनका हिस्सा और कम कर दिया गया है। वहीं, सामान्य वर्ग की यह शिकायत है कि इस आरक्षण के कारण उनका दायरा भी कम हो गया है।

 

 

4. Jammu Kashmir : गुलाम नबी आजाद नवरात्र में करेंगे नई पार्टी की घोषणा, पंजीकरण के लिए प्रक्रिया शुरू

कांग्रेस (Congress) को लगभग एक महीने पहले अलविदा कहने वाले कद्दावर नेता गुलाम नबी आजाद (Ghulam Nabi Azad) अपनी नई पार्टी (new party) के नाम का एलान नवरात्र में करेंगे। पहले सप्ताह में इसकी घोषणा हो सकती है। इसके साथ ही पार्टी चुनाव आयोग (election Commission) में इसे पंजीकरण की कवायद शुरू करेगी। इसमें पार्टी का चुनाव निशान और झंडा भी शामिल होगा। आजाद खेमे से जुड़े सूत्रों ने बताया कि नाम की घोषणा 26 या 27 सितंबर को हो सकती है। पार्टी के नाम पर मंथन कर उसे लगभग अंतिम रूप दे दिया गया है। कुछ और शुभचिंतकों से नाम पर चर्चा चल रही है। पार्टी का नाम और काम दोनों ही धर्मनिरपेक्ष छवि को प्रदर्शित करेगा।

 

5. 2024 से पहले साथ आएंगे कांग्रेस-TMC, शरद पवार बोले- पुराने मतभेद भुलाने को तैयार हैं ममता

राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (Nationalist Congress Party-NCP) अध्यक्ष शरद पवार (Sharad Pawar) ने बुधवार को कहा कि तृणमूल सुप्रीमो (Trinamool supremo) और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी (Mamata Banerjee) राष्ट्रीय हित के लिए कांग्रेस (Congress) से अपने मतभेद भुलाने और 2024 आम चुनाव (2024 general election) से पहले साथ मिलकर विपक्षी दलों का एक गठबंधन बनाने के लिए तैयार हैं। पवार के मुताबिक, बनर्जी ने यह भी कहा था कि वह पश्चिम बंगाल (West Bengal) में कांग्रेस के साथ हुए पिछले अनुभव को भी भूलने को तैयार हैं। पवार ने कहा कि वह तथा दूसरे दलों के कुछ नेता, जिनमें बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (Nitish Kumar) और जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला (Farooq Abdullah) शामिल हैं, अगले चुनाव के लिए सत्तारूढ़ भारतीय जनता पार्टी के विरुद्ध मोर्चे का निर्माण करने वास्ते कांग्रेस से हाथ मिलाने के खिलाफ नहीं हैं।

 

6. बढ़ती महंगाई के कारण गिरती जा रही पैसों की वैल्यू, जानिए 20 साल बाद क्‍या पड़ा असर

महंगाई (Inflation) को अर्थशास्त्र में एक ऐसा टैक्स कहा जाता है, जो दिखाई तो नहीं देता, लेकिन उसकी मार से कोई नहीं बच पाता है. यह ऐसा टैक्स है, जिसका भुगतान हर कोई करता है. अभी भारत (India) में खुदरा महंगाई (retail inflation) की दर 7 फीसदी है और यह लगातार आठ महीने से रिजर्व बैंक (reserve Bank) के 6 फीसदी के अपर लिमिट से ऊपर है. महंगाई का सबसे बुरा असर यह होता है कि इसके कारण पैसों की वैल्यू कम हो जाती है यानी परचेजिंग पावर कम हो जाती है. आइए जानते हैं कि 1000 रुपये से 20 साल पहले क्या-क्या खरीदना संभव था और आज इतने रुपये में क्या खरीदा जा सकता है.

 

 

7. इंदौर से पकड़ाए 4 देशद्रोही, देशभर से 106 गिरफ्तार

देश विरोधी गतिविधियों में लिप्त पॉपुलर फ्रंट ऑफ इंडिया (पीएफआई) (Popular Front of India (PFI)) के खिलाफ केन्द्रीय जांच एजेंसी एनआईए और ईडी (Central Investigation Agency NIA and ED) ने अब तक की सबसे बड़ी कार्रवाई करते हुए मध्यप्रदेश सहित देश के कई राज्यों में छापा मारकर संगठन से जुड़े 106 देशद्रोहियों को गिरफ्तार कर लिया। इनमें इंदौर से गिरफ्तार किए गए 4 देशद्रोही भी शामिल हैं। इसके अलावा उज्जैन से भी कुछ दोशद्रोहियों को गिरफ्तार किया गया। गिरफ्तार देशद्रोहियों में स्टेट प्रमुख भी शामिल हैं। इसके अलावा केरल से पीएफआई प्रमुख परवेज अहमद और जनरल सेक्रेटरी नसीरुद्दीन को गिरफ्तार किया गया । देर रात से ही जांच एजेंसी के सैकड़ों अधिकारियों ने मध्यप्रदेश के इंदौर सहित केरल, तमिलनाडु, कर्नाटक, आंध्रप्रदेश, बिहार, राजस्थान, दिल्ली, महाराष्ट्र, उत्तरप्रदेश सहित एक दर्जन से अधिक राज्यों में पीएफआई के सैकड़ों ठिकानों पर एक साथ सघन छापामारी की।

