बड़ी खबर

केजरीवाल सरकार ने फिर बढ़ाया 7 दिन का लॉकडाउन, 24 मई तक रहेंगी पाबंदियां

नई दिल्ली। दिल्ली में घटती संक्रमण दर के बीच दिल्ली सरकार ने एक सप्ताह के लिए लॉकडाउन बढ़ाने का एलान कर दिया है। अब 24 मई की सुबह 5:00 बजे तक पाबंदिया लागू रहेंगी। इस बार भी दिल्ली में मेट्रो नहीं चलेगी। मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने इसकी घोषणा की है।

दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में लॉकडाउन एक हफ्ते के लिए बढ़ाया जा रहा है। अगले सोमवार सुबह 5 बजे तक के लिए लॉकडाउन बढ़ाया जा रहा है। केजरीवाल ने कहा कि पिछले 24 घंटे में कोरोना के लगभग 6,500 मामले आए हैं। पॉजिटिविटी रेट 1 फीसदी और कम होकर 10 प्रतिशत के करीब आ गई है। आपको बता दें कि दिल्ली में 17 की सुबह पांच बजे लॉकडाउन की पाबंदियां खत्म हो रहीं थीं। उससे पहले ही रविवार को दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने एक सप्ताह के लिए लॉकडाउन बढ़ाने के निर्देश जारी कर दिए।

केजरीवाल ने कहा कि दिल्ली में लॉकडाउन का अच्छा असर देखा जा रहा है। 26 अप्रैल के बाद से नए मामलों में कमी दर्ज की गई है। पिछले तीन दिन में संक्रमण की दर में भी गिरावट दर्ज की गई है। मुख्यमंत्री ने कहा कि लॉकडाउन का इस्तेमाल हेल्थ इन्फ्रास्ट्रक्चर और संसाधन को मजबूत करने के लिए किया गया है। उम्मीद है कि अगले एक हफ्ते में ज्यादा रिकवरी होगी। पाबंदियां पहले जैसे ही रहेंगी।

दिल्ली में इस बार भी सार्वजनिक आयोजन स्थलों पर शादियां नहीं होंगी। सिर्फ बीस लोगों के साथ घर पर ही शादियां होंगी। इस बीच आवश्यक वस्तुओं से जुड़े लोगों को घर से बाहर निकलने की अनुमति होगी। इससे पहले रविवार को सीएम केजरीवाल ने ट्वीट कर कहा था कि कोरोना ने कहर ढाया हुआ है। लोग बहुत दुःखी हैं। ये वक्त एक दूसरे पर उंगली उठाने का नहीं, बल्कि एक दूसरे को सहारा देने का है। मेरी ‘आप’ के हर कार्यकर्ता से अपील है कि वे जहां भी हैं, अपने आस-पास के लोगों की तन, मन, धन से भरपूर मदद करें। इस वक्त यही सच्ची देशभक्ति है, यही धर्म है।

Next Post

कोरोना के बाद स्वाद और सूंघने की क्षमता कितने दिन में आ जाती है वापस? जानें

Sun May 16 , 2021
नई दिल्‍ली। पिछले एक हफ्ते से कोरोना संक्रमण के दैनिक मामलों में लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है, लेकिन मौतों के आंकड़े अभी भी ज्यादा ही हैं। बीते 24 घंटे में देश में कोरोना के तीन लाख से अधिक मामले सामने आए हैं, लेकिन इस दौरान चार हजार से अधिक लोगों ने अपनी जान […]