नामीबिया (Namibia) से आए चीतों को कूनो नेशनल पार्क (Kuno National Park) रास आने लगा है। पिछले चार दिनों में उनका व्यवहार हर दिन बदला है। यह अच्छा है। अधिकारियों का दावा है कि चीते यहां के माहौल में घुल-मिल रहे हैं। यह उत्साहवर्धक है। वहीं, चीतों के क्वारंटाइन बाड़ों में सोलर करंट लगाया गया है, जो तेंदुओं समेत अन्य जानवरों के खतरों से चीतों को सुरक्षित रखेगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 17 सितंबर को नामीबिया से आए पांच मादा और तीन नर चीतों को क्वारंटाइन बाड़ों में छोड़ा था। यहां उन्हें एक महीने तक रखा जाना है। उन्हें भैंसे का मांस दिया जा रहा है, जो पिछले चार दिन में उन्होंने अच्छे से खाया है। चीतों पर नजर रखने के लिए विशेषज्ञों की टीम तैनात है, जिसका कहना है कि सोमवार को चीतों की जांच की गई। वे पूरी तरह स्वस्थ हैं और धीरे-धीरे नए माहौल में खुद को एडजस्ट कर रहे हैं। अच्छी बात यह है कि हर दिन चीतों का व्यवहार सामान्य होता जा रहा है। रुटीन चेकअप और भोजन से किसी को कोई दिक्कत नहीं हुई है। एक महीने बाद उन्हें बड़े बाड़ों में छोड़ दिया जाएगा।

9. डॉलर ने तोड़ा 20 साल का रिकार्ड, अब तक के सबसे निचले स्तर पर पहुंचा रुपया

डॉलर के मुकाबले रुपया (Rupee) गुरुवार को अब तक के सबसे निचले स्तर पर पहुंच गया। गुरुवार को रुपया 80.27 पर खुला और शुरुआती ट्रेंड में यह 80.47 के रिकॉर्ड निचले स्तर पर पहुंच गया। वहीं, दूसरी तरफ डॉलर 20 साल के सबसे उच्चतम स्तर (highest level) पर पहुंच गया है। बता दें, बुधवार को एक डॉलर की कीमत 79.98 रुपये थी। डॉलर (Dollar) के मुकाबले रुपये की कीमत गिरने की एक बड़ी वजह यूएस फेड के द्वारा ब्याज दरों को बढ़ाया जाना है। बुधवार को यूएस फेड ने मंहगाई (inflation) को नियंत्रित करने के 0.75 बेसिस प्वाइंट ब्याज दर बढ़ाया था। इससे पहले जुलाई में भी यूएस फेड के द्वारा ब्याज दरों में इजाफा किया गया था। बता दें, रुपये की स्थिति को मजबूत बनाने के लिए केंद्रीय बैंक ने जुलाई में 19 अरब डॉलर के रिजर्व को बेच दिया था। लेकिन स्थिति बहुत बेहतर नहीं हुई है।

 

10. स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण 2022 के परिणाम में पहले स्‍थान पर मध्यप्रदेश

स्वच्छ भारत मिशन (ग्रामीण) के तहत सरकार (government) की ओर से कराए जा रहे स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण-2022 के परिणाम गुरुवार को जारी कर दिए गए हैं. जिसमें मध्य प्रदेश वेस्ट जोन में अव्वल (Madhya Pradesh tops in West Zone) रहा है. वेस्ट जोन में मध्यप्रदेश को पहला स्थान मिला है. जिसमें भोपाल (Bhopal) को प्रथम और इंदौर (Indore) को तीसरा स्थान मिला है. सुजलाम 1.0 कैम्पेन में मध्यप्रदेश को पहला और सुजलाम 2.0 कैम्पेन में चौथा स्थान प्राप्त हुआ है. आपको बता दें कि केंद्र सरकार ने स्वच्छ सर्वेक्षण स्वच्छ भारत मिशन के तहत शुरू किया है.इस वर्ष अपशिष्ट जल निपटान और अन्य मापदंडों पर ध्यान केंद्रित किया गया था. स्वच्छ सर्वेक्षण ग्रामीण 2022 के परिणाम में वेस्ट जोन में मध्य प्रदेश के टॉप स्टेट रहने पर सीएम शिवराज ने ट्वीट कर प्रदेश के लोगों को बधाई दी है. सीएम शिवराज ने लिखा कि प्रसन्नता एवं गौरव के क्षण हैं कि @SwachSurvekshan ग्रामीण 2022 में वेस्ट जोन में टॉप स्टेट बना हमारा मध्यप्रदेश.

Share:

Next Post

आस्ट्रेलिया के दल ने देखा ग्रिड, स्काडा सिस्टम और स्मार्ट मीटर कंट्रोल रूम

Thu Sep 22 , 2022
इंदौर। मध्यप्रदेश पश्चिम क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी मुख्यालय (West Zone Electricity Distribution Company Headquarters) का दौरा करने के लिए न्यू साउथ वेल्स ऑस्ट्रेलिया का दल (australia team) पहुंचा। न्यू साउथ वेल्स एंडएवर एनर्जी संस्था (New South Wales Endeavor Energy Society) के दो सदस्यी दल में श्री कैनेथ लैम और श्री हाइडेन वेन हेमंड (Mr. Kenneth […]